संकिसा का विकास चाहिए तो विवाद हटायें

0

JNI NEWS : 04-10-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, जिला प्रशासन, धार्मिक

फर्रुखाबाद:(मेरापुर) संकिसा में आयोजित बौद्ध महोत्सव में पहले दिन शांति प्रिय तरीके से निपट गया| वही मंच से भी वक्ताओ ने कहा की यदि सभी संकिसा का विकास चाहते है तो विवाद को समाप्त करना होगा| जिससे पूरे विश्व में संकिसा सुर्खियों में रहे|

दोपहर लगभग 12 बजे अमृतपुर विधायक सुशील शाक्य ने धम्मा लोको बुद्ध बिहार स्थित पंडाल में भगवान बुद्ध की प्रतिमा के सामने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया| उन्होंने कहा कि संकिसा में कई दशको ने बुद्ध को मानने वाले आ रहे है| लेकिन यंहा का विकास रुका पड़ा है| उन्होंने कहा की संकिसा में बुद्ध के साथ ही साथ बिसारी देवी का भी मन्दिर बनाना चाहिए| उन्होंने कहा की अपनी विधायक निधि से संकिसा स्तूप में रोशनी के लिये 90 सोलर लाइट मंजूर करा दी है| अलगे महोत्सव के दौरान संकिसा में अँधेरा नही रहेगा|

उन्होंने साफ़ कहा कि यदि संकिसा में विकास कराना है तो विवाद को दूर करना होगा | यदि अभी भूमि 5 लाख रूपये में बीघा वितरित हो रही है तो विकास होने पर 5 लाख डिसमिल में बिक्री होगी| किसानो की जमीन की कीमते बढ़ जायेगी| अपने कार्यक्रम से काफी विलम्ब से पंहुचे मंत्री एसपी सिंह बघेल ने कहा कि यदि श्रीराम के बाद किसी ने शासन किया है तो वह मौर्य वंश ने किया है| भगवान बुद्ध धरती पर दशवें अवतार थे| उन्होंने कहा कि संकिसा के अमृत का पान पूरा विश्व कर रहा है| जिलाधिकारी मोनिका रानी ने मौके पर जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया| उन्होंने कहा कि शाक्य व पाल बिरादरी में भले ही रोटी-बेटी का संबंध नहीं है, लेकिन दोनों जातियां राजनैतिक निर्णय साथ लेती हैं। बसपा मुखिया मायावती को उखाड़ फेंकने में स्वामी प्रसाद मौर्या व एसपी सिंह बघेल का बहुत हाथ रहा है।

कर्मवीर शाक्य, रघुवीर शाक्य, रामौतार शाक्य, डॉ० प्रभात अवस्थी, नागेंद्र शाक्य, सुधीर शाक्य, भिक्षु चेतसिक बोधि, भंते आनंद नागसेन आदि रहे|

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-