हाथ धोने के तरीके तक नही बता सके स्वास्थ्य कर्मी

0

फर्रुखाबाद:जंहा देश के पीएम मोदी व सूबे के सीएम सफाई को लेकर खासे चिंतित है | वही लोहिया अस्पताल में साफ़-सफाई का निरीक्षण करने आयी लखनऊ की एनएचएम की टीम को लोहिया अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मी हाथ धोने के तरीके तक नही बता सके| जिससे टीम के सदस्य खफा हो गये| वही उन्होंने साफ सफाई के कड़े निर्देश जारी किये| इसके साथ अस्पताल में जगह-जगह ओपन बायरिग होने पर भी आपत्ति की गयी|
लोहिया अस्पताल के इमरजेंसी कक्ष में सबसे पहले टीम पंहुची|| जंहा टीम के सदस्यों ने औजारों की साफ सफाई के साथ ही साथ दवा के रख रखाब के विषय में जानकारी की| उन्होंने निरीक्षन के दौरान इमरजेंसी वार्ड के निकट गंदी चादरे पड़ी होने पर आपत्ति की| वहां लगा वाटर कूलर देखा| इसके बाद टीम के डॉ० पालीवाल व कमल मिश्रा अपने साथियों के साथ ओपीडी की तरफ गये| जंहा उन्होंने फायर सिलेंडर शौचालय के निकट न लगाने की जगह ओपीडी हाल में लगाने के निर्देश दिये| इसके बाद जांच टीम एंटीरेबीज कक्ष में गयी जंहा उन्होंने डियूटी पर तैनात महिला फार्मासिस्ट उमा कटियार से हाथ धोने के तरीके के विषय में पूंछा लेकिन वह कोई उत्तर नही दे सकी| इसके बाद मौके पर मौजूद स्टाप नर्स बीके लाल ने हाथ धोने के तरीके टीम को बताये| इसके बाद वह ओपीडी हाल में पंहुचे| जंहा खुले तारों को देखकर आपत्ति की| टीम के सदस्य डॉ० पालीवाल दंत सर्जन डॉ० श्रेय खंडूजा के कक्ष व उनका आपरेशन कक्ष देखा | मौके पर मौजूद डॉ० श्रेय की सहायक माधवी भी उन्हें हाथ धोने के तरीके नही बता सकी| माधबी ने कहा उसे कभी यह सिखाया ही नही गया|
डॉ० पालीवाल ने बताया कि यदि इंसान हाथ ठीक से धोने की आदत डाल ले तो लगभग 90 प्रतिशत बीमारियों से बच सकता है| सीएमएस बीबी पुष्कर मौजूद रहे |

Comments are closed.