Featured Posts

राममंदिर मामले में अब शिवपाल सीएम के बयान से सहमतराममंदिर मामले में अब शिवपाल सीएम के बयान से सहमत फर्रुखाबाद: समाजवादी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव गुरुवार को यूपी के सीमें योगी आदित्य नाथ के राममंदिर पर दिये गये वयान से सहमत दिखे| उन्होंने कहा की यदि समझौता नही तो कोर्ट का आदेश ही विकल्प है| समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष विश्वास गुप्ता...

Read more

हाई-वे पर जाम में फंसा रहा पूर्व मंत्री शिवपाल का काफिलाहाई-वे पर जाम में फंसा रहा पूर्व मंत्री शिवपाल का काफिला फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) सत्ता की शक्ति से कौन अंजान है और खास कर वो तो बिल्कुल भी नही जो सत्ता का सुख एक लम्बे समय तक ले चुका हो| लेकिन कुर्सी पर ना रहने के बाद नेता को सड़क पर चलना मुश्किल हो जाता है| यही नजारा देखने को मिला जब शिवपाल सिंह का काफिला लगभग 20 मिनट तक जाम की झाम में...

Read more

बसपा प्रत्याशी वत्सला को महान दल का समर्थनबसपा प्रत्याशी वत्सला को महान दल का समर्थन फर्रूखाबाद: नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिये बहुजन समाज पार्टी की प्रत्याशी वत्सला अग्रवाल को महान दल ने अपना समर्थन दे तेजी से चुनाव लड़ाने का ऐलान किया है |जिससे वत्सला के खेमे में मजबूती आ गयी है| महान दल के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने रेलवे रोड स्थित बसपा प्रत्याशी के चुनाव...

Read more

नही खुला विशाल की मौत का राज, आखिर कैसे हुई मौत?नही खुला विशाल की मौत का राज, आखिर कैसे हुई मौत? फर्रुखाबाद: बीती रात बाइक चोरी के आरोप में पकड़े गये आरोपी की मौत का राज फ़िलहाल पोस्टमार्टम में भी नही खुल सका| जिससे उसकी मौत की गुत्थी उलझ गयी है| वही पुलिस मामले की जाँच कर रही है| थाना राजेपुर के बमियारी रामपुर निवासी विशाल पाठक पुत्र चन्द्रमोहन पाठक उर्फ़ रामू को बाइक...

Read more

योगी की पुलिस से परेशान महिलाओं ने पकड़े मंत्री के पैरयोगी की पुलिस से परेशान महिलाओं ने पकड़े मंत्री के पैर फर्रुखाबाद: बीते दिनों शराब ठेके पर पुलिस व ग्रामीणों के साथ हुई हिंसक झड़प के बाद पुलिस ने कई को आरोपी बनाया था| जिसको पकड़ने के लिये पुलिस लगातार हाथ-पैर मार रही है |जिस पर अब राजनितिक रंग चढ़ गया है| पुलिस के खौफ से खफा महिलाओ ने राज्य मंत्री के पैर पकड़कर न्याय की मांग की है|...

Read more

चुनावी बिसात पर हर रोज बदलती सियासी चालचुनावी बिसात पर हर रोज बदलती सियासी चाल फर्रुखाबाद:चुनावी रण का धीरे-धीरे रुख बदल रहा है और सियासी लोगों की रणनीति भी। नुक्कड़ सभाओं और जनसम्पर्क के साथ-साथ अब दूसरा दौर शुरू हो गया है। सियासी बिसात पर पल-पल की खुफिया निगरानी के बाद शतरंजी चालें चली जा रही हैं। कोई पूरे पालिका व नगर पंचायत क्षेत्र में मोहल्ले-मोहल्ले...

Read more

अध्यक्ष पद के आधा दर्जन नामांकन वापसअध्यक्ष पद के आधा दर्जन नामांकन वापस फर्रुखाबाद: शुक्रवार को नामांकन के वापसी के दौरान फर्रुखाबाद, मोहम्मदाबाद व कमालगंज के कुल आधा दर्जन प्रत्याशियों ने अपना नामांकन वापस कर लिया| फर्रुखाबाद नगर पालिका से निर्दलीय प्रत्याशी सुधांशु दत्त द्विवेदी, कपड़ा व्यापारी किशन कन्हैया सक्सेन व आभा सिंह ने अपना...

Read more

खास खबर: शर्तो के साथ सुधांशु दत्त का पर्चा वापसखास खबर: शर्तो के साथ सुधांशु दत्त का पर्चा वापस फर्रुखाबाद: बीजेपी से सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी के बड़े चचेरे भाई पूर्व सभासद सुधांशु दत्त द्विएवेदी ने अपना पर्चा आखिर कुछ शर्तो के साथ वापस ले लिया| शहर के किंराना बाजार स्थित राजन अवस्थी के प्रतिष्ठान पर जिला प्रभारी श्रीकान्त पाठक के साथ सुधाशुं दत्त की...

Read more

सभासद पद के 16 के नामांकन वापससभासद पद के 16 के नामांकन वापस फर्रुखाबाद: नगरिया निकाय चुनाव में फर्रुखाबाद, कमालगंज व मोहम्मदाबाद में से सर्वाधिक सदस्यों ने फर्रुखाबाद के वार्डो से पर्चा वापस कर लिया| जिससे कई प्रत्याशियों के समीकरण बने तो कई का सियासी गणित बिगड़ गया| फर्रुखाबाद नगर पालिका में वार्ड 28 से आरती, वार्ड 31 से नजरीन, वार्ड...

Read more

फ़्लैश बैक: काला धन खपाने के लिए एक डॉक्टर ने खरीदे थे 13 एसी, 5 एलईडी और ....फ़्लैश बैक: काला धन खपाने के लिए एक डॉक्टर ने खरीदे थे 13 एसी, 5... फर्रुखाबाद: नोटबंदी का एक साल पूरा हुआ, कहीं जश्न मना तो किसी के जख्म हरे हुए| 8 नवम्बर 2016 वो दिन है जो इतिहास बन गया| रात 8 बजे उस दिन दफ्तर में सामान्य कार्य में लगा था कि 5 मिनट बाद ही जूनियर ने फोन पर बताया कि 500 का नोट बंद हो गया| किसी बात को एक बार में ही न मानने की आदत पत्रकार...

Read more

Addressing Weaknesses and Talents for a Nurse Meeting

Comments Off on Addressing Weaknesses and Talents for a Nurse Meeting

Posted on : 14-09-2017 | By : JNI-Desk | In : uncategorized

He knows not just the writers but similarly the a quantity of other writers who’ve almost any bias. These documents aren’t confined to a certain nation or region. This won’t must be in an official essay kind or perfect sentences. There exists a pack of matters, away of which the students may pick an interest, in accordance with their ease, after which they’re required to generate a thorough report about the topic. Whenever you’re creating your research paper’s opening, you must be building it around a certain outline that provides a total overview of the paper. I like that this kind of paper gives students such a collection of research tools. The students should carry out a suitable study to enable you to present a wide perspective about the theme. A Socratic technique needs to be used to direct newcomers to ask questions to obtain their answers. Students commonly require guidance speech writing tips in studying.

She shows berlin, farmington england.

Don’t earn a overview of the entire custom composition. A readers of the brief article could perhaps be confused when the introductory component of the page included’crime decrease’ among the instructional value to nations. Due to the fact they’ve split focus, they don’t have sufficient time to study their publications correctly. Although there are numerous benefits to modern instruction, in inclusion, it’s crucial to take a good look at possible disadvantages to it. So be certain to check the intro and the remainder of the document before publishing the last duplicate. Obtaining feedback on assignments is a significant part of university. The social media site Ning, for instance has an array of group websites arranged around teaching a certain area, like English literature or significant school biology.

Contemplate being not dishonest with your lecturer.

General Understanding is a critical area of teaching. Yet many community universities don’t regularly follow this proportion recommendation. This quotation might be put on education. My students furthermore attempt to interview some one included within the firm and execute a site visit in the function the business has a division in your township. The increase of modern education is a fantastic way to begin A huge drawback is the fact that many institutions aren’t prepared to implement modern education in their own sessions. Instruction isn’t the really same thing as schooling, which, really, very little of our instruction happens within the school. Modern instruction, though, cannot really be everything to all or any or some individuals. The author wanted to fight for instruction.

Advertising check other folks’s techniques of work.

Tv is an excellent educator additionally. The teacher’s function, thus, was to eventually become a guide as opposed to lecturer. Teacher quality is maybe the most crucial element in pupil success. Pedagogy isn’t merely the book studying the child must have. College education is effortlessly the most crucial period of existence. The principal targets of teaching must be enabling learners to obtain understanding and ethical principles. In addition, the SATs aren’t too difficult and are not centered right on the essential college curricula covering several topic matter.

Since 1922, uk’s official name is united kingdom of britain and northern area.

If pedagogy is a thing that is correlated with obtaining knowledge for greater prospectus, then I really don’t favor it. This could be done by incorporating reading and mathematics in to each subject taught within the classroom to ensure that kids within the classroom obtain a well rounded system of seeing how these skills match the whole of life. He was fascinated within the point of light of the author as opposed to the plots. Ending through your dissertation thought.

आधार फीडिंग का कार्य जल्द पूर्ण करने के निर्देश

Comments Off on आधार फीडिंग का कार्य जल्द पूर्ण करने के निर्देश

Posted on : 14-09-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में डीएम मोनिका रानी ने फसली ऋण मोचन व बैंकों द्वारा आधार फीडिंग के कार्य की समीक्षा की। उन्होंने बैंको के शाखा प्रबंधकों को आधार कार्ड फीडिंग जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए|
डीएम शासन की योजनाओ को गति देने का पूरा प्रयास कर रही है | इसके चलते उन्होंने बैंक प्रबंधको की बैठक ली| उन्होंने कहा कि जिस बैंक में आधार कार्ड फीडिंग का कार्य लंबित है, वह सभी किसानों से संपर्क कर फीडिंग कार्य शुक्रवार शाम तक पूर्ण करालें| कई बैंक प्रबंधकों ने बताया कि कुछ किसान जनपद से बाहर चले गये हैं व कुछ के पास आधार कार्ड उपलब्ध नहीं हैं। इस पर डीएम ने निर्देश दिये कि जो कृषक जिले से बाहर गये हैं, उन कृषकों का आधार उनके परिवार द्वारा प्राप्त कर फीडिंग पूर्ण करे। मृत कृषकों के वारिसान की औपचारिकताएं भी शाखा प्रबंधक स्वयं पूरी कराएं। किसी भी तरह की लापरवाही करने वालो के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी|
सीडीओ अविनाश कुमार ने कहा कि अगर एक आधार का दो अलग-अलग व्यक्तियों ने प्रयोग किया है,और उसकी बैंक में फीडिंग हो चुकी है तो उसे तत्काल निरस्त किया जाये। बैठक में जिला कृषि अधिकारी डा.आरके सिंह व अग्रणी जिला प्रबंधक एनआर चौधरी भी उपस्थित रहे।

पत्नी का जेबर जुआ में हारने पर मिस्त्री ने चुनी मौत.

Comments Off on पत्नी का जेबर जुआ में हारने पर मिस्त्री ने चुनी मौत.

Posted on : 14-09-2017 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(मेरापुर/कायमगंज) थाना क्षेत्र के अचरा निवासी साइकिल मिस्त्री जुआ में अपनी पत्नी का जेबरात हार गया तो उसने ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी | परिजन सूचना मिलने पर घटना स्थल पंहुचे|

साइकिल मिस्त्री 25 वर्षीय नीलेश सक्सेना पुत्र जबर सिंह सक्सेना जुआ खेलने का आदी था| वह अचरा में साइकिल पंचर की दुकान खोले था| जुआ की लत इस कदर बढ़ गयी की वह अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिये तैयार हो गया| यंहा तक की वह जुआ में अपनी पत्नी के जेबरात भी वह हार गया| सूत्रों की माने तो वह आर्थिक तंगी का शिकार भी था| हतास नीलेश ने गुरुवार को पितौरा रेलवे क्रासिंग से करीब रेलवे ट्रेक पर कानपुर-कासगंज एक्सप्रेस ट्रेन के सामने कूदकर जान दे दी। ट्रेन गार्ड ने शव ट्रेन में रखकर कायमगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर छोड़ दिया।

जीआरपी ने शव की तलाशी ली तो उसके पास एक आधार कार्ड मिला जिससे उसकी शिनाख्त राम अचरा तकीपुर निवासी नितेश (23) पुत्र जबर सिंह के रूप में हुई| पुलिस ने मिस्त्री के गाँव सूचना भेजी| कोतवाली पुलिस के दरोगा विजेंद्र पाल सिंह ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए सील कर दिया|

दुकान में घुसकर बीजेपी नेता के समर्थक को धमकी

Comments Off on दुकान में घुसकर बीजेपी नेता के समर्थक को धमकी

Posted on : 14-09-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: बीजेपी नेता के समर्थक सूज व्यापारी के साथ मोहल्ले के ही कुछ दबंग युवको ने दुकान पर आकर गाली-गलौज कर दिया और फरार हो गये| दुकानदार ने बीजेपी नेता के फोन करने पर पुलिस बल मौके पर पंहुचा|

शहर कोतवाली के लाल सराय के निकट सूज व्यापारी राजू गुप्ता की दुकान व उसके ऊपर मकान है| उनका दुकान के निकट रहने वाले कुछ युवको से पुराना विवाद चल रहा है| इसी विवाद के चलते सपा शासन काल में दोनों पक्षों की तरफ से मुकदमा भी दर्ज हुआ था| तबसे दोनों पक्षों में छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है| सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीते लगभग एक सप्ताह पूर्व राजू गुप्ता की दुकान के निकट पुलिस ने कुछ जुआरियों को पकड़ा था| जिस पर पुलिस को सूचना देने का आरोप उन्होंने राजू गुप्ता पर लगा दिया|

गुरुवार को शाम को लगभग आधा दर्जन लोग राजू गुप्ता की दुकान के निकट सब्जी विक्रेता से विवाद कर रहे थे| तभी राजू का पुत्र प्रियांशु गुप्ता भी पंहुच गया| जिस पर आरोपी प्रियांशु से विवाद करने लगे| आरोपियों ने गाली-गलौज शुरू कर दिया | प्रियांशु ने इसकी सूचना अपने पिता राजू को दी| कुछ देर बाद राजू भी दुकान पर आ गये| राजू ने बताया कि आरोपी दुकान के भीतर दाखिल हो गये थे | उन्होंने दुकान में घुसकर गाली-गलौज किया और जान से मारने की धमकी दी|

वही विवाद की सूचना पर राजू ने बीजेपी नेता को फोन कर दिया | बीजेपी नेता के फोन करने पर सीओ सिटी शरद चन्द्र शर्मा, एसएसआई श्रीकान्त यादव, कादरी गेट चौकी इंचार्ज अंगद सिंह, आवास विकास चौकी इंचार्ज बनी सिंह, घुमना चौकी इंचार्ज दिनेश कुमार फ़ोर्स के साथ मौके पर आ गये| उन्होंने आरोपियों के घर दबिश दी लेकिन आरोपी फरार हो गये|
सीओ सिटी ने बताया की तहरीर मिलने पर कार्यवाही की जायेगी| आरोपी फरार हो गये| तलाश की जा रही है|

शरीर को सत्कर्माें व ईश्वरीय साधना में लगाओ

Comments Off on शरीर को सत्कर्माें व ईश्वरीय साधना में लगाओ

Posted on : 14-09-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद: मानस सम्मेलन के दूसरे दिन मानव विद्वानों ने कहा कि बड़े भाग्य से हमें यह मानव शरीर मिला है। हमें इस शरीर को सत्कर्माें व ईश्वरीय साधना में लगाना चाहिए तभी यह मानव जीवन सफल होगा।

मोहल्ला अढ़तियान स्थित र्मिचीलाल के फाटक में संयोजक डाॅ०रामबाबू पाठक के सानिध्य में चल रहे मानस सम्मेलन में औरैया से आये नेत्रहीन मानस विद्वान स्वामी प्रेमदास ने कहा कि हमें संतों का सत्संग करना चाहिए। हम कितना भी छिपकर कर्म करें उसका फल तो हमें मिलना ही है। अच्छा कर्म करेंगे अच्छा फल मिलेगा, बुरा कर्म करेंगे बुरा फल मिलेगा। उन्होने कहा कि बड़े भाग्य से हमें यह मानव शरीर मिला है अतः हमें अपना ध्यान ईश्वरीय साधना व सत्कर्म मंे लगाना चाहिए। उन्होने एक भजन प्रस्तुत किया ‘‘ जीवन की गाड़ी चली जा रही है, उतरने की मंजिल करीब आ रही है‘‘।

झांसी से आये मानस मर्मज्ञ अरूण गोस्वामी ने भगबान श्रीराम के जन्म की कथा बताते हुए कहा कि श्रष्टि का अवतार मनु व सतरूपा से माना जाता है। जिन्हें ब्रह्मजी ने उत्पन्न किया था। मनु-सतरूपा ने भगबान विष्णु की सैकड़ों वर्ष तक तपस्या की। भगबान के प्रसन्न होने पर दोनों ने बर मांगा कि अगले जन्म मंे मेरे पुत्र के रुप में जन्म लें। राजा दशरथ व माता कौशल्या के यहां विष्णु अवतार श्रीराम ने जन्म लिया, और मनु सतरुपा को दिये गये वरदान को चरितार्थ किया। कानपुर से आये मानस मनोहर आलोक मिश्रा ने ‘‘माण्डवी, श्रुतिकीरति, उर्मिला कुंअरि लई हंकारि के‘‘ प्रसंग की व्याख्या करते हुए कहा कि जब भगबान श्रीराम का विवाह सीता के साथ निश्चित हो गया तो उन्हें राजा दशरथ ने बारात ले जाने के लिए निमन्त्रण पत्र कौशल्या, सुमित्रा व कैकई के मायके बालों को भेजे। समस्त अयोध्या की जनता और 33 करोड़ देवताओं को भी श्रीराम की बारात में जाने का निमन्त्रण भेजा गया।

कई करोड़ की बाराता अयोध्या से 1 दर्जन नदियां पार करके जनकपुर पहुंची। कई करोड़ की बाराता को देखकर राजा जनक परेशान हो गये। पिता को परेशान देखकर सीता की आंखों से दो आंसू टपके उससे रिद्धी-सिद्धी उत्पन्न हुई। सीता ने दोनो से बाराता के खाने-पीने का प्रबंध करने की आज्ञा दी। रिद्धी-सिद्धी ने कई करोड़ बारातियों को भोजन कराया। तब बारात का प्रबंध हो सका।

संचालन पं0 रामेन्द्र नाथ मिश्र व बीके सिंह तथा तबले पर संगत नन्द किशोर पाठक ने दी। इस दौरान अशोक रस्तोगी, रामवरन दीक्षित, रमाकान्त, अरूण प्रकाश तिवारी, अजय कृष्ण गुप्ता, दिवाकर लाल अग्निहोत्री, राधेश्याम गर्ग, सुजीत पाठक बंटू, अपूर्व पाठक, मधु गौड़, रजनी लौंगानी, महेश शुक्ला, नरेन्द्र गुप्ता, आलोक गौड़ तथा छबिनाथ सिंह सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

[bannergarden id="12"]