Featured Posts

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रामाटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर...

Read more

राम रहीम पर दिए बयान से पलटे भाजपा सांसद साक्षी महाराज, अब ये कह डाला…

Comments Off on राम रहीम पर दिए बयान से पलटे भाजपा सांसद साक्षी महाराज, अब ये कह डाला…

ऋषिकेश, हरिद्वार : भाजपा के फायर ब्रांड नेता और सांसद साक्षी महाराज ने गुरमीत राम रहीम पर दिए बयान पर सफाई दी है। उन्होंने अपने पुराने बयान से पलटते हुए बलात्कार के दोषी गुरमीत राम रहीम के खिलाफ बहुत कुछ कह डाला।

कहा कि जो संत है वो पाखंडी नहीं है। रामपाल, आशाराम और गुरमीत राम रहीम कभी संत नहीं थे। ऋषिकेश में पत्रकारों से बातचीत में सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि गुरमीत राम रहीम का उन्होंने कभी समर्थन नहीं किया। उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया। न्यायालय के फैसले का वह स्वागत करते हैं। राम रहीम के लोगों की वजह से 48 लोगों की जान गई है और करोड़ों की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। राम रहीम को चाहिए था कि वह अपने अनुयायियों को हिंसा करने से रोकते।
चीन सीमा मामले में भारत की बड़ी जीत
इसके बाद हरिद्वार कनखल पहुंचने पर उन्होंने श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा में पत्रकारों से बातचीत की। कहा कि भारत बुद्ध और गांधी की धरती है। संतों और सूफियों की धरती है। और भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। दुर्भाग्य से कुछ लोग अपने निहित स्वार्थो के लिए लोकतंत्र की गलत परिभाषा कर लेते हैं। और ये लोग अपनी मनमानी करते हैं। और उसे लोकतंत्र की एक व्यवस्था समझ लेते हैं। चीन और भारत के बीच दोकलाम के मुद्दे पर बोलते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि चीन तो बिना युद्ध के ही पीछे चला गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देशवासियों को धन्यवाद करना चाहिए। मोदी सरकार की तारीफ करते हुए बोले कि 2019 में फिर केंद्र में बहुमत से सरकार बनेगी। उनके कार्यकाल में विश्वस्तर पर भारत की अलग पहचान बन रही है। उत्तराखंड सरकार के कार्यों को भी सांसद साक्षी महाराज ने सराहा। बोले छह माह में किसी सरकार के कामकाज की तुलना नहीं की जा सकती। बुधवार सुबह साक्षी महाराज स्वामी अक्षवानंद की कुशलक्षेम लेने ऋषिकेश स्थित भगवान आश्रम पहुंचे थे।

दो बा विधालय की बार्डनों को नोटिस जारी

Comments Off on दो बा विधालय की बार्डनों को नोटिस जारी

फर्रुखाबाद: बीएसए अनिल कुमार ने बुधवार को विकास खंड शमसाबाद व कायमगंज के कस्तूरबा गाँधी विधालयों का निरिक्षण किया| जिसमे घोर कमियां मिलने पर उन्होंने दोनों को नोटिस जारी किया है|

शमसाबाद बा विधालय में बीएसए को बच्चो के बैठने की व्यवस्था दूरुस्त नही मिली| साफ-सफाई भी संतोष जनक नही मिली| शैक्षिक गुणबत्ता भी उचित नही थी| उन्होंने विधालय के खेल शिक्षिक ने जानकारी ली की वह बच्चो को कहा खिलाते है तो उसने कह दिया की मैंदान में जबकि मैदान में बड़ी-बड़ी घास खड़ी देख बीएसए आग-बबूला हो गये |उन्होंने शिक्षक की जमकर फटकार के साथ ही बार्डन भावना मिश्रा को भी कड़ी फटकर लगायी|

वही कायमगंज के कस्तूरबा गांधी विधालय में बच्चो की यूनिफार्म नही थी| जिसे उन्होंने दो दिन में यूनिफार्म वितरित करने के निर्देश दिये |यंहा भी व्यवस्था दुरुस्त नही मिली| दोनों विधालयों को नोटिस जारी किया है| बीएसए ने बताया कि शुक्रवार को दोनों विधालयों को नोटिस भेज दिया जायेगा| शुक्रवार को ही जिले के सभी कस्तूरबा गाँधी विधालयों के कर्मियों की बैठक बुलाई है| जिसमे सभी को दिशा निर्देश जारी किये जायेगे|

दो शिक्षकों के निलंबन के साथ 28 पर कार्यवाही

Comments Off on दो शिक्षकों के निलंबन के साथ 28 पर कार्यवाही

Posted on : 30-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: जुलाई माह की निरिक्षण आख्या के आधार पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने दो शिक्षको को सस्पेंड करने के साथ ही साथ कुल 28 पर कार्यवाही की गयी है|

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अनिल कुमार ने प्राथमिक विधालय जानकीपुर के शिक्षक फिरोज व प्राथमिक विधालय बीबीपुर के शिक्षक देवेश कुमार को निरीक्षण आख्या के आधार पर सस्पेंड कर दिया गया है| वही 9 शिक्षको का वेतन रोकने की कार्यवाही की गयी है| इसके साथ ही साथ 11 शिक्षकों को चेतावनी नोटिस जारी किया गया है | तीन शिक्षको को प्रतिकुल प्रविष्टि दी गयी है | कुल मिलाकर 28 शिक्षक पर बीएसए ने विभागीय चाकू चलाया है|

लाश की तलाश में 6 फिट गहरा गड्डा खोदा, निकला काला जादू

Comments Off on लाश की तलाश में 6 फिट गहरा गड्डा खोदा, निकला काला जादू

Posted on : 30-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(क्मालगंज) थाना क्षेत्र के ग्राम दौलतपुर में दो दिन से गायब युवक की लाश दफन होने के शक में पुलिस ने 6 फीट गहरा गड्डा खुद्बाया लेकिन उसमे युवक की जगह कालू जादू किये हुये नीबू -मिर्च निकले|

बीते 28 अगस्त को सुबह ग्राम शिलार चौरा निवासी 25 वर्षीय अवनीश पुत्र सियाराम दौड़ने की कहकर घर से निकला और फिर घर नही लौटा| जिसके बाद परिजनों ने उसी दिन थाने में उसकी सूचना दर्ज करा दी | पुलिस उसका आने का इंतजार कर रही थी| तभी बुधवार को उसके परिजनों को किसी ने सूचना दी की ग्राम दौलतपुर के निकट मोहन चौरिसिया के खेत में अबनीश की लाश दफन है|

परिजनों ने सूचना पुलिस को दी| सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष हरीओम प्रकाश त्रिपाठी फ़ोर्स के साथ मौके पर आ गये| उन्होंने जाँच के बाद नायब तहसीदार चुंडामणि को मौके पर बुला लिया| उनके सामने मजदूरों ने 6 फीट गहरा गड्डा खोदा लेकिन उसमे कुछ भी नही निकला| केबल 6 फीट नीचे कुछ नीबू,पुड़ी, पान, हरी गरी आदि निकला| जिसके बाद पुलिस बापस लौट गयी|

बकरीद के दिन क्यों दी जाती है बकरे की कुर्बानी?

Comments Off on बकरीद के दिन क्यों दी जाती है बकरे की कुर्बानी?

Posted on : 30-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद: इस्लाम धर्म में हर साल दो ईद मनाई जाती है। एक ‘ईद-उल-फितर’ और दसूरी ‘ईद-उल-जुहा’ यानी ‘बकरीद’। ईद-उल-फितर में लोग अपने घर में सिवाईयां बनाते हैं वहीं बकरीद पर मुस्लिम लोग बकरे की कुर्बानी देते हैं। बकरीद, ईद-उल-फितर के 70 दिन बाद आती है। बकरीद के दिन मुसलमान बकरे, भैंस या कहीं कहीं ऊट की भी कुर्बानी देते हैं। ज्यादातर लोग बकरीद पर बकरे की कुर्बानी ही देते हैं।

बकरीद से कुछ दिन पहले ही लोग बकरे को खरीदकर अपने घर ले आते हैं उसे पालते पोस्ते हैं और फिर बकरीद वाले दिन उसे जिबे यानी कुर्बान करते हैं। इस दिन लोग अपनी आय के मुताबिक जकात और फितरा भी करते हैं। इस्लाम में कहा गया है कि कोई भी त्योहार मनाते हुए यह ध्यान रखा जाना जरूरी है कि उनके पड़ोसी घर में भी उतनी ही खुशी के साथ त्योहार मन रहा हो।

इस्लाम के मुताबिक, अल्लाह ने हजरत इब्राहिम की परीक्षा लेने के लिए उन्हें अपनी सबसे प्यारी चीज की कुर्बानी देने का हुक्म दिया था. हजरत इब्राहिम को लगा कि उन्हें सबसे प्यारा तो उनका बेटा है इसलिए उन्होंने अपने बेटे की ही बलि देने का फैसला किया। हजरत इब्राहिम को लगा कि कुर्बानी देते समय उनकी भावनाएं आड़े आ सकती हैं, इसलिए उन्होंने अपनी आंखों पर पट्टी बांध ली थी। लेकिन जब कुर्बानी देने के बाद उन्होंने अपनी आंखों पर से पट्टी हटाई तो देखा कि उनका बेटा जिंदा है और उनके सामने जिंदा खड़ा है। उन्होंने देखा कि बेटे की जगह दुम्बा (साउदी में पाया जाने वाला भेंड़ जैसा जानवर) पड़ा हुआ था, तभी से इस मौके पर कुर्बानी देने की प्रथा है।

[bannergarden id="12"]