36 मौत, करोड़ों राख, फिर भी सुरक्षित है खट्टर की कुर्सी, भाजपा बोली- हटाने का मन नहीं

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्ली: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद हरियाणा में भड़की हिंसा से राज्य में मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार कठघरे में है। हालांकि पार्टी नेतृत्व ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पद से हटाने का मन नहीं बनाया है। दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में हरियाणा के हालात पर चर्चा के लिए पार्टी की बैठक हुई। इसमें हरियाणा के पार्टी प्रभारी अनिल जैन एवं अन्य नेताओं ने अमित शाह से मुलाकात की।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बारे में पूछे जाने पर पार्टी सूत्रों ने बताया, ‘‘न तो ऐसा कोई विचार किसी ने सामने रखा है और न ही कुछ तय हुआ है।’’ सूत्रों ने मनोहर लाल खट्टर के इस्तीफे से इनकार किया । यह भी कहा जा रहा है कि खट्टर को दिल्ली तलब नहीं किया गया है । उल्लेखनीय है कि गुरमीत राम रहीम को साध्वी से बलात्कार मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उसके समर्थकों ने हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली समेत दूसरे पड़ोसी राज्यों में भारी उत्पात मचाया है । अब तक 36 लोगों की जान जा चुकी है। पंजाब, हरियाणा हाईकोर्ट ने शुक्रवार एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान उत्पात से हुए नुकसान की भरपाई के लिए गुरमीत राम रहीम की संपत्ति बेचने का आदेश दिया था। शनिवार को इसी मामले में सुनवाई हुई।

राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार की हिंसा के लिए सीधे-सीधे तौर पर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर को जिम्मेवार ठहराया है। राम रहीम के समर्थकों द्वारा की गई हिंसा पर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब में किसी की मौत नहीं हुई और ना ही वहां किसी तरह के लाठीचार्ज और फायरिंग की जरूरत पड़ी। अमरिंदर ने कहा कि वह किसी भी तरह की हिंसा का समर्थन नहीं करते। पंचकुला का जिक्र करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार को वहां लोगों को एकत्रित होने ही नहीं देना चाहिए था। कांग्रेस के दूसरे नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने खट्टर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी।

मंडी समिति के अफसर को पिकअप चालक ने पीटा

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(कंपिल) पिकअप के कागज दिखाने के विवाद में चालक ने मंडी समिति के एक अफसर को पीट दिया| अफसर ने पुलिस को सूचना नही दी| दोनों में समझौता हो गया |

शनिवार को मंडी समिति के एक अफसर ने मूंगफली लदी एक पिकअप को रोंककर उसके कागजात चेक किये| इसी कागजात दिखाने को लेकर दोनों में विवाद हो गया| आक्रोशित चालक ने अफसर को पीट दिया | घटना की सूचना अफसर ने डायल 100 को दी| पुलिस पिकअप को थाने ले आयी| लेकिन बाद में दोनों में सुलाह करा दी गयी| बताया गया की अफसर से चालक का पहले भी विवाद हो चुका है |

आंगनवाड़ी कार्यकत्री व सहायिकाओं ने मुख्यालय घेरा

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रूखाबाद: आंगनवाड़ी कार्यकत्री सहायता संघ ने अपनी मांगों को लेकर मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। मांगे माने ना जाने पर आगे की रणनीति बनायेजाने की मांग की|

प्रदेश अध्यक्ष किरन वर्मा के आवाहन पर मानदेय बढ़ाने एवं मांगों का समाधान कराये जाने के लिए जिलाध्यक्ष प्रीती गुप्ता के नेतृत्व में जिला मुख्यालय पहुंचकर आंगनवाड़ी कार्यकत्री व सहायिकाओं ने एडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी संबोधित ज्ञापन सौंपे गये| मांग पत्र में कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिकाओं को राज्य कर्मचारी घोषित किया जाये और जब तक राज्य कर्मचारी उन्हें घोषित नहीं किया जाता है, तो 35 हजार रूपये कार्यकत्रियों व सहायिकाओं को बीस हजार रूपये मानदेय दिया जाये।

आगंनवाड़ी केन्द्रों पर ग्रीष्मकालीन व शीतकालीन अवकाश प्रदान किया जाये। आंगनवाड़ी केन्द्रों के भवन का किराया सुनिश्चित एवं नियमित किया जाये। आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों व सहायिकाओं का पांच लाख का बीमा कराया जाये। उनकी मृत्यु होने के उपरांत उनके उत्तराधिकारी को बीमा राशि की धनराशि उपलब्ध करायी जाये। आंगनवाड़ी कार्यकत्री व सहायिकाओं का मानदेय प्रति वर्ष 25 प्रतिशत की वृद्धि की जाये आदि मांगांे को लेकर तीन दिवसीय धरना लखनऊ लक्ष्मण मेला मैदान में किया जा रहा है। आंगनवाड़ियों ने घोषणा कि अगर उनकी मांगें न मानी गयी तो अनिश्चित कालीन हड़ताल कर दी जायेगी। नीरज गंगवार, कमलेश गंगवार, सुधा शाक्य, नीलू सिंह, मीरा अवस्थी, सुनीता, विनीता, सरोज कुमारी, नीरज, मंजू कटियार, रूप कुमारी आदि आंगनवाड़ी कार्यकत्री मौजूद रहीं।

इकबाल कायम करने को पुलिस का फ्लेग मार्च

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(कंपिल) बीते दिनों कोटेदार राधेश्याम की मौत के बाद अचानक बिगड़े कंपिल के हालत को पुलिस ने काबू कर लिया |शनिवार को अपना इकबाल बुलंद करने और अपराधियों में भी व्याप्त करने के लिये पुलिस ने फ्लेगमार्च निकाला|

थानाध्यक्ष ललित कुमार के नेतृत्व में फ़ोर्स ने नगर कंपिल के चौराहे, बाजार, गंगा रोड , कटिया रोड , और सिवारा रुदायन रोड पर फ्लैग मार्च निकाला कर जनता में पुलिस का विश्वास जगाने का प्रयास किया। पुलिस ने जगह-जगह लोगो को हिदायत भी दी और कहा कि पुलिस उनकी मदद के लिये है| लेकिन कानून तोड़ने वालो को छोड़ा नही जायेगा|

शाम को पुलिस को सड़को पर निकले देख अपराधी दुबक गये| थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस जनता की सेवा के लिये है| लेकिन अपराधी किसी भी कीमत पर सड़को पर नही होगे| पुलिस अब पूरी तरह सतर्क है |

बाढ़ जाने के बाद बांटी खाद्य सामिग्री

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(कंपिल) तहसील कायमगंज के कई गाँवो में तहसीलदार ने राहत व खाद्य सामिग्री बाढ पीड़ितो को दी तो उनके चेहरे ख़ुशी से खिल गये| उन्होंने बाढ़ पीड़ित परिवारों की हर सरकारी मदद करने का भरोसा दिया| वही ग्रामीणों ने कहा कि जिस समय बाढ थी उस समय कोई मदद नही मिली| लेकिन अब बाढ चली गयी अब जो वह बाजार से भी ला सकते है|

तहसीलदार गजेंद्र सिंह शनिवार को सुबह राहत सामिग्री वितरित करने के लिये गाँव पुन्थर दयामाफी , पथरामई में अपने सरकारी अमले के साथ पंहुचे| जंहा उन्होंने बाढ पीड़ितो को राहत सामिग्री में 10 किलो आटा,10 किलो चावल,10 किलो आलू , 5 किलो लइया,2 किलो चना भुने,2 किलो अरहर दाल,500 ग्राम नमक,250 ग्रामहल्दी, 250 ग्राम धनिया, 250 ग्राम मिर्च,1लीटर रिफाइंड तेल,10 पैकिट बिस्किट;1 पैकिट माचिस,1 पैकिट मोमबत्ती,10 टेबलेट क्लोरीन वितरित किया| पथरामई गांव में 163 ,पुन्थर दयामाफी में 225 लोगो को राहत सामग्री बितरण की गई।

लोगो ने यह भी कहा कि जब 1 माह पूर्व बाढ़ आई थी । उस समय सभी को आवश्यकता थी । अब जब बाढ़ का पानी निकल चुका है । अब तो हम लोग भी बाजार से राशन ला सकते है। रामभरोसे, राजाराम, रघुवीर, रामसिंह, श्याम सिंह, बाचाराम,प्रधान अबधेश सिंह आदि भी मौजूद रहे|

दो हजार बच्चो ने सामान्य ज्ञान परीक्षा से किया किनारा

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: शनिवार को पूरे जिले के 70 विधालयों से आये 8500 बच्चो ने बीजेपी की सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में हिस्सा लिया| वही 2004 बच्चो ने परीक्षा से किनारा कर लिया|

प० दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के तहत दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिया का आयोजन पूरे जिले के 69 विधालयो में किया गया| जिसमे प्रभारी के रूप में कानपुर बुन्देलखंड के क्षेत्रीय कार्यसमिति के सदस्य वीरसिंह भदौरिया मौजूद रहे| उन्होंने कहा कि यूपी सरकार का पहला लक्ष्य है कि शिक्षा के स्तर में सुधार हो| इसी के चलते यह प्रतियोगिता आयोजित की गयी है| वही जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा कि पुत्र जनपद में 10504 बच्चो ने अपना आवेदन परीक्षा के लिये किया था| जिसमे से 8500 बच्चो ने ही सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में हिस्सा लिया| उन्होंने बताया कि परीक्षा में पास होने वाले बच्चों को पार्टी द्वारा सम्मानित किया जायेगा| वही कुल 2004 बच्चो ने परीक्षा से किनारा कर लिया|

प्रतियोगिता प्रभारी वीर सिंह भदौरिया व जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने विभिन्य परीक्षा सेंटरों का निरीक्षण भी किया|

चिलिंग सेन्टर से दूध के नमूने लिये

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(शमसाबाद) जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग ने मिल्क चिलिंग सेन्टर पर छापेमारी कर तीन दूध के नमूने लिये और उन्हें प्रयोगशाला भेज दिया |
खाद्य सुरक्षा अधिकारी रमेश चन्द्र के नेतृत्व में टीम लक्ष्मी दुग्ध चिलिंग सेंटर पंहुचे और दूध के दो नमूने लिये| नमूनों को सील कर लिया गया| वही भूमिका डेयरी चिलिंग सेंटर में भी पंहुची टीम ने दूध का एक नमूना लिया| रमेश चन्द्र ने बताया कि लिये गये दुग्ध के नमूनों को प्रयोगशाला भेजा जायेगा| जिसके बाद जाँच में पता चलेगा| जाँच में मिलावट मिलने पर कार्यवाही होगी|
टीम के साथ सुभाष तिवारी, विमल कुमार, सुभाष चद्र आदि मौजूद रहे|

स्मरण दिवस के रूप में मना डॉ० सरीन का जन्मदिवस

0

Posted on : 26-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद: जिले में प्रमुख चिकित्सक रहे स्वर्गीय बीएन सरीन का 71 वां जन्म दिन स्मरण दिवस के रूप में धूमधाम से मनाया गया| जिसमे सभी धर्म गुरुओ ने पंहुचकर प्रार्थना की| वही विशाल भंडारे का आयोजन भी किया गया|
शहर के लोहाई रोड स्थित सरीन नर्सिंग होम में स्मरण दिवस का आयोजन हुआ| जिसमे उनकी पत्नी डॉ० रजनी सरीन ने सभी धर्म गुरुओ के साथ प्रार्थना की| इसके साथ ही उनकी सामजिक सेवाओ व जीवन पर प्रकाश भी डाला गया| व्यापारी नेता अरुण प्रकाश तिवारी ददुआ ने कहा कि डॉ० सरीन का सपना था कि असहाय व गरीबों की सेवा की जाये\ उनका मुफ्त इलाज हो| डॉ० रजनी सरीन व उनके कर्मचारी स्वर्गीय सरीन के सपने को पूरा कर रहे है| वही भंडारे में सैकड़ो लोगो ने भोजन भी ग्रहण किया|
वही डॉ० रजनी सरीन ने गुरुकुल के सभी बच्चो का मेडिकल किया और उनको परामर्श के साथ ही साथ चिकित्सीय सुबिधा प्रदान की |बच्चो को फल भी वितरित किये गये | सांसद मुकेश राजपूत के साथ ही साथ गुरुबचन सिंह, पादरी कृपाल सिंह, पप्पन मिंयाँ,डॉ० सुबोध वर्मा, डॉ० वीके गुप्ता, कैलाश कटियार, हिमांशु गुप्ता, मीडिया प्रभारी उदय पाल आदि मौजूद रहे|

राजेपुर में प्रथम बार पधारे गणपति

0

फर्रुखाबाद: (राजेपुर) भगवान गणेश राजेपुर क्षेत्र में प्रथम बार पधारे है| जिससे क्षेत्र के श्रधालुओ में खासा उत्साह है| गणपति के बिराजमान होने से श्रद्धालु अपने को धन्य मान रहे है| सुबह शाम आरती व प्रसाद का ग्रहण कर भक्त अपने को धन्य मान रहे है| आयोजन समिति के सदस्यों का कहना है कि यही विघ्नहर्ता है जो क्षेत्र की जनता की सभी बाधाओ को दूर करेंगे|
बीते शुक्रवार को कमेटी के सदस्यों ने कस्बे के जनता मेडिकल स्टोर के निकट विघ्नहर्ता को बिराजमान किया गया है| जंहा एक सप्ताह तक गणपति की सेवा सत्कार किया जायेगा| कमेटी के सदस्य ज्ञानेंद्र सिंह प्रताप सिंह का कहना है कि गंगा पास क्षेत्र में भागवत, अखंड रामायण व अन्य धार्मिक अनुष्ठान होते है|लेकिन गणपति की स्थापना नही हो पा रही थी| पिछले वर्ष ही वीरेन्द्र उर्फ़ राहुल, आरजू, अभय, लल्ला आदि ने गणपति स्थापना की योजना बनायी और इस वर्ष उनकी स्थापना कर दी| उन्हें विश्वास है जब गणपति जायेगे तब वह अपने साथ ही साथ सभी के कष्ट भी ले जायेगे|
स्थापना स्थल पर प्रतिदिन शाम को 9 बजे आरती होने के बाद भजन कीर्तन का आयोजन होगा| जो तकरीबन एक घंटे तक चलेगा| 1 सितम्बर को जागरण का आयोजन भी किया गया है| वही 3 सितम्बर को 51 किलो के मोदक का भोग लगाकर उन्हें भू-विसर्जन किया जायेगा|

राम रहीम के डेरे से मिला AK-47 और विस्फोटक, ट्रेनिंग में यूज होते थे हथियार?

0

हरियाणा: सीबीआई कोर्ट की ओर से साध्वी से रेप मामले में आरोपी करार दिए गए डेरा सच्चा प्रमुख बाबा राम रहीम के काले कारनामों का एक-एक कर खुलासा हो रहा है. फैसले के बाद शुक्रवार को उनके समर्थकों ने हरियाणा-पंजाब समेत देश के कई हिस्सों में जमकर बवाल काटा. बड़े पैमाने पर सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया. हिंसा में 32 मौतें भी हुई.

इस बीच प्रशासनिक कारवाईयों में डेरा समर्थकों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद होने का मामला सामने आ रहा है. इनमें एके 47/राइफल जैसे हथियार शामिल हैं| जानकारी के मुताबिक़ बाबा के तमाम आश्रमों में घातक हथियार मिले हैं. बाबा आश्रमों में अपनी समानांतर सेना रखता था. हालांकि बाबा की ऐसी हरकतों को लेकर आज से सात साल पहले ही सेना ने इस ओर ध्यान दिला दिया था. बता दें कि एके 47 जैसा हथियार सिविलियन को रखने की अनुमति नहीं है.

विस्फोटक भी मिला
डीजीपी हरियाणा ने शनिवार को बताया कि डेरा समर्थकों के पास से कई तरह के खतरनाक हथियार बरामद हुए हैं. इनमें एके 47 के अलावा कारतूस, पेट्रोल बम भी शामिल हैं. करनाल में एक डेरे पर कार्रवाई के दौरान भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद हुआ. करीब सात साल पहले बाबा राम रहीम की गतिविधियों को लेकर सेना ने हथियारों की ट्रेनिंग से जुड़ी एडवाइजरी जारी की थी. तब हरियाणा सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया.

क्या था सेना की एडवाइजरी में ?
सेना ने ये एडवाइजरी दिसंबर 2000 में जारी की थी. डेरा पर हथियारों की ट्रेनिंग का आरोप लगा था. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ तब इस मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने एक नोटिस जारी कर हरियाणा सरकार से अवैध हथियारों की मौजूदगी और ट्रेनिंग के मामले की पूरी जानकारी मांगी थी. हालांकि सरकार ने पूरे मामले में डेरा को क्लीन चिट देकर अपनी रिपोर्ट सौंप दी.

रेप के अलावा ये चार मामले भी राम रहीम के ऊपर

1) रंजीत सिंह मर्डर केस
राम रहीम पर डेरा सच्चा के मैनेजर रंजीत सिंह की मर्डर की साजिश में शामिल होने का आरोप है. जुलाई 2002 में रंजीत का मर्डर हुआ था. माना गया कि रंजीत की वजह से ही साध्वी का ख़त आश्रम के बाहर आ पाया. बाद में इसी के आधार पर रेप मामले में सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को दोषी माना. रंजीत के मर्डर की सुनवाई फिलहाल अंतिम दौर में है.

2) रामचंद्र छत्रपति मर्डर केस
रामचंद्र छत्रपति एक सांध्य दैनिक का सम्पादक था. उसने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को लिखे साध्वी के ख़त को छापकर पूरे मामले में राम रहीम के काले कारनामों का खुलासा किया था. इस रिपोर्ट के कुछ दिन बाद 23 अक्टूबर 2002 को छत्रपति को गोली मार दी गई थी. दिल्ली में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मामले में राम रहीम के अलावा तीन लोगों पर हत्या का केस दर्ज किया गया.

3) भक्तों को नपुंसक बनाने का आरोप
राम रहीम पर डेरा मुख्यालय के अंदर अपने 400 भक्तों को नपुंसक बनाने का भी मामला चल रहा है. 23 दिसंबर 2014 को हाईकोर्ट ने सीबीआई को साक्ष्य जुटाने का निर्देश दिया. मामले में दर्ज शिकायत के मुताबिक़ आश्रम में बाबा ने अपने भक्तों को जबरन नपुंसक बनवाया.

4) ड्रेस विवाद
इस विवादित मामले की वजह से साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो गया था. दरअसल, 2007 में विवाद की वजह राम रहीम द्वारा गुरु गोविंद सिंह के ड्रेस की तरह परिधान पहनना था. राम रहीम के ऐसा करने के बाद हरियाणा और पंजाब जल साम्प्रदायिक आग में जल उठा. तब भी कई दिनों तक काफी हिंसा हुई. बठिंडा पुलिस ने केस भी दर्ज किया था. हालांकि 2014 में पंजाब सरकार ने मामले को विथड्रा कर दिया.