दो पक्षों में मारपीट से छाबनी बना लाल दरवाजा

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: रास्ते में निकलने के विवाद में कुछ दबंग युवको ने एक युवक की पिटाई कर दी| जिसके बाद मामला तूल पकड़ गया |मौके पर पंहुची पुलिस ने कई लोगो को हिरासत में ले लिया|

गंगा नगर कालोनी की कबाड़े वाली गली निवासी प्रशांत दत्त द्विवेदी पुत्र प्रभाकर दत्त द्विवेदी गली से निकल रहे थे| तभी उसी गली में जीतू कबाड़ी के मकान के सामने कुछ लोग दारू पी रहे थे| गली में निकलने के विवाद के चलते दारू पी रहे दबंगो ने प्रशांत का सर फोड़ दिया| जिससे मोहल्ले के लोग एकत्रित हो गये| सूचना मिलने पर एसपी दयानंद मिश्रा, सीओ सिटी, कई थानों का फ़ोर्स मौके पर आ गया| पुलिस ने मौके से कई लोगो को दबोच लिया| प्रशांत के समर्थन में कुछ बीजेपी नेता भी पंहुचे|

एसपी दयानंद मिश्रा ने बताया कि जाँच की जा रही है| जाँच के बाद कार्यवाही होगी|

सपा ने पोंछे कोटेदार के परिजनों के आंसू

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics

फर्रुखाबाद:(कंपिल) थाना क्षेत्र के समाउददीनपुर के कोटेदार की मौत के बाद गुरुवार को उसके परिजनों से मिलने पंहुचे सपा नेताओ ने हर सम्भव मदद करने का भरोसा दिया| साथ ही साथ चेयरमैंन कंपिल ने मृतक की पुत्री के विवाह के खर्च का जिम्मा लिया|

गुरुवार को सुवह जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी व पूर्व मंत्री विजयबहादुर पाल के साथ चेयरमैंन उदयपाल यादव ,मृतक राधेश्याम के घर पंहुचे| जंहा उन्होंने परिजनों को संत्वना दी| साथ ही साथ हर सम्भव मदद का भरोसा भी दिया| चेयरमैंन ने मृतक की -पुत्री प्रियंका के विवाह का खर्च खुद करने का भरोसा दिया | मन्दीप यादव एडवोकेट, बृजेश पाल, इलियास मंसूरो सहित तमाम क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे।

शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करने वाला हर शिक्षामित्र बन सकेगा शिक्षक

0

इलाहाबाद: शीर्ष कोर्ट के आदेश पर जिन शिक्षामित्रों का सहायक अध्यापक पद से समायोजन रद हो चुका है, उनके लिए प्रदेश सरकार ने भारांक तय कर दिया है। इससे भले ही शिक्षामित्र संघ सहमत न हो, लेकिन असलियत यही है कि सरकार ने इतना अधिक भारांक दिया है कि शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले हर शिक्षामित्र को शिक्षक बनने का मौका मिलना लगभग तय है। और तो और मेधावी अभ्यर्थी तक शिक्षामित्रों के खाते में भारांक जुडऩे से पीछे छूट जाएंगे। इससे प्रशिक्षित बेरोजगार खफा हैं उनका कहना है कि इससे चयन की प्रतिस्पर्धा ही खत्म हो रही है।

शीर्ष कोर्ट ने जिन शिक्षामित्रों का शिक्षक पद से समायोजन रद किया है उनके लिए प्रदेश सरकार से अनुभव का लाभ देते हुए भारांक देने और आयु सीमा में छूट देने के साथ ही भर्ती के दो मौके उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। सरकार ने शिक्षामित्रों को प्रतिवर्ष ढाई अंक और अधिकतम 25 अंक का भारांक देने का शासनादेश पिछले दिनों जारी किया है। यह भारांक एक तरह से शिक्षामित्रों के लिए सहायक अध्यापक बनाने की गारंटी जैसा है, बशर्ते उन्हें शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी उत्तीर्ण करना होगा।

भारांक की हकीकत का आकलन इस तरह से किया जा सकता है कि यदि कोई अभ्यर्थी जिसके हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और स्नातक में 100 फीसद अंक आ जाए (जो पूरी तरह से असंभव है) और डीएलएड (पूर्व बीटीसी) प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हो तो उसे अधिकतम 94 अंक मिलते हैं। वहीं, यदि किसी शिक्षामित्र के हाईस्कूल से लेकर दूरस्थ बीटीसी तक के अंकों का जोड़ 75 होता है और उसे अधिकतम भारांक यानी 25 अंक मिल जाते हैं तो वह शिक्षक चयन की अधिकतम अंकों की सीमा को पार कर जाएगा।

शिक्षा महकमे के अफसरों की मानें तो बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में सहायक अध्यापक पद पर सामान्य वर्ग के वह अभ्यर्थी चयनित हो जाते हैं जो 60 से अधिक अंक हासिल करते हैं। इस लिहाज से सरकार शिक्षामित्रों को करीब आधे अंक शिक्षामित्रों को उनके अनुभव के आधार पर ही दे रही है। यह अंक जिस शिक्षामित्र के खाते में जुड़ेंगे उसका चयन लगभग तय है। ताज्जुब यह है कि शिक्षामित्र संघ के नेता इस भारांक से संतुष्ट नहीं है, वहीं दूसरी ओर प्रशिक्षित बेरोजगार कहते हैं कि इस घोषणा से तो शिक्षक चयन की प्रतिस्पर्धा ही खत्म हो जाएगी। सरकार को इतना अधिक भारांक नहीं देना चाहिए।

टीईटी पास शिक्षामित्रों की मांगी सूची
प्रदेश भर के सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों से उन शिक्षामित्रों की सूची मांगी गई है जो शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी उत्तीर्ण हैं। शिक्षा निदेशक बेसिक के शिविर कार्यालय से उप शिक्षा निदेशक गणेश कुमार ने बीएसए को इस संबंध में पत्र भेजा है। माना जा रहा है कि ऐसे शिक्षामित्रों के संबंध में सरकार कोई निर्णय जल्द ही ले सकती है।

शहादत पाने वालो के परिजनों के लिये अहम निर्णय

0

लखनऊ: यूपी पुलिस एवं आर्म्ड फोर्सेज सहायता संस्थान की वार्षिक बैठक गुरुवार को राजभवन में गवर्नर राम नाईक की अध्यक्षता में हुई। बैठक में अहम निर्णय लेते हुए शहादत पाने वाले सैन्य, अर्द्धसैन्य एवं पुलिस बल में शहीद हुये जवानो के परिजनों के बेहतर सुबिधा उपलब्ध कराने को लेकर अहम मुद्दों पर चर्चा हुई|
राजभवन में आयोजित बैठक में विशेष अभियानों में सक्रिय ड्यिूटी के दौरान मृत्‍यु/स्थाई रूप से अपंग घोषित (अपंगता के आधार पर सेवानिवृत्‍त होने पर) सैन्य बल/अर्द्ध सैनिक बल (केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल (C.R.P.F.), सीमा सुरक्षा बल (B.S.F.), असम राइफल्‍स, भारत-तिब्‍बत सीमा पुलिस बल (I.T.B.P.), केन्‍द्रीय औ़़द्योगिक सुरक्षा बल (C.I.S.F.), सशस्‍त्र सीमा बल (S.S.B.), विशेष सुरक्षा दल (S.P.G.), राष्‍ट्रीय सुरक्षा गार्ड (N.S.G.), रेलवे सुरक्षा बल (R.P.F.) एवं राष्‍ट्रीय आपदा प्रबन्‍धन बल (N.D.R.F.) के कर्मियों एवं उनके आश्रितों को, जो उत्‍तर प्रदेश के स्‍थायी निवासी है तथा पुलिस/ पीoएoसीo एवं विशेष पुलिस बल में कार्यरत कर्मियों एवं उनके आश्रितों को अनुग्रह अनुदान एवं लडकी की शादी हेतु सहायता प्रदान करने को लेकर चर्चा हुई कुछ निर्णय भी लिये गये|

इस दौरान वित्त मंत्री,मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव वित्त, फर्रुखाबाद से विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी, डीजीपी सुलखान सिंह, आदि मौजूद रहे|

मीट का परमिट जारी ना करने में लिपिक निलंबित

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: नगर पालिका द्वारा दो महीने से अधिक समय तक एनओसी व परमिट जारी ना करने का दोषी पाते हुये जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार के सम्बन्धित लिपिक को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश दिये| साथ ही साथ ईओ को लंबित परमिट तीन दिन के भीतर जारी करने के आदेश भी दिये|

जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार व एसपी दयानंद मिश्रा ने कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक में हिस्सा लिया| जिसमे सभी थानाध्यक्षो को निर्देश दिये गये की मूर्ति एस्थापना स्थल, थानावार मूर्तियों की संख्या व थाना वार बनी पुलिस की टीम के अध्यक्ष का नाम व मोबाइल नम्बर मूर्ति ले जाने वाले रास्ते की पूर्ण सूचना पहले से ही उपलब्ध कराये| बैठक में नेकपुर से चौरासी जाने वाली सड़क को तत्काल दुरुस्त कराने के निर्देश अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी को दिये| इसी दौरान लोगो ने शिकायत कर कहा कि जिले में बिना लाइसेंस चल रही दुकानो को चिन्हित कर तत्काल बंद कराया जाये| उन्हें परमिट बनबाने के लिये जागरूक करे|

साथ ही साथ ईओ पालिका को निर्देश दिये की एक लिपिक परमिट बनाने के लिये चिन्हित करे| लोगो ने शिकायत कर कहा कि दो महीने से अधिक समय से एनओसी पड़ी रहती है| लिपिक परमिट के लिये पैसे की मांग करता है |इस पर डीएम ने तत्काल लिपिक को निलंबित करने और लंबित आवेदनो को तीन दिन में जारी करने के ईओ को आदेश दिये| वही जिलाधिकारी ने गंगा संरक्षक समिति की बैठक में घाटो की साफ सफाई के निर्देश भी दिये| इस दौरान डीएफओ दीक्षा भंडारी, एसडीएम सदर अजीत सिंह,एसडीएम अमृतपुर बसंत कुमार आदि मौजूद रहे|

उत्तर प्रदेश विधान परिषद उपचुनाव के लिए कार्यक्रम घोषित

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, राष्ट्रीय

लखनऊ: निर्वाचन आयोग ने विधान परिषद की चार सीटों के लिए उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। विधान सभा सदस्यों द्वारा निर्वाचित विधान परिषद के चार सदस्यों के अपने पद से त्याग पत्र दे दिए जाने के कारण ये सीटें रिक्त हुई हैं। आयोग ने 15 सितंबर को मतदान और मतगणना का कार्यक्रम तय किया है।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी अमृता सोनी ने बताया कि नामांकन 29 अगस्त, 2017 से शुरू होगा जो पांच सितंबर तक किया जा सकेगा। छह सितंबर से नामांकन की जांच होगी और आठ सितंबर को नाम वापसी होगी। 15 सितंबर को मतदान होगा। मतदान सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगा। शाम पांच बजे तक मतगणना होगी। आयोग ने निर्वाचन संपन्न करा लेने के लिए 18 सितंबर आखिरी तारीख तय की है। ये चार सीटें बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह, डॉ. सरोजिनी अग्रवाल और अशोक बाजपेई के त्यागपत्र से रिक्त हुई हैं। बुक्कल और यशवंत की सीट की रिक्ति 29 जुलाई, 2017 जबकि डॉ. सरोजिनी की चार अगस्त, 2017 और अशोक बाजपेई की नौ अगस्त, 2017 से रिक्त है। बुक्कल और यशवंत का कार्यकाल छह जुलाई, 2022 तक तथा सरोजिनी और बाजपेई का कार्यकाल 30 जनवरी 2021 तक था।
तीन रिक्त सीटों पर कार्यक्रम नहीं
भारत निर्वाचन आयोग ने चार रिक्त सीटों पर उप चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है लेकिन तीन अन्य रिक्त सीटों पर कार्यक्रम घोषित नहीं किया है। इनमें दो सीटों विधानसभा सदस्यों द्वारा निर्वाचित अंबिका चौधरी और ठाकुर जयवीर सिंह के इस्तीफे से रिक्त हैं, जबकि तीसरी स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र बदायूं से चुने गए बनवारी सिंह यादव के निधन से रिक्त हैं। बनवारी सिंह यादव का निधन मार्च में हो गया था। पांच माह से ज्यादा समय से रिक्त सीट पर अधिसूचना न होने के निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। जहां तक अंबिका और जयवीर की रिक्त सीट का सवाल है तो विशेषज्ञों का कहना है कि दोनों का कार्यकाल एक वर्ष से भी कम बचा है। ऐसे में निर्वाचन नहीं कराया जाएगा।

जीवा घाट पर चलाया स्वच्छता अभियान

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद : नौगवां गांव के निकट गंगा जी के किनारे जीवा घाट पर मंदिरों के आसपास के आस-पास की गंदगी को संयुक्त रूप से अभियान चलाकर साफ-सफाई की| जिसमे महिलाओ ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया|

जीवा घाट पर ग्रामीणों ने एडीओ पंचायत सत्यनरायण सिंह द्वारा चलाए जा रहे गंगा स्वच्छता अभियान से प्रेरित होकर सफाई अभियान चलाया | घाट के दो विशाल शिव मंदिर, धर्मशाला को भी साफ किया गया| जिससे आने वाले श्रद्धालुओ को गंगा स्नान और मंदिर में पूजा अर्चना आदि करने में समस्या नही होगी| विकास खंड कर्मियों द्वारा ग्राम सोता बहादुरपुर स्थित कुष्ठ आश्रम में सफाई के बाद डीडीटी का छिड़काव भी कराया गया। सूरज, गोपाल कश्यप, विजय कश्यप, देवराज कश्यप, राजरानी, कैलाशो देवी, शांति देवी, गीता देवी, आरती, रीना बाथम व सुनीता देवी आदि रहे|

नशेडी ने पुलिस से मारपीट कर वायरललेस तोडा

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला क्रिश्चियन कालेज मैदान निवासी युवक सचिन विलाल को युवती से गाली-गलौज करने में दबोच लिया गया| जिससे उनसे पुलिस के साथ मारपीट कर दी| साथ ही साथ डायल 100 का वायरलेस सेट भी तोड़ दिया|

युवती ख़ुशी पुत्र आनन्द विलाल से मारपीट किये जाने की सूचना पर डायल 100 पुलिस मौके पर पंहुची| उसे गाड़ी में बैठाते ही आरोपी ने हंगामा शुरू कर दिया| पुलिस कर्मियों ने उसे डांटा तो वह और आक्रोशित हो गया| उसने गाड़ी में बैठे पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट कर दी| वही गाड़ी में लगा बायरलेस सेट भी तोडा| जिसके बाद पुलिस उसे लेकर कोतवाली पंहुची| कोतवाली में भी सचिन विलाल ने जमकर हंगामा किया| हंगामे में कुछ पुलिस कर्मियों की वर्दी भी फटी और नाख़ून भी लगे| पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है|

गोरखपुर हादसा: बीआरडी हॉस्पिटल स्टाफ पर होगी FIR, डॉक्टर कफील भी घिरे

0

Posted on : 24-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics-BJP

लखनऊ:गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई मौत के मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने कॉलेज स्टाफ और डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर कराने की तैयारी कर ली है। चीफ सेक्रेटरी राजीव कुमार की रिपोर्ट के आधार पर अस्पताल के डॉक्टर, स्टाफ के साथ ऑक्सिजन सप्लाइ करने वाली कंपनी के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए हैं। इस घटना के बाद मीडिया में छाए डॉक्टर कफील खान पर भी योगी सरकार ऐक्शन के मूड में है।

सरकार ने अडिशनल चीफ सेक्रिटरी मेडिकल एजुकेशन अनिता भटनागर के ट्रांसफर के भी आदेश दिए हैं। भटनागर को डीजी ट्रेनिंग के पोस्ट पर तैनात किया गया है। राजस्व विभाग के रजनीश दुबे को मेडिकल शिक्षा विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। डीजी मेडिकल एजुकेशन केके गुप्ता के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। मेडिकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन की भूमिका पर रिपोर्ट में कोई चर्चा नहीं की गई है।

मंगलवार देर रात तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से सूत्रों ने बताया कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निलंबित प्रिंसिपल राजीव मिश्रा और लिक्विड ऑक्सिजन सप्लायर कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया जा सकता है। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार और लापरवाही का केस दर्ज किया जाएगा। इंसेफेलाइटिस वॉर्ड के पूर्व नोडल अधिकारी डॉक्टर कफील खान पर प्राइवेट प्रैक्टिस के लिए भी एफआईआर की जाएगी। चीफ सेक्रेटरी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को मंगलवार दोपहर रिपोर्ट सौंपी है। रिपोर्ट में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए शॉर्ट और लॉन्ग टर्म योजनाओं की जरूरत पर बल दिया गया है।

आस्था के मार्ग पर पालिका को मौत के मातम का इंतजार

0

फर्रुखाबाद: नगर पालिका के काम किसी से छिपे नही| पालिका त्योहारों को लेकर कितना सजग है| यह इस फोटो को देखकर पता चलता है| जिस मार्ग का गड्डा है उस पर गणेश चतुर्दशी के बाद लाखो श्रद्धालु मंदिर में दर्शन के लिये जायेगे| गड्डा कभी भी किसी बड़े हादसे को अंजाम दे सकता है|

शहर के मोहल्ला छाबनी व आराकसान के बीच सड़क पर ही सड़क टूट गयी| जिससे काफी गहरा गड्डा बन गया है| वह सड़क महाकाल मंदिर के लिये जाती है| 25 अगस्त से गणपति की स्थापना महाकाल मंदिर में होनी है| जिसमे सैकड़ो श्रद्धालु बड़ी संख्या में पंहुचेगे| स्थानीय नागरिको में यह देखकर आक्रोश व्यप्त है कि रात की आरती के समय यदि कोई भी उस गड्डे में चला गया तो बड़ा हादसा हो सकता है| लेंकिन पालिका ने अभी तक इधर अपनी नजरे इनायत नही की|

स्थानीय नागरिक वीरेन्द्र, रुपेश, अहवरन, दर्शन सिंह, रामप्रकाश आदि ने कहा कि वह सभा सद को भी लिखित में दे चुके है| लेकिन कोई सुनने वाला नही है|