सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनाएगा तीन तलाक पर फैसला

0

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को बीते कई महीनों से समाज और मीडिया में चर्चा के केंद्र में रहे ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर फैसला सुनाएगा। सूत्रों के मुताबिक पांच जजों की संवैधानिक पीठ इस मामले में फैसला सुनाएगी। इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला सुबह 10:30 बजे तक आ सकता है। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में इस साल 11 से 18 मई तक सुनवाई चली थी, जिसके बाद सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला को सुरक्षित रखा था।

सुप्रीम कोर्ट में दायर अपने हलफनामें में केंद्र सरकार ने तीन तलाक के मुद्दे को असंवैधानिक बताते हुए इसे खत्म करने का अनुरोध किया था। वहीं सुप्रीम कोर्ट के समक्ष ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि वह सभी काजियों को अडवाइजरी जारी करेगा कि वे तीन तलाक के मामले में ना केवल महिलाओं की राय लें, बल्कि उसे निकाहनामे में शामिल भी करें।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर 27 अगस्त को सेवानिवृत हो रहे हैं। नियम के मुताबिक, जो पीठ सुनवाई करती है वही फैसला देती है। इसीलिए प्रत्येक न्यायाधीश सेवानिवृति से पहले उन सभी मामलों में फैसला दे देता है, जिनकी उसने सुनवाई की होती है। अगर सुनवाई करने वाली पीठ का कोई भी न्यायाधीश फैसला देने से पहले सेवानिवृत हो गया तो उस मामले में दोबारा नए सिरे से सुनवाई होगी और तब फैसला दिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक की वैधानिकता पर छह दिन सुनवाई चली। कोर्ट ने गत 18 मई को सुनवाई के आखिरी दिन फैसला सुरक्षित रख लिया। शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में स्वयं संज्ञान लिया, बाद में तीन तलाक पीड़ित महिलाओं ने भी याचिकाएं डालीं और इसे असंवैधानिक घोषित करने की मांग की।

याचिकाकर्ताओं की दलील
1. तीन तलाक महिलाओं के साथ भेदभाव है।
2. महिलाओं को तलाक लेने के लिए कोर्ट जाना पड़ता है, जबकि पुरुषों को मनमाना हक है।
3. कुरान में तीन तलाक का जिक्र नहीं है।
4. ये गैर कानूनी और असंवैधानिक है।

मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड और जमीयत की दलील
1. ये अवांछित है, लेकिन वैध
2. ये पर्सनल ला का हिस्सा है कोर्ट दखल नहीं दे सकता
3. 1400 साल से चल रही प्रथा है ये आस्था का विषय है, संवैधानिक नैतिकता और बराबरी का सिद्धांत इस पर लागू नहीं होगा
4. पर्सनल ला को मौलिक अधिकारों की कसौटी पर नहीं परखा जा सकता

सरकार की दलील
1. ये महिलाओं को संविधान मे मिले बराबरी और गरिमा से जीवनजीने के हक का हनन है
2. ये धर्म का अभिन्न हिस्सा नहीं है इसलिए इसे धार्मिक आजादी के तहत संरक्षण नहीं मिल सकता
3. पाकिस्तान सहित 22 मुस्लिम देश इसे खत्म कर चुके हैं
4. धार्मिक आजादी का अधिकार बराबरी और सम्मान से जीवन जीने के अधिकार के आधीन है
5. अगर कोर्ट ने हर तरह का तलाक खत्म कर दिया तो सरकार नया कानून लाएगी।

अज्ञात वाहन की टक्कर से डेयरी संचालक की मौत

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के मोहल्ला शास्त्री नगर बजरिया फिल्ड निवासी 26 वर्षीय प्रभात यादव पुत्र अगरीश यादव की अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत हो गयी| पुलिस ने उनके शव को लोहिया अस्पताल भेजा|

थाना क्षेत्र के कायमगंज वाई पास पर बाइक से आ रहे प्रभात को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी| जिससे वह गम्भीर हो गया| 108 एम्बुलेस के ईएमटी असलम ने उसे लोहिया अस्पताल पंहुचाया| जंहा डॉ० नीरज ने उसे मृत घोषित कर दिया| मृतक के पिता अगरीश यादव ने बताया कि उनके तीन पुत्र है| बड़े पुत्र रामू फिर प्रभात व तीसरे का नाम पवन है| घटना की सूचना परिजनों को मिली| उसकी पत्नी रेखा देवी व माँ तारावती का रो-रो कर बुरा हाल हो गया| मृतक के एक तीन वर्षीय पुत्री अनन्या ढाई वर्षीय पुत्र जितेन्द्र है|

पुलिस का कहना है कि तहरीर मिलने पर कार्यवाही की जायेगी|

बाइकों की भिडंत में मेडिकल संचालक की मौत

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के बधार-नाले के निकट बाइक सबार मेडिकल स्टोर संचालक की दूसरी बाइक से आमने-सामने की भिंडत में गम्भीर हो गये| पुलिस ने उन्हें लोहिया अस्पताल भेज दिया| जंहा उन्हें मृत घोषित कर दिया गया|

कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के ग्राम मतापुर निवासी 50 वर्षीय नेकराम शाक्य का मुरास में रंजना मेडिकल है| सोमबार को वह फर्रुखाबाद से मेडिकल के लिये दवा लेकर बाइक से लौट रहे थे| तभी बघार-नाले के निकट सामने से आ रही तेज रफ्तार बाइक ने नेकराम की बाइक में टक्कर मार दी| जिससे दोनों गम्भीर रूप से जख्मी हो गये | बधार चौकी इंचार्ज ने उन्हें लोहिया अस्पताल पंहुचाया| जंहा नेकराम को मृत घोषित दिया गया|

खबर मिलते ही उनकी पत्नी तारावती व अन्य परिजन लोहिया अस्पताल पंहुच गये| शव को देखते ही कोहराम मच गया | मृतक के एक पुत्र अनिल व चार पुत्री है| एक पुत्री का विवाह हो चुका है| पुलिस ने शव का पंचनामा भरा|

बीजेपी प्रत्याशी को धमकाने के आरोप में सुबोध यादव सहित 9 के खिलाफ तहरीर

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics- Sapaa, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: जिला पंचायत अध्यक्ष पद की बीजेपी प्रत्याशी राजकुमारी कठेरिया ने एसपी दयानंद मिश्रा से भेट कर उन्हें तहरीर दी| जिसमे राजेपुर व्लाक प्रमुख सहित 9 लोगो पर आरोप लगाये गये है| एसपी ने जाँच कर कार्यवाही के आदेश थाना पुलिस को दिये है| लेकिन पुलिस घटना संदिग्ध मान रही है|

थाना मऊदरवाजा के पचपोखरा निवासी राजकुमारी कठेरिया पत्नी कल्लू कठेरिया ने एसपी से की गयी शिकायत में आरोप लगाया है कि सोमबार को सुबह लगभग 9:30 बजे वह अपने घर पर थी| तभी राजेपुर व्लाक प्रमुख सुबोध यादव, पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह, जोगेंद्र सिंह, प्रमोद यादव, ओमपाल सिंह, धर्मपाल सिंह, रामप्रकाश उर्फ़ कल्लू यादव, उमेश यादव व किशन पाल यादव उसके घर में घुस आये और गाली-गलौज करने लगे| राजकुमारी ने यह भी आरोप लगाया है कि उन्होंने कहा कि यदि जिला पंचायत के चुनाव में भाग लिया तो परिवार सहित जान से मार देगे| सुबोध पर पिस्टल से फायर करने का आरोप भी लगाया है| लेकिन पुलिस पूरे मामले को संदिग्ध मान रही है|

एसपी दयानंद मिश्रा ने प्रभारी निरीक्षक थाना मऊदरवाजा को जाँच कर कार्यवाही के आदेश दिये है | प्रभारी निरीक्षक ने कहा है की एसपी के आदेश पर जाँच की जायेगी| जाँच में घटना पायी गयी तो कार्यवाही होगी|

प्रतिबन्ध के बाद भी कटीले तार ले रहे छुट्टा गायों की जान

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, कृषि, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(राजेपुर)योगी सरकार में गोकशी से गायों की कुछ हद तक जान बची हुई हैं, लेकिन किसान कटीले और ब्लेड वाले तार लगाकर अधमरा कर रहे हैं। तार से कटी गायें तड़प तड़प कर मर रही हैं। उनकी देखभाल करने वाले जिले में कोई नहीं है।

देशी गायों का दूध निकालने के बाद लोग खेतों में छोड़ देते हैं। उनकी परवाह तक करने वाला नहीं होता है। गोकशी से बची गाय किसानों द्वारा लगवाए गए कटीले तारों से बचती हुई नहीं दिखाई दे रही है। अगर खेत में गाय है तो किसान भी उसी तरफ से खदेड़ता है कि वह तार में फंस के घायल हो जाए और दोबारा खेत में आना बंद कर दे। ऐसे किसान गायों को ब्लेड और कटीले तार की तरफ खदेड़ते है जिससे गाय कट जाती है। बरसात के मौसम में उनके घाव भी नहीं सही हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में गायें तडप-तडप के मर रही हैं। जिले में प्रतिबंधित तार किसान लगा रहे हैं, जिस तरफ अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। क्षेत्र में कई गाय कटीले प्रतिबंधित तारो की चपेट में आने से मौत के मुंह में चली गयी है| राजेपुर से लेकर अमृतपुर तक व्लेडयुक्त तार खेतो में लगाये गये है| क्षेत्र की दुकानों पर भी प्रतिबंधित तार खुलेआम बिक रहा है| इसके बाद भी किसी अफसर ने कोई कार्यवाही नही की|

जबकि जिलाधिकारी कह चुके है कि जिले के जिन किसानों ने खेतों पर कटीला और ब्लेड का तार लगा रखा है। उनकी जांच कराने के लिए थानाध्यक्षों से कहा गया है। जिस किसान के खेत में ब्लेड का तार लगा हुआ मिलेगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।”

प्रधान सुरेन्द्र हत्याकांड का कारण तलाश नही कर पा रही पुलिस!

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(मेरापुर) थाना क्षेत्र के ग्राम बिजौरी के प्रधान सुरेन्द्र सिंह यादव की पिकअप सबार बदमाशो ने बीते 4 अगस्त को गोलीमार हत्या कर दी| पुलिस ने घटना के सम्बन्ध में तहकीकात शुरू की| लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नही हो सकी| पुलिस एक आरोपी को जेल भेजने का दावा कर रही है| लेकिन उसने घटना क्यों की इसका पुलिस के पास कोई जबाब नही है| पुलिस अभी तक हवा में ही लाठी चला रही है |

विदित है कि प्रधान सुरेन्द्र सिंह फर्रुखाबाद किसी काम से आये थे| जंहा से वह वापस अपने घर जा रहे थे| तभी थाना क्षेत्र के मुरान भट्टे के निकट वाले नगला के पास पहले से ही घात लगाये बैठे पिकअप सबार हमलावरो ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी थी| जिससे प्रधान की मौके पर ही मौत हो गयी थी| मृतक प्रधान के भाई भूमि राज सिंह ने नगला मना निवासी आदित्य कुमार पुत्र ब्रह्मानंद व बिजौरी निवासी रामू पंडित पुत्र ब्रह्मानंद मिश्रा के खिलाफ हत्या का आरोप लगाते हुये मुकदमा दर्ज कराया था|

घटना के बाद पुलिस तहकीकात में जुट गयी थी| एक दिन बाद ही पुलिस ने मुकदमे में आरोपी रामू पंडित को उठा लायी और कई दिन हिरासत में रखने के बाद उसे जेल भेंज दिया | लेकिन दिनदहाड़े प्रधान की हत्या क्यों हुई |पकड़े गये आरोपी ने क्या बताया इसका कोई भी जबाब पुलिस के पास नही है| थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपी रामू को जेल भेज दिया गया है| उसके बतायी गयी जगहों पर दबिश दी जा रही है|

सपा व बीजेपी के नाक का सबाल बनी अध्यक्ष की कुर्सी

0

फर्रुखाबाद: मंगलवार 22 अगस्त को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये मतदान होना है| जिसमे सपा व बीजेपी पूरी ताकत झोंके है| एक तरफ सांसद मुकेश राजपूत की प्रत्याशी राजकुमारी कठेरिया है तो वही सपा की तरफ से ज्ञानदेवी मैदान में है| सियासत के शतरंज को पार कर कौन अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठेगा इसका पता लगभग 24 घंटे बाद लग ही जायेगा| लेकिन किसी एक की नाक कटना लाजमी है|

बीजेपी के सांसद के साथ कहने को तो केंद्र व प्रदेश के साथ ही साथ जिले के अधिकतर जनप्रतिनिधि है| लेकिन अंदरूनी भीतरघात उन्हें भी झेलना पड़ रहा है | बीजेपी की यह अंदरूनी खेमे बंदी कोई नई नही है| बीते कई चुनावो में बीजेपी को अंदरूनी कलह व विरोध ही सत्ता से दूर किये रहा |अब फिर जिला पंचायत के चुनाव को लेकर बीजेपी के कई नेताओ पर आरोप लग रहे है कि वह सांसद की मदद ना करके विरोधी से अंदरखाने में मिले हुये है| इसी भीतरघात से ही चुनाव अब खतरे में नजर आने लगा है | यदि केंद्र व प्रदेश में सत्ता व जिले में चार विधायक व एक सांसद होने के बाद भी चुनाव में जीत हासिल नही होती तो बीजेपी का जिले में भविष्य क्या होगा|

वही सपा की सरकार ना होने के बाद भी ज्ञानदेवी को चुनाव लड़ा रहे सुबोध यादव अपने पास 23 सदस्यों के होने का दावा कर रहे है| सोमबार सुबह कंपिल चेयरमैंन उदयपाल ने अपने भाई के साथ सपा प्रत्याशी ज्ञान देवी को समर्थन दे देने से यह बात भी साफ हो गयी की बीजेपी की सत्ता का चुनाव पर असर कितना असर है| सत्ता का असर क्या होता है यह सगुना देवी के जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के दौरान सभी ने देख लिया था| आज भी वही फार्मूला चल रहा है| चुनाव में कमजोर पड़ रही बीजेपी को देखकर तो यह लग रहा है| सपा एक बार फिर से सत्ता होने जैसा अनुभव करा रही है|

सांसद मुकेश राजपूत ने बताया कि विरोधी जिस तरह से चुनाव लड़ रहे है उस तरह से वह नही लड़ सकत| वह जिले की जनता के सम्मान के लिये चुनाव मैदान में अपना प्रत्याशी उतारे है| सुबोध यादव ने बताया कि सपा के साथ तब भी सभी सदस्य थे| शगुना देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के बाद भी वह उन्ही के साथ है| इससे बड़ा प्रमाण क्या होगा|

एटीएम कोड पूंछकर दर्जी का खाता किया खाली

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: बीते दिन अपने को बैंक अधिकारी बताकर फोन करने वाले शातिर ने एटीएम का कोड नम्बर पूंछकर दर्जी के खाते से पूरी नकदी साफ कर दी| जिसके बाद उसके पास मैसेज आया तो उसके होश उड़ गये|

शहर कोतवाली के सातनपुर निवासी बाल किशन शाक्य पुत्र संतोषी शाक्य का आईटीआई चौराहे के निकट स्थित इंडियन ओवरसीज़ बैंक में खाता है| बाल किशन ने बताया कि बीते दिन उसके पास एक फोन 917320944523 से फोन आया| उसने खुद को मुम्बई का बैंक अधिकारी बताते हुये कहा कि उसका एटीएम बंद हो गया है| इस लिये एटीएम कार्ड पर लिखा 16 अंको का कोड बताये| जिसे बाल किशन ने बता दिया| तो उस शख्स ने फिर एटीएम की दूसरी तरफ काली पट्टी के नीचे लिखे नम्बर पूंछा और फोन काट दिया| कुछ देर के बाद ही बाल किशन के फोन पर एक मैसेज आया| मैसेज आने के बाद फोन पुन: आया तो उसने मैसेज में आये नम्बर को पूंछा| जैसे ही बाल किशन ने मैसेज का नम्बर बताया तो कुछ ही देर बाद उसे अपने खाते में जमा 1388 रूपये निकाल लिये जाने की सूचना मिल गयी|

उसके खाते में केबल 1 रुपया ही रह गया| यह जानकर पैरो तले जमीन खिसक गयी| पुलिस तहरीर मिलने पर कार्यवाही की बात कह रही है|

Letter Format for University Admission

0

Posted on : 21-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

The best part about creating an enlightening essay may be the big selection of topics it is possible to decide from. This form of composition is ordinarily used to determine how you can really cope with a few additional examination and composing tasks. Normally, the most suitable choice of article topic plays a vital role in complete composing achievement. Read the rest of this entry »

अखिलेश के निर्देश पर कम्पिल चेयरमैंन अपने भाई सहित ज्ञानदेवी के साथ

0

फर्रुखाबाद: मंगलवार को जिला पंचायत पद के लिये मतदान होना है| इसके लिये बीजेपी और सपा अपनी-अपनी ताकत झोंक रहे है| लेकिन सपा कार्यालय में हुई प्रेस वार्ता के बाद से जिला पंचायत अध्यक्ष पद को लेकर आसार बदलते नजर आने लगे है| उदयपाल यादव ने अपने भाई नीलेश सहित ज्ञानदेवी का समर्थन करने की घोषणा कर दी है|

बताते चले की सपा की ज्ञानदेवी की तरफ से तीन नामांकन पत्र दाखिल किये गये | जिसमे रश्मि यादव, सपा महानगर अध्यक्ष विजय यादव, लक्ष्मी रीटा प्रस्तावक व अनुमोदक में उमेश यादव, ममता देवी व आशा देवी बनी है| वही बीजेपी सांसद मुकेश राजपूत के चालक कल्लू की पत्नी राजकुमारी ने प्रतिवन सिंह, रमेश राजपूत, नीलेश को प्रस्तावक बनाया है| वही अनुमोदक में रिंकी, ममता व सुरेश चन्द्र के नाम शामिल है| जिससे यह साफ था की उदयपाल यादव की पत्नी रीता यादव व उनके भाई नीलेश यादव का समर्थन बीजेपी प्रत्याशी राजकुमारी कठेरिया को जायेगा| लेकिन मतदान के ठीक एक दिन पूर्व ही शतरंज की बिसात उल्टी पड़ती नजर आयी|

सोमबार को सुबह तकरीबन 7 बजे सपा के आवास विकास कार्यालय पर पार्टी के जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी ने एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया| जिसमे अलीगंज के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव, जोगेंद्र सिंह यादव व सुबोध यादव मौजूद थे| उनके साथ में ही कंपिल चेयरमैंन उदय पाल यादव व उनके भाई जिलापंचायत सदस्य नीलेश यादव मौजूद थे| वार्ता में उदय पाल व नीलेश ने बताया की उन्हें पूर्व सीएम व सपा सुप्रीमो का आदेश प्राप्त हुआ है| इस लिये वह ज्ञानदेवी के साथ है|