Featured Posts

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रामाटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर...

Read more

मकान गिराने पर थानाध्यक्ष व् सर्वोदय नेता में झड़प

Comments Off on मकान गिराने पर थानाध्यक्ष व् सर्वोदय नेता में झड़प

Posted on : 15-08-2017 | By : पंकज दीक्षित | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) थाना क्षेत्र के ग्राम निबिया इटावा-बरेली हाई के किनारे बनाये गये मकान दुकान को सर्वोदय मंडल के नेता लक्ष्मण सिंह द्वारा गिरा देने के बाद मौके पर पंहुचे थानाध्यक्ष से उनकी तीखी झड़प हुई| बाद में पुलिस ने दोनों को यथा-स्थिति बनाये रखने के निर्देश दिये|

अमृतपुर तहसील के ग्राम खगटौरा निवासी जगवीर सिंह यादव व् बलिस्टर सिंह ने निबिया इटावा-बरेली हाई के किनारे मकान दुकान बना लिये थे| जिसके बाद उनका सियाराम से विवाद चल रहा था| मंगलवार को अधिवक्ता व सर्वोदय मंडल के नेता लक्ष्मण सिंह कोर्ट के आदेश के साथ ही जेसीबी लेकर पंहुचे और दुकान व मकान गिरा दिया| सूचना मिलने पर एसडीएम बसंत कुमार, थानाध्यक्ष सुशील कुमार मौके पर पंहुचे जंहा लक्ष्मण सिंह की थानाध्यक्ष से जमकर विवाद हो गया| पुलिस इसके बाद वैकफुट पर आ गयी|

बाद में अफसरो के हस्तक्षेप के बाद दोनों पक्षों को थाने में बुलाया गया| पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है| एसडीएम बसंत कुमार ने बताया की लेखपाल को बुलाकर जाँच करायी जायेगी| इसके बाद आगे की कार्यवाही होगी|

अंग्रेजी शराब के चक्कर में पिला दी कांच

Comments Off on अंग्रेजी शराब के चक्कर में पिला दी कांच

Posted on : 15-08-2017 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(जहानगंज) थाना क्ष्रेत्र के कस्बा स्थित अंग्रेजी शराब के ठेके से शराब लेकर पीने से फल विक्रेता की हालत बिगड़ गयी| जब उसने चेकअप कराया तो पता चला उसके पेट में कांच है| जिससे उसके होश उड़ गये| उसने पुलिस को तहरीर दी|

गाँव महमदपुर अमलैया निवासी मनोज पुत्र रामचन्द्र फल बेचने का काम करता है| उसने पुलिस को दी गयी तहरीर में कहा है कि कस्बे के अंग्रेजी शराब के ठेके पर तैनात सेल्स मैंन ने उसे सस्ते के चक्कर में खुली हुई अंग्रेजी शराब दी| जिसको पीने के बाद से उसकी हालत खराब है| जब उसने पेट दर्द के चलते अल्ट्रासाउंड कराया तो पता चला की उसके पेट में कांच है|

पता लगने पर मनोज के होश उड़ गये| उसने थाने में शराब ठेके के खिलाफ तहरीर दी| थानाध्यक्ष संजय गुप्ता के अनुसार जाँच के बाद कार्यवाही होगी |

व्लाक प्रमुख ने मदरसे के बच्चो को दिलाई शपथ

Comments Off on व्लाक प्रमुख ने मदरसे के बच्चो को दिलाई शपथ

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: (कमालगंज) स्वतन्त्रता दिवस पर ध्वजारोहण के बाद विकास खंड क्षेत्र के व्लाक प्रमुख राशिद जमाल सिद्दीकी ने सभी बच्चो को शपथ भी दिलायी|

विकास खंड के ग्राम अलाउद्दीनपुर के मदरसा बदरूनिशा मेमोरियल एजुकेशन सेंटर पंहुचे व्लाक प्रमुख ने ध्वजारोहण कर राष्ट्रगान कराया और मदरसे के सभी बच्चो को शपथ दिलाकर उनका मार्गदर्शन किया| वही जरारी के मदरसा मेहदीहसन में प्रबन्धक हाजी समीद ने ध्वजारोहण किया|

प्राथमिक विधालय मिर्जानगला में खंड शिक्षा अधिकारी सुमित वर्मा ने हेडमास्टर रूचि वर्मा के हरी झंडी दिखाकर स्कूल चलो अभियान रैली को रवाना किया| वही सुमित वर्मा को जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार व सीडीओ अबिनाश कुमार व विधायको व सांसद ने शहर के ठंडी सड़क स्थित नव भारत सभा भवन में आयोजित जश्ने आजादी के सम्मानित भी किया गया|

प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपण

Comments Off on प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपण

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, कृषि, जिला प्रशासन

फ़र्रुख़ाबाद:(कम्पिल) जिलाधिकारी रविंद्र कुमार की पत्नी प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी दीक्षा भण्डारी ने स्वतंत्रता दिवस पर पौधारोपण कर लोगो को पौधा रोपण के लिये जागरूक किया|

कस्बा के रुदायन मार्ग पर वन विभाग के अफसरों ने पौधारोपण की तैयारी की| इसके साथ ही साथ मौके पर अन्य लोग भी एकत्रित हुये | दोपहर दीक्षा भंडारी रुदायन मार्ग पर अपने सरकारी अमले के साथ पंहुची और पौधारोपण किया|

प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी के आने से पूर्व ही कर्मचारियों ने पौधों के लिए गढ्ढा तैयार किया जिसमें जैविक खाद और दीमक रोधी कीटनाशक डाल कर तैयार किया गया। दीक्षा भंडारी ने बन विभाग के मौजूद प्रत्येक कर्मचारियों को पौधे रोपड़ करने के लिए कहा।

जरा याद करो कुर्बानी: अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ व दरोगा सहित पिपरगांव में गिरी थी चार लाशें

Comments Off on जरा याद करो कुर्बानी: अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ व दरोगा सहित पिपरगांव में गिरी थी चार लाशें

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, POLICE

फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला) 81 साल बाद आज भी गांव के लोग जब उस खून से लाल जमीन को याद करते है तो उनके रोगटे खड़े हो जाते है| गांव में जब भी ब्रिटिश हुकूमत की बात शुरू होती है तो लोग 1936 में गांव में हुए पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ की हत्या की घटना को याद कर बैठते है| आखिर क्या हुआ था उस दिन मोहम्दाबाद क्षेत्र के ग्राम पिपरगांव में अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ सहित चार की लाशें गिरा दी गयी| वही पूरे गांव को बम से उड़ाने का फरमान सुनाया गया| शायद चंद लोग ही इस घटना से परिचित होंगे|

15 अगस्त के चलते जेएनआई की टीम ने आप के जहन में इतिहास के पन्नो को छान कर जो जानकारी निकाली है वह बहुत दिलचस्प है| कई सबाल आप के मन में उठ रहे होंगे की पिपरगांव में किस ने एसपी व दरोगा की हत्या की थी? बात उन दिनों की है जब देश गुलामी की जंजीरों में जकड़ा था| पूरे देश में आजादी के लिए अलख जगायी जा रही थी| वही उसी दौरान मोहम्दाबाद क्षेत्र के ग्राम पिपरगांव में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ एक अलग ही चिंगारी भडक रही थी| इस चिंगारी का नाम था चिरौजीलाल पाल| चिरौजीउन दिनों सेना के जवान थे और सरहद पर तैनात थे| लेकिन लड़ाई के दौरान चिरौजी लाल के हाथ में दुश्मन की गोली लग गयी जिससे उन्हें सेना छोडनी पड़ी| सेना छोड़ कर वह अपने पिपरगांव में घर पर आ गये| चिरौजी लाल के चाचा रतिराम पाल उन दिनों हांकी के राष्ट्रीय टीम में कप्तान थे| वह भी गांव आये हुए थे|

4 मार्च 1936 का दिन था गांव का प्रतिएक व्यक्ति अपने अपने काम में लगा हुआ था| चिरौजी लाल पाल के खेत से अनाज कट रहा था| अनाज उनके चाचा का नौकर रामसिंह काट रहा था| कटे हुए अनाज को वह चिरौजी के घर ना ले जाकर उनके चाचा रतिराम के घर पर ले जाने लगा जिसका उन्होंने विरोध किया| विरोध की स्थित में चाचा और भतीजे में विवाद हो गया तो चिरौजी ने गुस्से में नौकर के गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी| अब तो आग में घी का काम करने वाली बात हो गयी रतिराम ने जब चिरौजी लाल को ललकारा तो बीच में गोली चलने के दौरान उनकी माँ आ गयी जिसे रतिराम की माँ को गोली लग गयी और रतिराम भी गम्भीर घायल हो गये|

घायल अवस्था में रतिराम तत्कालीन पुलिस अधीक्षक जीएस कोली के पास पंहुचे और मामले की जानकारी दी| शिकायत सुनते ही पुलिस अधीक्षक कोली खुद घटना पर पंहुचने के लिए निकला उसके साथ में दरोगा जयंतीप्रसाद भी था| पुलिस अधीक्षक लगभग शाम तकरीवन 6 बजे पिपरगांव पंहुचा और उसने चिरौजीलाल को जिंदा पकड़ने की योजना बनायी| तब तक अँधेरा हो चुका था| एसपी कोली ने चिरौजी को देखने के लिए टार्च जलायी तो रोशनी को देख कर चिरौजी ने पुलिस अधीक्षक कोली पर गोली चला दी| गोली चलाते समय चिरौजी लाल अपने मकान की छत पर खड़े थे फायरिंग की घटना में दरोगा जयंती प्रसाद को भी गोली से उड़ाया गया था|

कुल मिलकर चार लाशे गिर चुकी थी और गांव की गली में खून की नदिया वह रही थी| वही चिरौजी ने उसी दिन सुबह अपनी ही लाइसेंसी बंदूक से गोली मार कर मौत को गले लगा लिया वह अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ थे|घटना की जानकारी जब पुलिस अधीक्षक की पत्नियों को हुई कोली दो पत्नियाँ रखता था| तो एक पत्नी ने गांव को बम से उड़ा देने के आदेश जारी कर दिये लेकिन दूसरी पत्नी ने इस बात के लिए मना कर दिया की गलती पूरे गांव की नही है जिसने गलती की है वह मर चुका है जिसके बाद उस फरमान को खत्म कराया|

अंग्रेजी हुकूमत ने पुलिस अधीक्षक कोली व दरोगा जयंती प्रसाद की याद में एक कब्र गाँव में ही बना दी| तो वही दूसरी कब्र फतेहगढ़ सीओ के कार्यालय में पडोस में बने कब्रिस्तान में बनायी गयी| चिरौजी का परिवार अभी भी गांव में ही रह रहा है| कुछ लोगो ने अन्य जनपदों में नौकरी कर ली| लेकिन चिरौजी की यादे व गोलियों की गडगडाहट आज भी उनके मकान की कच्ची दीवारों में दफन है|

[bannergarden id="12"]