Featured Posts

राममंदिर मामले में अब शिवपाल सीएम के बयान से सहमतराममंदिर मामले में अब शिवपाल सीएम के बयान से सहमत फर्रुखाबाद: समाजवादी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव गुरुवार को यूपी के सीमें योगी आदित्य नाथ के राममंदिर पर दिये गये वयान से सहमत दिखे| उन्होंने कहा की यदि समझौता नही तो कोर्ट का आदेश ही विकल्प है| समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष विश्वास गुप्ता...

Read more

हाई-वे पर जाम में फंसा रहा पूर्व मंत्री शिवपाल का काफिलाहाई-वे पर जाम में फंसा रहा पूर्व मंत्री शिवपाल का काफिला फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) सत्ता की शक्ति से कौन अंजान है और खास कर वो तो बिल्कुल भी नही जो सत्ता का सुख एक लम्बे समय तक ले चुका हो| लेकिन कुर्सी पर ना रहने के बाद नेता को सड़क पर चलना मुश्किल हो जाता है| यही नजारा देखने को मिला जब शिवपाल सिंह का काफिला लगभग 20 मिनट तक जाम की झाम में...

Read more

बसपा प्रत्याशी वत्सला को महान दल का समर्थनबसपा प्रत्याशी वत्सला को महान दल का समर्थन फर्रूखाबाद: नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिये बहुजन समाज पार्टी की प्रत्याशी वत्सला अग्रवाल को महान दल ने अपना समर्थन दे तेजी से चुनाव लड़ाने का ऐलान किया है |जिससे वत्सला के खेमे में मजबूती आ गयी है| महान दल के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने रेलवे रोड स्थित बसपा प्रत्याशी के चुनाव...

Read more

नही खुला विशाल की मौत का राज, आखिर कैसे हुई मौत?नही खुला विशाल की मौत का राज, आखिर कैसे हुई मौत? फर्रुखाबाद: बीती रात बाइक चोरी के आरोप में पकड़े गये आरोपी की मौत का राज फ़िलहाल पोस्टमार्टम में भी नही खुल सका| जिससे उसकी मौत की गुत्थी उलझ गयी है| वही पुलिस मामले की जाँच कर रही है| थाना राजेपुर के बमियारी रामपुर निवासी विशाल पाठक पुत्र चन्द्रमोहन पाठक उर्फ़ रामू को बाइक...

Read more

योगी की पुलिस से परेशान महिलाओं ने पकड़े मंत्री के पैरयोगी की पुलिस से परेशान महिलाओं ने पकड़े मंत्री के पैर फर्रुखाबाद: बीते दिनों शराब ठेके पर पुलिस व ग्रामीणों के साथ हुई हिंसक झड़प के बाद पुलिस ने कई को आरोपी बनाया था| जिसको पकड़ने के लिये पुलिस लगातार हाथ-पैर मार रही है |जिस पर अब राजनितिक रंग चढ़ गया है| पुलिस के खौफ से खफा महिलाओ ने राज्य मंत्री के पैर पकड़कर न्याय की मांग की है|...

Read more

चुनावी बिसात पर हर रोज बदलती सियासी चालचुनावी बिसात पर हर रोज बदलती सियासी चाल फर्रुखाबाद:चुनावी रण का धीरे-धीरे रुख बदल रहा है और सियासी लोगों की रणनीति भी। नुक्कड़ सभाओं और जनसम्पर्क के साथ-साथ अब दूसरा दौर शुरू हो गया है। सियासी बिसात पर पल-पल की खुफिया निगरानी के बाद शतरंजी चालें चली जा रही हैं। कोई पूरे पालिका व नगर पंचायत क्षेत्र में मोहल्ले-मोहल्ले...

Read more

अध्यक्ष पद के आधा दर्जन नामांकन वापसअध्यक्ष पद के आधा दर्जन नामांकन वापस फर्रुखाबाद: शुक्रवार को नामांकन के वापसी के दौरान फर्रुखाबाद, मोहम्मदाबाद व कमालगंज के कुल आधा दर्जन प्रत्याशियों ने अपना नामांकन वापस कर लिया| फर्रुखाबाद नगर पालिका से निर्दलीय प्रत्याशी सुधांशु दत्त द्विवेदी, कपड़ा व्यापारी किशन कन्हैया सक्सेन व आभा सिंह ने अपना...

Read more

खास खबर: शर्तो के साथ सुधांशु दत्त का पर्चा वापसखास खबर: शर्तो के साथ सुधांशु दत्त का पर्चा वापस फर्रुखाबाद: बीजेपी से सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी के बड़े चचेरे भाई पूर्व सभासद सुधांशु दत्त द्विएवेदी ने अपना पर्चा आखिर कुछ शर्तो के साथ वापस ले लिया| शहर के किंराना बाजार स्थित राजन अवस्थी के प्रतिष्ठान पर जिला प्रभारी श्रीकान्त पाठक के साथ सुधाशुं दत्त की...

Read more

सभासद पद के 16 के नामांकन वापससभासद पद के 16 के नामांकन वापस फर्रुखाबाद: नगरिया निकाय चुनाव में फर्रुखाबाद, कमालगंज व मोहम्मदाबाद में से सर्वाधिक सदस्यों ने फर्रुखाबाद के वार्डो से पर्चा वापस कर लिया| जिससे कई प्रत्याशियों के समीकरण बने तो कई का सियासी गणित बिगड़ गया| फर्रुखाबाद नगर पालिका में वार्ड 28 से आरती, वार्ड 31 से नजरीन, वार्ड...

Read more

फ़्लैश बैक: काला धन खपाने के लिए एक डॉक्टर ने खरीदे थे 13 एसी, 5 एलईडी और ....फ़्लैश बैक: काला धन खपाने के लिए एक डॉक्टर ने खरीदे थे 13 एसी, 5... फर्रुखाबाद: नोटबंदी का एक साल पूरा हुआ, कहीं जश्न मना तो किसी के जख्म हरे हुए| 8 नवम्बर 2016 वो दिन है जो इतिहास बन गया| रात 8 बजे उस दिन दफ्तर में सामान्य कार्य में लगा था कि 5 मिनट बाद ही जूनियर ने फोन पर बताया कि 500 का नोट बंद हो गया| किसी बात को एक बार में ही न मानने की आदत पत्रकार...

Read more

मकान गिराने पर थानाध्यक्ष व् सर्वोदय नेता में झड़प

Comments Off on मकान गिराने पर थानाध्यक्ष व् सर्वोदय नेता में झड़प

Posted on : 15-08-2017 | By : पंकज दीक्षित | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) थाना क्षेत्र के ग्राम निबिया इटावा-बरेली हाई के किनारे बनाये गये मकान दुकान को सर्वोदय मंडल के नेता लक्ष्मण सिंह द्वारा गिरा देने के बाद मौके पर पंहुचे थानाध्यक्ष से उनकी तीखी झड़प हुई| बाद में पुलिस ने दोनों को यथा-स्थिति बनाये रखने के निर्देश दिये|

अमृतपुर तहसील के ग्राम खगटौरा निवासी जगवीर सिंह यादव व् बलिस्टर सिंह ने निबिया इटावा-बरेली हाई के किनारे मकान दुकान बना लिये थे| जिसके बाद उनका सियाराम से विवाद चल रहा था| मंगलवार को अधिवक्ता व सर्वोदय मंडल के नेता लक्ष्मण सिंह कोर्ट के आदेश के साथ ही जेसीबी लेकर पंहुचे और दुकान व मकान गिरा दिया| सूचना मिलने पर एसडीएम बसंत कुमार, थानाध्यक्ष सुशील कुमार मौके पर पंहुचे जंहा लक्ष्मण सिंह की थानाध्यक्ष से जमकर विवाद हो गया| पुलिस इसके बाद वैकफुट पर आ गयी|

बाद में अफसरो के हस्तक्षेप के बाद दोनों पक्षों को थाने में बुलाया गया| पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है| एसडीएम बसंत कुमार ने बताया की लेखपाल को बुलाकर जाँच करायी जायेगी| इसके बाद आगे की कार्यवाही होगी|

अंग्रेजी शराब के चक्कर में पिला दी कांच

Comments Off on अंग्रेजी शराब के चक्कर में पिला दी कांच

Posted on : 15-08-2017 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(जहानगंज) थाना क्ष्रेत्र के कस्बा स्थित अंग्रेजी शराब के ठेके से शराब लेकर पीने से फल विक्रेता की हालत बिगड़ गयी| जब उसने चेकअप कराया तो पता चला उसके पेट में कांच है| जिससे उसके होश उड़ गये| उसने पुलिस को तहरीर दी|

गाँव महमदपुर अमलैया निवासी मनोज पुत्र रामचन्द्र फल बेचने का काम करता है| उसने पुलिस को दी गयी तहरीर में कहा है कि कस्बे के अंग्रेजी शराब के ठेके पर तैनात सेल्स मैंन ने उसे सस्ते के चक्कर में खुली हुई अंग्रेजी शराब दी| जिसको पीने के बाद से उसकी हालत खराब है| जब उसने पेट दर्द के चलते अल्ट्रासाउंड कराया तो पता चला की उसके पेट में कांच है|

पता लगने पर मनोज के होश उड़ गये| उसने थाने में शराब ठेके के खिलाफ तहरीर दी| थानाध्यक्ष संजय गुप्ता के अनुसार जाँच के बाद कार्यवाही होगी |

व्लाक प्रमुख ने मदरसे के बच्चो को दिलाई शपथ

Comments Off on व्लाक प्रमुख ने मदरसे के बच्चो को दिलाई शपथ

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: (कमालगंज) स्वतन्त्रता दिवस पर ध्वजारोहण के बाद विकास खंड क्षेत्र के व्लाक प्रमुख राशिद जमाल सिद्दीकी ने सभी बच्चो को शपथ भी दिलायी|

विकास खंड के ग्राम अलाउद्दीनपुर के मदरसा बदरूनिशा मेमोरियल एजुकेशन सेंटर पंहुचे व्लाक प्रमुख ने ध्वजारोहण कर राष्ट्रगान कराया और मदरसे के सभी बच्चो को शपथ दिलाकर उनका मार्गदर्शन किया| वही जरारी के मदरसा मेहदीहसन में प्रबन्धक हाजी समीद ने ध्वजारोहण किया|

प्राथमिक विधालय मिर्जानगला में खंड शिक्षा अधिकारी सुमित वर्मा ने हेडमास्टर रूचि वर्मा के हरी झंडी दिखाकर स्कूल चलो अभियान रैली को रवाना किया| वही सुमित वर्मा को जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार व सीडीओ अबिनाश कुमार व विधायको व सांसद ने शहर के ठंडी सड़क स्थित नव भारत सभा भवन में आयोजित जश्ने आजादी के सम्मानित भी किया गया|

प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपण

Comments Off on प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपण

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, कृषि, जिला प्रशासन

फ़र्रुख़ाबाद:(कम्पिल) जिलाधिकारी रविंद्र कुमार की पत्नी प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी दीक्षा भण्डारी ने स्वतंत्रता दिवस पर पौधारोपण कर लोगो को पौधा रोपण के लिये जागरूक किया|

कस्बा के रुदायन मार्ग पर वन विभाग के अफसरों ने पौधारोपण की तैयारी की| इसके साथ ही साथ मौके पर अन्य लोग भी एकत्रित हुये | दोपहर दीक्षा भंडारी रुदायन मार्ग पर अपने सरकारी अमले के साथ पंहुची और पौधारोपण किया|

प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी के आने से पूर्व ही कर्मचारियों ने पौधों के लिए गढ्ढा तैयार किया जिसमें जैविक खाद और दीमक रोधी कीटनाशक डाल कर तैयार किया गया। दीक्षा भंडारी ने बन विभाग के मौजूद प्रत्येक कर्मचारियों को पौधे रोपड़ करने के लिए कहा।

जरा याद करो कुर्बानी: अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ व दरोगा सहित पिपरगांव में गिरी थी चार लाशें

1

Posted on : 15-08-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, POLICE

फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला) 81 साल बाद आज भी गांव के लोग जब उस खून से लाल जमीन को याद करते है तो उनके रोगटे खड़े हो जाते है| गांव में जब भी ब्रिटिश हुकूमत की बात शुरू होती है तो लोग 1936 में गांव में हुए पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ की हत्या की घटना को याद कर बैठते है| आखिर क्या हुआ था उस दिन मोहम्दाबाद क्षेत्र के ग्राम पिपरगांव में अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ सहित चार की लाशें गिरा दी गयी| वही पूरे गांव को बम से उड़ाने का फरमान सुनाया गया| शायद चंद लोग ही इस घटना से परिचित होंगे|

15 अगस्त के चलते जेएनआई की टीम ने आप के जहन में इतिहास के पन्नो को छान कर जो जानकारी निकाली है वह बहुत दिलचस्प है| कई सबाल आप के मन में उठ रहे होंगे की पिपरगांव में किस ने एसपी व दरोगा की हत्या की थी? बात उन दिनों की है जब देश गुलामी की जंजीरों में जकड़ा था| पूरे देश में आजादी के लिए अलख जगायी जा रही थी| वही उसी दौरान मोहम्दाबाद क्षेत्र के ग्राम पिपरगांव में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ एक अलग ही चिंगारी भडक रही थी| इस चिंगारी का नाम था चिरौजीलाल पाल| चिरौजीउन दिनों सेना के जवान थे और सरहद पर तैनात थे| लेकिन लड़ाई के दौरान चिरौजी लाल के हाथ में दुश्मन की गोली लग गयी जिससे उन्हें सेना छोडनी पड़ी| सेना छोड़ कर वह अपने पिपरगांव में घर पर आ गये| चिरौजी लाल के चाचा रतिराम पाल उन दिनों हांकी के राष्ट्रीय टीम में कप्तान थे| वह भी गांव आये हुए थे|

4 मार्च 1936 का दिन था गांव का प्रतिएक व्यक्ति अपने अपने काम में लगा हुआ था| चिरौजी लाल पाल के खेत से अनाज कट रहा था| अनाज उनके चाचा का नौकर रामसिंह काट रहा था| कटे हुए अनाज को वह चिरौजी के घर ना ले जाकर उनके चाचा रतिराम के घर पर ले जाने लगा जिसका उन्होंने विरोध किया| विरोध की स्थित में चाचा और भतीजे में विवाद हो गया तो चिरौजी ने गुस्से में नौकर के गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी| अब तो आग में घी का काम करने वाली बात हो गयी रतिराम ने जब चिरौजी लाल को ललकारा तो बीच में गोली चलने के दौरान उनकी माँ आ गयी जिसे रतिराम की माँ को गोली लग गयी और रतिराम भी गम्भीर घायल हो गये|

घायल अवस्था में रतिराम तत्कालीन पुलिस अधीक्षक जीएस कोली के पास पंहुचे और मामले की जानकारी दी| शिकायत सुनते ही पुलिस अधीक्षक कोली खुद घटना पर पंहुचने के लिए निकला उसके साथ में दरोगा जयंतीप्रसाद भी था| पुलिस अधीक्षक लगभग शाम तकरीवन 6 बजे पिपरगांव पंहुचा और उसने चिरौजीलाल को जिंदा पकड़ने की योजना बनायी| तब तक अँधेरा हो चुका था| एसपी कोली ने चिरौजी को देखने के लिए टार्च जलायी तो रोशनी को देख कर चिरौजी ने पुलिस अधीक्षक कोली पर गोली चला दी| गोली चलाते समय चिरौजी लाल अपने मकान की छत पर खड़े थे फायरिंग की घटना में दरोगा जयंती प्रसाद को भी गोली से उड़ाया गया था|

कुल मिलकर चार लाशे गिर चुकी थी और गांव की गली में खून की नदिया वह रही थी| वही चिरौजी ने उसी दिन सुबह अपनी ही लाइसेंसी बंदूक से गोली मार कर मौत को गले लगा लिया वह अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ थे|घटना की जानकारी जब पुलिस अधीक्षक की पत्नियों को हुई कोली दो पत्नियाँ रखता था| तो एक पत्नी ने गांव को बम से उड़ा देने के आदेश जारी कर दिये लेकिन दूसरी पत्नी ने इस बात के लिए मना कर दिया की गलती पूरे गांव की नही है जिसने गलती की है वह मर चुका है जिसके बाद उस फरमान को खत्म कराया|

अंग्रेजी हुकूमत ने पुलिस अधीक्षक कोली व दरोगा जयंती प्रसाद की याद में एक कब्र गाँव में ही बना दी| तो वही दूसरी कब्र फतेहगढ़ सीओ के कार्यालय में पडोस में बने कब्रिस्तान में बनायी गयी| चिरौजी का परिवार अभी भी गांव में ही रह रहा है| कुछ लोगो ने अन्य जनपदों में नौकरी कर ली| लेकिन चिरौजी की यादे व गोलियों की गडगडाहट आज भी उनके मकान की कच्ची दीवारों में दफन है|

[bannergarden id="12"]