बीएसए का वेतन रोंकने के आदेश

0

फर्रूखाबाद: फतेहग्रढ स्थित कलेक्ट्रेट सभागार में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस (28 फरवरी) को सफल बनाने हेतु जिलाधिकारी प्रकाश बिन्दु की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी डा० राकेश कुमार ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 75 .6 प्रतिशत बच्चे वर्तमान में कृमि पीड़ित हैं । इसे समाप्त करने हेतु हमको सरकारी स्कूलों, प्राइवेट विद्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यमों से बच्चों को दवा खिलानी है। दवा अध्यापकों व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा अपने सामने खिलवाई जायेगी। बैठक में अनुपस्थित बीएसए संदीप चौधरी का वेतन रोंकने के आदेश डीएम ने दिये है|

मदरसों के बच्चों को भी यह दवा निःशुल्क दी जायेगी। वयस्क बच्चों को एल्बेन्डाजोल 400 मिग्रा० की खुराक दी जायेगी। सभी बच्चों को यह औषधि छः माह के अन्तराल पर अवश्य देनी चाहिये, ताकि वे स्वस्थ रहें, पोषित रहें और उनमें विटामिन ’’ए‘‘ की कमी न होने पाये। कार्यालय मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा नगर क्षेत्र के समस्त विद्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों को 80,903 गोलियां उपलब्ध करा दी गयीं हैं। छोटे बच्चे जो गोली नहीं निगल सकते, उन्हें यह गोली दो चम्मचों के मध्य रखकर पीसकर पानी के साथ देनी है। गोली खिलाने के परिणामस्वरूप कभी-कभी बच्चों में मामूली पाश्र्व प्रभाव दिख सकते हैं, जैसे:- जी मचलाना, खुजली व पेट दर्द आदि तो घबरायें नहीं। 108 व 102 पर फोन करके चिकित्सीय सहायता प्राप्त की जा सकती है।01 से 02 वर्ष तक के बच्चों को आधी गोली पीस कर देनी है। 02 वर्ष से अधिक व 19 वर्ष तक के बच्चों को पूरी गोली देनी होगी। यदि किसी कारणवश 28 फरवरी को न दे सकें तो 04 मार्च को भी बच्चों को दवा खिलाने का विकल्प उपलब्ध है। यह गोली सभी के लिये सुरक्षित है। 05 मार्च को शेष बची गोलियां सिविल चिकित्सालय, लिंजीगंज में जमा करा दें।

बैठक में एसीएमओ, सरकारी, गैर सरकारी विद्यालयों व मदरसों के प्रधानाचार्य आदि उपस्थित रहे। बैठक में अनुपस्थित बीएसए का वेतन रोकने व आवश्यक कार्यवाही करने के आदेश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-