Featured Posts

निकाय चुनाव: भाजपा में एक अनार, सौ बीमारनिकाय चुनाव: भाजपा में एक अनार, सौ बीमार फर्रुखाबाद : चुनावी दंगलों में विपक्षियों को चारों खाने चित करने वाली भारतीय जनता पार्टी की बम-बम है। यह बम-बम यूपी विधानसभा चुनाव में भगवा के सहारे चुनावी वैतरणी पार कर सूबे की सत्ता पर बैठने के बाद कई गुना बढ़ गयी| अब निकाय चुनाव होने है| जिसको लेकर पार्टी के पास एक लम्बी...

Read more

दीये बिक्री हो तभी तो मने अंशिका की दीवालीदीये बिक्री हो तभी तो मने अंशिका की दीवाली फर्रुखाबाद :(दीपक-शुक्ला)अब से ढाई दशक पहले दीपावली के त्योहार पर लोग मिट्टी के दीये से घर को रोशन करते थे लेकिन धीरे-धीरे इनका स्थान अब बिजली की झालरों और रंगबिरंगी मोमबत्तियों ने ले लिया है। जिसके चलते मिट्टी के दीये सगुन बनकर रह गये हैं। लोग पूजा पाठ में ही इनका प्रयोग...

Read more

दिग्गजों के वार्ड में 10 वर्षो से चुनाव हार रही बीजेपीदिग्गजों के वार्ड में 10 वर्षो से चुनाव हार रही बीजेपी फर्रुखाबाद:वर्षो से प्रदेश में बीजेपी की सरकार नही बनी| तो निकाय चुनाव में भी किसी ने कोई दमखम नही दिखाया| लेकिन अब केंद्र से लेकर प्रदेश की कुर्सी का भगवा करण होने के बाद बीजेपी के छोटे-बड़े सुरमा अपना दांव अजमाने में लगे है| जगह-जगह बैठके आयोजित हो रही है| बीजेपी वार्डो का...

Read more

प्रेम प्रसंग के शक में ग्रामीण की गोली मारकर हत्याप्रेम प्रसंग के शक में ग्रामीण की गोली मारकर हत्या फर्रुखाबाद: बीते कई वर्षो से विवाहिता से प्रेम प्रसंग के शक में विवाहिता के परिजनों ने ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी गयी| पुलिस ने घटना के बाद शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा दिया| मृतक के भाई ने घटना के सम्बन्ध में तहरीर दी| थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के ग्राम...

Read more

1,989 परीक्षार्थीयों ने किया टीईटी परीक्षा से किनारा1,989 परीक्षार्थीयों ने किया टीईटी परीक्षा से किनारा फर्रुखाबाद: रविवार को हुई टीईटी परीक्षा के लिये प्रशासन ने पूरी सख्ती दिखाई| जिससे परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से निकट गयी| लेकिन वही दोनों पालियों में 14 केंद्रों पर 11590 परीक्षार्थी परीक्षा मे से 1,989 परीक्षार्थीयों ने किनारा कर लिया| शिक्षक पात्रता परीक्षा(टीईटी) पहली पाली...

Read more

सोशल मिडिया को चुनावी हथियार बनायेगी बीजेपीसोशल मिडिया को चुनावी हथियार बनायेगी बीजेपी फर्रुखाबाद: आगामी निकाय चुनाव में बीजेपी ने सोशल मिडिया को हथियार बनाने का खका तैयार कर लिया है| इसके लिये बैठक कर दिशा निर्देश भी जारी किये गये है| नगर के सिकत्तरबाग में डॉ० महिपाल सिंह के विधालय में आयोजित आईटी विभाग की बैठक में जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा कि नगर निकाय...

Read more

आजीवन सदस्यता वाले ही कर सकेंगे सपा से दावेदारीआजीवन सदस्यता वाले ही कर सकेंगे सपा से दावेदारी फर्रुखाबाद: नगर पालिका अध्यक्ष की टिकट सामान्य होने के बाद से अब दावेदारों की एक लम्बी लिस्ट हर पार्टी के सामने आ गयी है| कुछ प्रत्यक्ष रूप से तो कुछ पर्दे के पीछे से अपनी राजनितिक शतरंज में गोट फिट करने में लग गये है| फ़िलहाल सपा ने आवेदन लेने भी शुरू कर दिये है| समाजवादी...

Read more

मासूम की मौत पर डॉ० भल्ला के खिलाफ मुकदमामासूम की मौत पर डॉ० भल्ला के खिलाफ मुकदमा फर्रुखाबाद: पैसे ना होने से बच्चे का उपचार ना करने से मासूम की मौत पर जिलाधिकारी मोनिका रानी ने सख्त कार्यवाही कर दी| उन्होंने जाँच के आदेश के साथ ही चिकित्सक भल्ला के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया| कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के ग्राम खिमसेपुर निवासी नन्हे लाल के 6 माह...

Read more

दो वर्षो में तीसरी बार बम से घटना को अंजाम देने की साजिशदो वर्षो में तीसरी बार बम से घटना को अंजाम देने की साजिश फर्रुखाबाद: जिले की सुरक्षा एजेंसी किस तरह से कार्य कर रही है| एलआईयू व स्वाट टीम किस पर शिकंजा कर रही है| जब दो वर्षो में तीसरी बार घटना को अंजाम देने की नाकाम शाजिश रची गयी| मजे की बात तो यह है कि पुलिस से लेकर एटीएस तक बम बरामद के मामले में जाँच पड़ताल कर चुकी है| लेकिन अभी तक...

Read more

सेंट लारेंस स्कूल के पीछे मिला संदिग्ध बमसेंट लारेंस स्कूल के पीछे मिला संदिग्ध बम फर्रुखाबाद: शहर में दीपावली के त्योहार को देखते हुये पुलिस जितनी अलर्ट है अपराधी उनसे एक कदम आगे नजर आ रहे है| जिसके चलते एक साजिश के तहत विधालय के पीछे बम मिलने से सनसनी फ़ैल गयी| मौके पर पुलिस ने पंहुचकर जाँच पड़ताल की| शहर कोतवाली क्षेत्र के श्याम नगर में सेंट् लारेन्स स्कूल...

Read more

चुनाव प्रचार से स्थानीय मुद्दे गायब, राष्ट्रीय मुद्दों के सहारे प्रत्याशी

1

Posted on : 07-02-2017 | By : पंकज दीक्षित | In : EDITORIALS, Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics

फर्रुखाबाद: लोकतंत्र बड़ा गजब की चीज है और नेता उसमें नायाब नमूना। जनपद में 70 प्रत्याशी मैदान में हैं, मगर कमाल की चीज यह है कि किसी के पास आम जनता से जुड़ा स्थानीय मुद्दा और विकास का कोई खाखा नहीं है। विधायक निधि से सड़कें और नाली बनवाने के अलावा अगर कोई विकास होता है तो वह विधायक निधि से बनने वाले निजी स्कूल है। नेता विधायक बन जाने के बाद विधायक निधि के इस्तेमाल के अलावा क्या करेगा इसका कोई जबाब किसी नेता के पास नहीं है।

पांच साल तक आम आदमी की जो रोजमर्रा की तकलीफें हैं और जिनके लिए आम आदमी को या तो दर-दर की ठोकर खानी पड़ती है या रिश्वत देकर के काम चलाना पड़ता है, उसके लिए नेताओं के पास कोई समाधान नहीं। कोटेदार का भ्रष्टाचार, पुलिस का उत्पीड़न, सरकारी सहायता पाने के लिए लेखपाल द्वारा जारी की जाने वाली रिपोर्ट, सरकारी इलाज या किसान के ट्यूववेल का कनेक्शन हो, बिना रिश्वत आम आदमी निजात पाता नहीं दिख रहा और किसी नेता के पास अपने चुनावी पिटारे में इसका समाधान भी नहीं।

वक्त के साथ चुनाव की तकरीरें भी बदलीं और जनता की उम्मीदें भी मगर नेताओं ने अपना चुनावी फार्मूला नहीं बदला। कितने प्रतिशत सवर्ण वोट, कितने प्रतिशत ठाकुर, कितने प्रतिशत मुसलमान, कितने प्रतिशत दलित कुल मिलाकर मामला जातियों की गिनती लगाने में ही सिमट गया है। फर्रुखाबाद जनपद की चारों सीटों पर चुनाव लड़ रहे प्रमुख दलों के एक दर्जन प्रत्याशी भी इसी जमात में शामिल हैं। किसी ने रोजगार दिलाने के लिए स्थानीय तौर पर कोई कारखाना लगाने की बात नहीं की, उसके विधायक बनने पर कोटेदार ब्लैक में राशन बेचने की जगह आम जनता को ईमानदारी से बांट देगा ऐसा भी कोई वादा नहीं कर रहा और किसान को उसकी फसल के नुकसान होने पर लेखपाल बिना रिश्वत लिये मुआवजे के लिए रिपोर्ट लगा देगा ऐसी भी तकरीर एक भी नेता ने नहीं की है। कुल मिलाकर लब्बो लबाब यह है कि नेता भ्रष्टाचार के साथ है, अपराधियों को शरण दे रहा है और जनता को बेबकूफ बना रहा है। वरना राष्ट्रीय भ्रष्टाचार की जगह स्थानीय भ्रष्टाचार की चर्चा करता।

जागरूकता के दौर में अगर नेता जनता को बेबकूफ समझ रहा है तो वह उसकी सबसे बड़ी भूल होगी। 100-50 मोबाइल नम्बर जोड़कर व्हाट्सअप ग्रुप पर नेताओं की बम-बम वाली तस्वीरें खूब फायर हो रहीं हैं। मगर आम जनता में चर्चा नेताओं की उदासीनता, बेरुखी और मतलबीपन की ही हो रहीं हैं। वर्ष 2017 का चुनाव कई मायनों में इतिहास बनाने वाला है। जनता फोकट के चुनावी वादों से प्रभावित होती नहीं दिखायी पड़ रही है। सरकार बनने के बाद मुफ्त में मिलने वाले एक जीबी इंटरनेट या स्मार्टफोन की चर्चा बाजार में उतनी नहीं है जितनी कि मुफ्त बंटने वाले सामान के बजट पर आने वाले खर्च की है। क्योंकि नेता अपनी जेब से चुनावी वादे पूरा करने नहीं जा रहा जेब आयकरदाता की ही कटने वाली ही है।

भोजपुर विधानसभा में उमेश यादव ने सपा के वोटरों पर डाली कटिया

Comments Off on भोजपुर विधानसभा में उमेश यादव ने सपा के वोटरों पर डाली कटिया

Posted on : 07-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BSP

फर्रुखाबाद: (कमालगंज) ज्यों-ज्यों मतदान की तारीखें करीब आ रहीं हैं, चुनाव रोचक हो चला है। समाजवादी पार्टी में राष्ट्रीय स्तर पर चली बाप बेटे की जंग में पार्टी में दो फाड़ अब मैदान पर दिखने लगे हैं। भले ही सपा के राष्ट्रीय सचिव और संरक्षक पार्टी में सब कुछ ठीक होने का दावा करें, लेकिन कार्यकर्ता और समर्थक चुनाव में अलग-अलग प्रत्याशियों को चुनाव लड़ा रहे हैं।

भोजपुर विधानसभा में निर्दलीय पर्चा दाखिल कर जिला पंचायत सदस्य उमेश यादव मुलायम सिंह की तस्वीर वाला पोस्टर लगाये घूम रहे हैं। वहीं वर्तमान सपा विधायक से नाराज मतदाता भी उमेश यादव की भीड़ बढ़ा रहा है। कभी सपा के समर्थक रहे और सुबोध यादव के खास उमेश यादव साइकिल में हवा भरा करते थे। वही उमेश यादव आज साइकिल की हवा निकाल अपने लिये वोट मांग रहे हैं।

उमेश ने कस्बा कमालगंज में मंगलवार को जुलूस की शक्ल में जनसम्पर्क किया। ठीक ठाक भीड़ के साथ हुए उमेश के जनसम्पर्क ने सपा प्रत्याशी के लिए कुछ मुश्किलें जरूर खड़ी की होंगीं। सपा विधायक के कई नाराज समर्थक उमेश के जुलुस में फोटो खीचते समय मुह छिपाते नजर आये| उमेश के जुलूस में मुख्य रूप से प्रमोद यादव प्रधान, फीरोज खां प्रधान, असद ठेकेदार , प्रधान विनोद यादव, हाफिज, रिहान, खालिद सिद्दीकी अपने समर्थकों के साथ मौजूद रहे।

मां रसोई में उड़नदस्ता प्रभारी के सामने मनोज समर्थकों की नारेबाजी

Comments Off on मां रसोई में उड़नदस्ता प्रभारी के सामने मनोज समर्थकों की नारेबाजी

Posted on : 07-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics

फर्रुखाबाद: निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रशासन द्वारा निर्दलीय प्रत्याशी मनोज अग्रवाल की मां रसोई को बंद कराने के आदेश बीते दिनों दे दिये गये थे। जिसके बाद भी मंगलवार को मां रसोई के संचालन की सूचना पर पहुंचे उड़नदस्ता प्रभारी के सामने मनोज समर्थकों ने नारेबाजी कर दी। मामले पर भारी पुलिस बल पहुंचा।

उड़नदस्ता प्रभारी मनोज मिश्रा मंगलवार शाम मां रसोई के संचालन को बंद कराने पहुंचे। उन्होंने मां रसोई के संचालन में अधिकारियों के आदेश को दिखाने को कहा। जिसे मौके पर मौजूद कर्मचारी मधूपाल सिंह व संजय नहीं जुटा पाये। उल्टा उड़नदस्ता प्रभारी से विवाद कर दिया और उड़नदस्ता प्रभारी के सामने ही उन्होंने खाना खिलाने का फरमान भी जारी कर दिया। जिस पर अधिकारियों को सूचना दी गयी। सूचना मिलने पर सीओ सिटी आलोक कुमार, कोतवाल डी के सिंह कई चौकी इंचार्जों के साथ मौके पर पहुंच गये। इससे पूर्व कुछ लोगों ने नारेबाजी भी कर दी। जिस पर पुलिस ने सभी को खदेड़ दिया। उड़नदस्ता प्रभारी मनोज मिश्रा ने जेएनआई को बताया कि रसोई को चुनाव तक सील कर दिया जायेगा और चुनाव आयोग का निर्देश न मानने के मामले में मुकदमा दर्ज किया जायेगा। वही पुलिस ने दो को हिरासत में लिया है| वही उड़नदस्ता प्रभारी ने कोतवाली में रसोई संचालको के खिलाफ तहरीर दी|

गरीब बच्चों के अारटीई दाखिले अब ऑनलाइन लॉटरी से

Comments Off on गरीब बच्चों के अारटीई दाखिले अब ऑनलाइन लॉटरी से

Posted on : 07-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, RTE, हमारे स्‍कूल

लखनऊ शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत अगले सत्र से निजी स्कूलों में गरीब और अलाभित समूह के बच्चों के दाखिले की प्रक्रिया को सरकार ऑनलाइन करने का निर्णय कर चुकी है। दाखिले के लिए गरीब बच्चों को निजी स्कूलों का आवंटन जिला सतर पर केंद्रीयकृत लॉटरी के आधार पर किया जाएगा। सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय ने राज्य सूचना विज्ञान केंद्र को इसके लिए आवश्यक कार्यवाही करने के लिए पत्र भेजा है जिसकी प्रतिलिपि सभी जिलाधिकारियों, बेसिक शिक्षा निदेशक, सभी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशकों को भेजी गई है।

लॉटरी प्रक्रिया के तहत प्रत्येक अभ्यर्थी को एक रैंडम लॉटरी नंबर आवंटित किया जाएगा। लॉटरी नंबर के आरोही क्रम में प्रत्येक अभ्यर्थी को उसकी वरीयता के आधार पर स्कूल का आवंटन किया जाएगा। स्कूलों को रजिस्टर्ड ई-मेल के जरिये बच्चों की सूची भेजी जाएगी। पोर्टल पर स्कूल अपना नाम व उसमें प्रवेश लेने वाले बच्चों की सूची प्राप्त कर सकता है। लॉटरी के बाद चयनित व निरस्त अभ्यर्थियों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से सूचना दी जाएगी। लॉटरी की तारीख को लॉटरी संचालित करने की पूरी प्रक्रिया जिलाधिकारी द्वारा पोर्टल पर लॉगिन के माध्यम से की जाएगी।

अभिभावकों द्वारा बच्चों के प्रवेश के लिए किये गए आवेदनों में से ऐसे आवेदन पत्र जिनमे पहली अप्रैल को बच्चों की आयु तीन वर्ष से अधिक और छह साल से कम है, ऐसे बच्चों का नामांकन संबंधित स्कूल द्वारा पूर्व प्राथमिक कक्षाओं में किया जाएगा। बशर्ते उस स्कूल में पूर्व प्राथमिक कक्षाएं चल रही हों। ऐसे बच्चे जिनकी आयु पहली अप्रैल को छह साल से अधिक और सात वर्ष से कम है, ऐसे बच्चों का नामांकन कक्षा एक में किया जाएगा। एनआइसी हर स्कूल को एक लॉगिन आइडी और पासवर्ड देगा जिसकी सूचना बीएसए संबंधित सकूल को देंगे। अभ्यर्थी के स्कूल में प्रवेश की प्रक्रिया के समय स्कूल द्वारा पोर्टल पर लॉगिन कर अभ्यर्थी का आवेदन नंबर दर्ज किया जाएगा जिसकी सूचना वन टाइम पासवर्ड या एसएमएस के जरिये रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजी जाएगी। अभ्यर्थी वन टाइम पासवर्ड या एसएमएस को स्कूल में दिखाकर उसके प्रवेश की प्रक्रिया पूरी करेंगे। अभ्यर्थी से जुड़े सभी अभिलेख वेब पोर्टल पर डाउनलोड किया जाएगा। दाखिले की प्रक्रिया पूरी होने के बाद स्कूलवार प्रवेश की स्थिति पोर्टल पर प्रदर्शित की जाएगी। यदि किसी कारणवश स्कूल अभ्यर्थी को दाखिला नहीं देता है तो प्रधानाचार्य को उसका स्पष्ट कारण वेबपोर्टल पर सूचित करना होगा।

वेब पोर्टल पर करना होगा आवेदन
निजी स्कूलों में अपने बच्चों के प्रवेश के लिए अभिभावकों को वेब पोर्टल पर उपलब्ध ई-फार्म के माध्यम से आवेदन करना होगा। ई-फार्म में अभिभावक वरीयता क्रम में आसपड़ोस के स्कूलों का विकल्प भरेंगे।

ऑफलाइन आवेदन का विकल्प भी : अभिभावकों को ऑनलाइन आवेदन के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा लेकिन यदि किन्हीं कारणों से वे ऑफलाइन आवेदन करते हैं तो ऐसे आवेदनों को संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से सत्यापित कराकर वेब पोर्टल पर अपलोड कराने की जिम्मेदारी बीएसए की होगी।

नोटबंदी से भी बड़ा फैसला लेने के मूड में पीएम मोदी

1

Posted on : 07-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए एक बार फिरलोकसभा और विधानसभाओं का चुनाव एक साथ कराने पर सभी राजनीतिक दलों से चर्चा करने का अपील किया है. पीएम ने कहा कि चुनावों की वजह से भारत जैसे गरीब देश पर आर्थिक बोझ बढ़ता है और सुरक्षा बलों का दायित्व भी बढ़ जाता है, इसलिए सभी को इस विषय पर विचार करना चाहिए.

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति जी ने हम सबसे आहवान किया है कि लोकसभा, विधानसभा चुनाव को एक साथ कराने पर विचार करने का समय आ गया है. ‘‘ हर किसी को थोड़ा नुकसान होगा. लेकिन राजनीतिक तराजू पर नहीं तौल गंभीरता से सभी को सोचना होगा.’’ मोदी ने कहा कि हर साल 4-5 चुनाव होते हैं. अध्यापकों को लगना पड़ता है. शिक्षा को नुकसान होता है. खर्च भी बढ़ रहा है. 2009 के लोकसभा चुनाव में 1100 करोड़ रपये खर्च हुआ था जबकि 2014 में 4000 करोड़ से ज्यादा खर्च हुए.

उन्होंने कहा कि इस गरीब देश पर कितना बोझ पड़ रहा है. दुश्मन देश हमारे खिलाफ साजिश करते रहते हैं, इसके साथ आतंकवाद, प्राकृतिक आपदाओं के कारण सुरक्षा बलों के सामने चुनौती है. इस स्थिति में भी इन बलों को चुनाव प्रबंधन में बड़े स्तर पर लगाना पड़ रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘कोई एक पार्टी ऐसा नहीं कर सकती, सरकार तो कर ही नहीं सकती. हमें मिलकर रास्ता खोजना होगा. दिव्यदृष्टा के रूप में जिम्मेदार, अनुभवी लोगों को रास्ता खोजना होगा.’’ उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के इस सुझाव को आगे बढ़ाना चाहिए.

[bannergarden id="12"]