Featured Posts

बहुत जल्द कुछ लोगो को जेल भेजने की तैयारी: धर्मपाल सिंहबहुत जल्द कुछ लोगो को जेल भेजने की तैयारी: धर्मपाल सिंह फर्रुखाबाद: जिले में आये प्रदेश सरकार के सिचाई मंत्री ने योगी सरकार की मंशा को साफ़ किया और कहा कि योगी सरकार जल्द से जल्द माफिया मुक्त शासन देगी| जो लोग जादा अराजकता फैला रहे है उनकी जगह बहुत जल्द जेल में होगी| उन्होंने इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी व एसपी को निर्देश भी दे दिये...

Read more

सांसद मुकेश पर लगा महिला को बहला-फुसलाकर शादी करने का आरोपसांसद मुकेश पर लगा महिला को बहला-फुसलाकर शादी करने का आरोप फर्रुखाबाद: शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला लिंजीगंज निवासी एक युवक ने सांसद मुकेश राजपूत पर बीते दस वर्ष पूर्व उसकी पत्नी को बहला-फुसला कर विवाह कर लेने का आरोप लगाया और अफसरों से लिखित में शिकायत की| पीड़ित ने डीएनए टेस्ट कराये जाने की मांग भी की है| वही सांसद ने पूरे मामले...

Read more

राजकुमारी के विरोध में ज्ञानदेवी ने किया नामांकनराजकुमारी के विरोध में ज्ञानदेवी ने किया नामांकन फर्रुखाबाद: बीजेपी सांसद मुकेश राजपूत के चालक कल्लू कठेरिया की पत्नी राजकुमारी से पहले सपा समर्थित ज्ञानदेवी कठेरिया ने अपना नामांकन दाखिल कर दिया| जिससे अब दोनों में कांटे की टक्कर होने की सम्भावना बन गयी है| जिलाधिकारी न्यायालय में सपा प्रत्याशी ज्ञानदेवी के साथ...

Read more

दिल्ली के कारीगरों ने शिव को दिया बाबा बर्फानी का रूपदिल्ली के कारीगरों ने शिव को दिया बाबा बर्फानी का रूप फर्रुखाबाद:(कंपिल) देश-विदेश में अपने पौराणिक इतिहास के लिये जाना जाने वाला कंपिल नगर भगबान कृष्ण के जन्मोत्सव पर दुल्हन के रूप में नजर आया| जंहा मन्दिरो की विभिन्य मूर्तियों का विशेश श्रंगार किया गया| जिसको देखने के लिये दूर-दराज से भीड़ उमड़ी| बीते मंगलवार को श्रीकृष्ण...

Read more

प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपणप्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने किया पौधारोपण फ़र्रुख़ाबाद:(कम्पिल) जिलाधिकारी रविंद्र कुमार की पत्नी प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी दीक्षा भण्डारी ने स्वतंत्रता दिवस पर पौधारोपण कर लोगो को पौधा रोपण के लिये जागरूक किया| कस्बा के रुदायन मार्ग पर वन विभाग के अफसरों ने पौधारोपण की तैयारी की| इसके साथ ही साथ मौके पर...

Read more

जरा याद करो कुर्बानी: अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ व दरोगा सहित पिपरगांव में गिरी थी चार लाशेंजरा याद करो कुर्बानी: अंग्रेज पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ व दरोगा... फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला) 81 साल बाद आज भी गांव के लोग जब उस खून से लाल जमीन को याद करते है तो उनके रोगटे खड़े हो जाते है| गांव में जब भी ब्रिटिश हुकूमत की बात शुरू होती है तो लोग 1936 में गांव में हुए पुलिस अधीक्षक फतेहगढ़ की हत्या की घटना को याद कर बैठते है| आखिर क्या हुआ था उस दिन मोहम्दाबाद...

Read more

अविश्वास प्रस्ताव में चली गयी सगुना की कुर्सीअविश्वास प्रस्ताव में चली गयी सगुना की कुर्सी फर्रुखाबाद: जिला पंचायत अध्यक्ष सगुना देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आने के बाद गुरुवार को एक बजे तक 21 जिला पंचायत सदस्यों ने अपना अविश्वास सगुना देवी में दिखा दिया| सगुना के पक्ष वाले 8 जिला पंचायत सदस्य उनके पक्ष में हाथ उठाने नही पंहुचे| अविश्वास लाने वाले जिला पंचायत...

Read more

राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा दर्जराजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा... फर्रुखाबाद: ब्लाक प्रमुखी में अविश्वास प्रस्ताव लाने के प्रयास में लगे बीजेपी नेता को धमकाने के मामले में पुलिस ने राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव व उनके 26 साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं बीजेपी नेता को पुलिस सुरक्षा दी गयी है। थाना क्षेत्र के...

Read more

अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत, सगुना ही रहेगी अध्यक्षा!अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत,... फर्रुखाबाद: जिला पंचायत में अध्यक्षा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव बड़े ही ढोल पीट कर दे दिया गया है| मगर अगर अविश्वास प्रस्ताव आ गया तो अगला अध्यक्ष कौन बनेगा? अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित सीट है और दावेदार केवल पांच| एक वर्तमान में अध्यक्षा है और बाकी के चार के लिए...

Read more

आप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज फैसला, पूरे यूपी में मचा तहलकाआप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज... लखनऊ : उत्तर प्रदेश को अब उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं रोक सकता, ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ऐसा तो आप खुद कहेंगे इस बेहद सनसनीखेज खबर को पढ़ने के बाद. सीएम योगी प्रदेश में कानूनों का सही तरीके से पालन हो इसके लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं और अब इसी सिलसिले में योगी सरकार...

Read more

सीसीटीवी कैमरों की जद में रहेंगे पुलिस के सभी नाके

Comments Off on सीसीटीवी कैमरों की जद में रहेंगे पुलिस के सभी नाके

Posted on : 04-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को आदेश जारी कर सभी चेकपोस्टों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाने का आदेश जारी किया है।

19 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग और जिला प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था और चाक चौबंध करने का मन बना लिया है। हर आने जाने वाले की गतिविधि पर नजर रखी जाये, इसकी अचूक व्यवस्था की गयी है। जिसके अन्तर्गत जिला निर्वाचन अधिकारी प्रकाश बिन्दु ने शीघ्र सीसीटीवी कैमरे लगाया जाना सुनिश्चित करने के आदेश जारी किये हैं। जिससे जनपद में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति व वाहन की निगरानी की जा सके।

मोतीलाल बोरा व शीला दीक्षित ने फोन पर बंधाया ढांढस

Comments Off on मोतीलाल बोरा व शीला दीक्षित ने फोन पर बंधाया ढांढस

Posted on : 04-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद: पूर्व विधायक विमल प्रसाद तिवारी के पुत्र अखिलेश तिवारी उर्फ अक्कू के निधन पर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित व कांग्रेस के कोषाध्यक्ष मोतीलाल बोरा सहित कई बड़ी हस्तियों ने फोन पर संवेदना व्यक्त की है।

अक्कू तिवारी के भाई आदेश तिवारी ने बताया कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने उनकी मां शांती देवी तिवारी से दूरभाष पर बात कर संवेदना व्यक्त की। वहीं पूर्व केन्द्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद भी उनके आवास पहुंचीं और परिजनों से भेंट कर ढांढस बंधाया। कांग्रेस के कोषाध्यक्ष मोतीलाल बोरा ने भी आदेश तिवारी को दूरभाष पर अपनी संवेदनायें व्यक्त की हैं।

प्रचार सामिग्री मिलने पर बीजेपी प्रत्याशी की स्कार्पियो सीज, मुकदमा

Comments Off on प्रचार सामिग्री मिलने पर बीजेपी प्रत्याशी की स्कार्पियो सीज, मुकदमा

Posted on : 04-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: अमृतपुर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी पूर्व विधायक सुशील शाक्य की सचल दल टीम ने स्कार्पियो में भरी प्रचार सामिग्री जब्त कर ली और उनकी गाड़ी को सीज कर दिया।

कायमगंज मार्ग पर सचल दल में शामिल दरोगा रामरतन सिंह तलाशी ले रहे थे। तभी बीजेपी प्रत्याशी सुशील शाक्य की स्कार्पियो गाड़ी को उन्होंने रोका। चालक जनपद शाहजहांपुर के मिर्जापुर दरियावगंज निवासी प्रेमपाल सिंह से पुलिस ने पूछताछ की। गाड़ी से भाजपा प्रत्याशी के पोस्टर, पम्पलेट बरामद किये। इसके बाद गाड़ी को सीज कर दिया गया। सचल दल प्रभारी भुवनेश्वर कुमार ने बताया कि स्कार्पियो चालक प्रचार सामिग्री के अलावा कोई भी अभिलेख नहीं दिखा सका। जिसे आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में मुकदमा दर्ज कर स्कार्पियो सीज कर दी गयी।

बताते चलें कि बीते 9 जनवरी को कोतवाली फतेहगढ़ पुलिस के साथ सीओ सिटी आलोक कुमार और एसडीएम सदर सुरेन्द्र सिंह ने सुशील शाक्य की स्कार्पियो से प्रचार सामिग्री बरामद कर उसे सीज किया गया था।

टिकट न मिलने से खफा सर्वेश भी बीजेपी छोड़ सपा में शामिल

Comments Off on टिकट न मिलने से खफा सर्वेश भी बीजेपी छोड़ सपा में शामिल

Posted on : 04-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP, Politics-BSP

फर्रुखाबाद: बसपा में दर्जा प्राप्त मंत्री रहे सर्वेश अम्बेडकर ने बीते कुछ माह पूर्व ही अपने घर की छत पर बीजेपी का झण्डा लगाया था। मन में बीजेपी से टिकट मिलने की लालसा थी। बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही सर्वेश अम्बेडकर पार्टी के कार्यों को छोड़कर सिर्फ टिकट की जुगत में लगे रहे। लेकिन जब उन्हें टिकट नहीं मिला तो उन्होंने भी बीजेपी से किनारा कर सीएम अखिलेश यादव का हाथ थाम लिया।

सर्वेश अम्बेडकर ने फोन पर जेएनआई को बताया कि उन्हें बीजेपी में टिकट देने की बात कहकर पार्टी के नेताओं ने शामिल कराया था। उनका काफी पैसा पार्टी के प्रचार और नेताओं की आवभगत में खर्च हो गया। लेकिन अंततः उन्हें टिकट नहीं मिला। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी कन्फ्यूज्ड लोगों का जमावड़ा है। बीजेपी में लोगों को मूर्ख बनाने की फैक्ट्री चलती है। एक बार मोदी के नाम पर काठ की हांड़ी देश की जनता ने चढ़ा दी। लेकिन अब जनता जाग गयी है।

उन्होंने कहा कि उनकी सीएम अखिलेश यादव से बात हो गयी है। उन्होंने शनिवार को औरैया में पत्नी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष कन्नौज मुन्नी देवी अम्बेडकर के साथ सपा का दामन थाम लिया है। बीजेपी हिन्दुत्व की बात करती है। बीजेपी का मानना है कि जो बीजेपी में है वही हिन्दू है और जो बीजेपी में नहीं वह पाकिस्तानी है। बीजेपी दलित आरक्षण की दुश्मन है, इसलिए उन्होंने बीजेपी को छोड़कर सपा का दामन थामा है।

वहीं कायमगंज विधानसभा से बीजेपी की टिकट पाने की जुगत करती रहीं डा0 सुरभी दोहरे गंगवार को भी बीजेपी से टिकट नहीं मिला था तो उन्होंने बीजेपी को छोड़कर सपा से टिकट हासिल कर लिया।

मेरठ की जमीन से मोदी ने आखिर किस स्कैम का खुलासा किया…

Comments Off on मेरठ की जमीन से मोदी ने आखिर किस स्कैम का खुलासा किया…

Posted on : 04-02-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

दिल्ली : मेरठ की सरजमीं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक स्कैम (SCAM) का जिक्र किया. यूपी में पहले चरण के चुनाव की तारीख 11 फरवरी है. ठीक एक हफ्ते पहले पीएम मोदी द्वारा उठाए गए इस स्कैम की हर ओर चर्चा है. दरअसल इस स्कैम की रणनीति बीजेपी के वॉर रूम में पहले ही तय हो गई थी.

दरअसल भारतीय जनता पार्टी यूपी चुनाव में आगे का चुनाव प्रचार कैसे करे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैसे और किस मुद्दे पर चुनावी रैलियों को संबोधित करें, इसको लेकर पार्टी के कैंपेन मैनेजरों ने नया फॉर्मूला तैयार किया है. चुनावी रणनीति पर पार्टी की बैठक में ये तय किया गया है कि पीएम मोदी का चुनावी रथ अब बीजेपी बनाम स्कैम (SCAM) के फॉर्मूले पर चलाया जाना चाहिए.

पीएम मोदी ने स्कैम (SCAM) का खुलासा कुछ इस तरह किया. S यानी समाजवादी, C यानी कांग्रेस, A यानी अजित और M यानी मायावती. इस तरह के फॉर्मूले के पीछे का तर्क ये दिया गया है कि बीजेपी ने 2014 लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में जो मजबूत जनाधार प्राप्त किया था उसे न खोया जाए. पार्टी किसी भी सूरत में चुनाव की मुख्य धुरी से हटना नहीं चाहेगी.

अगर 1989 से देश के इस महत्वपूर्ण राजनीतिक राज्य पर नजर डालें तो पाएंगे कि यहां कभी भी राष्ट्रीय राजनीति का प्रभाव नहीं देखा गया. यहां मायावती और मुलायम सिंह यादव की पार्टियों ने देश की अहम पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस को मजबूत अंतर से पीछे रखा है. हालांकि 2014 के लोकसभा चुनाव में राजनीति के इस दुर्भाग्य को मोदी के जादू ने तोड़ा.

ये पहली बार है जब राज्य में सामाजिक और ऐतिहासिक रूप से बेमेल पार्टियों कांग्रेस और सपा के बीच गठबंधन हुआ है. इसका मकसद है बीजेपी को हराना. इसमें राहुल गांधी और यूपी सीएम अखिलेश के साथ आने का मुख्य मकसद मुस्लिम वोटरों को एक साथ वोट में अपने पक्ष में बदलना है.

इन सबके बीच सबसे ज्यादा जिज्ञासा का विषय है कांग्रेस के राजनीतिक चाल पर नजर. शायद राहुल गांधी के लिए यूपी ही इकलौता राज्य है जहां वह सबसे ज्यादा मेहनत करते हैं. उनका मकसद रहता है खुद को नेहरू—गांधी के वंशज के रूप में योग्य साबित करना. 2009 के लोकसभा चुनाव में जब कांग्रेस सिर्फ 21 सीटें ही जीती थी तब लोगों को लगा था कि शायद अगले चुनाव में पार्टी फिर वापसी करे. पर ऐसा नहीं हुआ, 2012 विधानसभा चुनाव और 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का आकार और छोटा हो गया. इसीलिए 2017 के चुनाव में कांग्रेस ने खुद को राष्ट्रीय पार्टी के तौर पर कद बढ़ाने के लिए अखिलेश यादव के सहारे चुनावी दंगल में ताल ठोंका है.

अगर इतिहास पर नजर डालें तो देखेंगे कि सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव हमेशा से कांग्रेस विरोधी रहे हैं. इस तरह ये देखना दिलचस्प होगा कि अब सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन का भविष्य कैसा होगा. उदाहरण के तौर पर यादवों का स्थानीय निकाय चुनाव में दबदबा. इसी तरह नौकरशाही समेत प्रदेश के तमाम बड़े पदों पर यादवों की नियुक्ति. पूरे प्रदेश में तमाम महत्वपूर्ण पुलिस स्टेशनों पर यादव जाति के लोगों की तैनाती और बड़ी संख्या में भर्ती.

[bannergarden id="12"]