Featured Posts

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रामाटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर...

Read more

छुट्टी लेने पर शिक्षक को मिलेगा एक सीरियल नंबर, नहीं चलेगी हवाबाजी

Comments Off on छुट्टी लेने पर शिक्षक को मिलेगा एक सीरियल नंबर, नहीं चलेगी हवाबाजी

Posted on : 27-12-2015 | By : पंकज दीक्षित | In : EDUCATION NEWS, FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: हेल्पलाइन नंबर पर अपनी छुट्टी दर्ज कराने की तैयारी के साथ विभाग ने ऐसी व्यवस्था की है कि कोई भी शिक्षक झूठ नहीं बोल सके। हेल्पलाइन नंबर पर फोन करने के बाद में शिक्षक को दफ्तर से एक सीरियल नंबर भी बताया जाएगा, जिस सीरियल पर शिक्षकों की छुट्टी दर्ज होगी। यह व्यवस्था इसलिए की गई है ताकि बाद में कोई शिक्षक यह नहीं कह पाए कि हमने तो फोन किया था, लेकिन दफ्तर में कर्मचारी छुट्टी दर्ज करना भूल गए होंगे।

इस नई व्यवस्था के तहत शिक्षक अगर किसी कारणवश स्कूल में नहीं जा पा रहे हैं तो उन्हें सुबह नौ बजे से दस बजे के बीच में अपनी छुट्टी बीएसए दफ्तर में दर्ज करानी पड़ेगी। सिर्फ इन्हीं शिक्षकों की छुट्टी मानी जाएगी जो शिक्षक छुट्टी दर्ज कराएंगे। अन्यथा में उन पर विभाग कार्रवाई करेगा। विभाग द्वारा यह व्यवस्था उन शिक्षकों पर शिकंजा कसने के लिए की जा रही है जो स्कूल में नहीं आते हैं तथा निरीक्षण के दौरान खुलासा होने पर छुट्टी की आड़ में बच जाते हैं। ऐसे में विभाग ने एक जनवरी से हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। इस पर एक कर्मचारी की सुबह तैनाती रहेगी। नौ से दस बजे तक छुट्टी दर्ज होगी। बीएसए बालमुकुंद प्रसाद ने कहा शिक्षक छुट्टी एवं अपनी समस्याओं को शिक्षक हेल्प लाइन नंबर पर दर्ज कराएं तथा जनता स्कूल से जुड़ी समस्याएं पब्लिक हेल्प लाइन नंबर पर दर्ज कराए।

[bannergarden id="12"]