Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

आखिर सैफई पहुंचे अखिलेश यादव

Comments Off on आखिर सैफई पहुंचे अखिलेश यादव

Posted on : 31-12-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa

JAIPUR, INDIA - SEPTEMBER 25: Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav at the National Convention of All India Yuva Yadav Mahasabha, at Birla Auditorium, on September 25, 2015 in Jaipur, India. Yadav called upon youth that if they want "quota" in jobs then demand it with etiquette so that no one can raise finger. (Photo by Himanshu Vyas/Hindustan Times via Getty Images)लखनऊ. बीते 4 दिनों से चल रहे सैफई महोत्सव में आखिरकार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज पहुचे. अखिलेश को सैफई महोत्सव का उद्घाटन करना था मगर उनके ऐन वक्त पर वहां न पहुँचने से सियासी हलको में कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए थे.

26 दिसंबर से शुरू हुए सैफई महोत्सव को समाजवादी पार्टी के मुखिया के पारिवारिक उत्सव के रूप में हमेशा से देखा जाता रहा है. जब पार्टी सत्ता में होती है तब यह महोत्सव और भी शबाब पर होता है. इसकी भव्यता ने कई बार सरकार को आलोचना के कटघरे में भी खड़ा किया है. मगर इस बार सैफई महोत्सव दूसरी वजहों से चर्चा में आ गया.दरअसल 26 दिसंबर से शुरू होने वाले इस आयोजन से ठीक एक दिन पहले अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले आनंद भदौरिया और सुनील सिंह साजन को मुलायम सिंह ने सीधे पार्टी से बर्खास्त कर दिया था| सपा सुप्रीमो के इस अचानक लिए फैसले से अखिलेश यादव को धक्का लगा. भदौरिया और साजन अखिलेश के करीबिओं में शुमार होते हैं. इन पर पंचायत चुनावो में मुलायम द्वारा तय किए गए अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों के विरोध की खबरे मुलायम सिंह तक पहुची थी.

इसके बाद ही अखिलेश ने सैफई न जाने का फैसला किया. जब उद्घाटन में अखिलेश नहीं पहुचे तब समाजवादी परिवार में अंतर्कलह की चर्चा शुरू हो गयी|. अखिलेश दुसरे दिन भी सैफई से दूर रहे. इसके बाद आयोजन के कर्ता धर्ता सांसद धर्मेन्द्र यादव और तेज प्रताप यादव लखनऊ पहुँच गए फिर शिवपाल सिंह यादव के साथ वे अखिलेश से मिलने गए| .लम्बी चर्चा के बाद भी अखिलेश ने अपनी दूरी बनाये रखी|. फिर यह कयास लगाया गया की मुख्यमंत्री अपनी आगरा यात्रा के बाद सैफई पहुंचेंगे मगर अखिलेश आगरा से सीधे लखनऊ चले आये.इस बीच सपा में विधायक रूचि वीरा सहित कई बड़े नेताओं को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया. सता संतुलन की कवायद चलती रही और आज अंततः अखिलेश यादव सैफई पहुंचे.

अखिलेश के आज सैफई पहुचने के बाद अब तक बेरौनक दिखाई दे रहे सैफई महोत्सव में कुछ जान आने की संभावना है. मगर जानकारों का कहना है की अखिलेश इस साल सैफई महोस्तव से दूरी बनाये रहेंगे जिससे उनके आलोचकों को मौका न मिल सके.

जानलेवा हमले के तीन को पुलिस ने दबोचा

Comments Off on जानलेवा हमले के तीन को पुलिस ने दबोचा

Posted on : 31-12-2015 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

mnni gihar, rtan, stish mhrupur raavi kamalgnjफर्रुखाबाद: (कमालगंज) पुलिस पर जान लेवा हमले के आरोप में तीन लोगो को तमंचा कारतूस सहित गिरफ्तार किया गया है|

पुलिस ने थाना क्षेत्र के ग्राम महरूपुर रावी निवासी रतन पुत्र होरीलाल, सतीश पुत्र भगवान दीन व मन्नी गिहार पुत्र काली चरण को गिरफ्तार कर लिया| उनके पास से दो तमंचा 315 बोर के बरामद हुये है| उनके ऊपर पुलिस पर जान लेवा हमले का आरोप है|

बीजेपी मंडल अध्यक्षों की नही हो सकी घोषणा, जिलाध्यक्ष का नामांकन भी टला

Comments Off on बीजेपी मंडल अध्यक्षों की नही हो सकी घोषणा, जिलाध्यक्ष का नामांकन भी टला

Posted on : 31-12-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

bjp-in-maharashtra_20141019_102936_19_10_2014फर्रुखाबाद: भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष पद के लिये 31 दिसम्बर को नामांकन होना की पुष्ठी सहायक चुनाव अधिकारी ने की थी| लेकिन अभी तक मंडल अध्यक्ष के नामो की घोषणा ना हो पाने से जिलाध्यक्ष का चुनाव आगे बढ़ा दिया गया है|

बीते कई दिनों ने मंडल चुनाव अधिकारीयो के साथ जिला चुनाव अधिकारी व सहायक चुनाव अधिकारी बैठक लेकर नब्ज टटोलने का प्रयास कर रहे है| लेकिन इसके बाद भी देर पर देर होती नजर आ रही है| कई चरणों में हुई वार्ता के बाद भी कोई नतीजा हासिल नही हो सका| जिसके चलते 31 दिसम्बर को होने वाले पार्टी के जिलाध्यक्ष के पद हेतु नामांकन की तिथि को बढा दिया गया|

गुरुवार को पुन: आवास विकास स्थित एक गेस्ट हाउस में बुलाई गयी मंडल चुनाव अधिकारियों की बैठक में इसी मुद्दे पर चर्चा हुई लेकिन कोई नतीजा हाथ नही लगा| सहायक चुनाब अधिकारी देवेश कुमार ने बताया कि अभी मंडल अध्यक्षों की घोषणा ना हो पाने से जिलाध्यक्ष के पद हेतु नामांकन की तिथि बढ़ा दी गयी है| वही मंडल अध्यक्षों की घोषणा शुक्रवार को कर दी जायेगी|

दुर्घटना में घायल सीपीवीएन कालेज के शिक्षक की मौत

Comments Off on दुर्घटना में घायल सीपीवीएन कालेज के शिक्षक की मौत

Posted on : 31-12-2015 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

upendr tirva kothiफर्रुखाबाद: बीते 23 दिसम्बर को दुर्घटना का शिकार हुये सीपीवीएन कालेज के शिक्षक 40 वर्षीय उपेन्द्र सिंह पुत्र सुरेश सिंह राठौर उपचार के दौरान मौत हो गयी| उनका शव घर आने अपर कोहराम मच गया|

दुर्घटना गुरसहायगंज कोतवाली क्षेत्र में तब हुई जब वह कन्नौज से बाइक से फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के तिर्वा कोठी अपने घर आ रहे थे| तभी लोडर की टक्कर से वह गम्भीर रूप से घायल हो गये| उन्हें कानपुर रिफर कर दिया गया| जंहा उपचार के दौरान बीती रात उनकी मौत हो गयी| पुलिस ने उनके शव का पोस्टमार्टम कराया| जिसके बाद उनके शव को घर भेजा गया| शिक्षक की मौत से उनकी पत्नी छाया व विटोली देवी के साथ ही साथ बेटे सात वर्षीय तरुण, 3 वर्षीय शानू का रो रो कर हाल बेहाल हो गया| उपेन्द्र सीपीवीएन कालेज कायमगंज के शिक्षक के पद पर तैनात थे|

पार्टी प्रत्याशी के विरोध में अनिल मिश्रा ने ज्ञानदेवी के लिए खरीदे चार पर्चे

Comments Off on पार्टी प्रत्याशी के विरोध में अनिल मिश्रा ने ज्ञानदेवी के लिए खरीदे चार पर्चे

Posted on : 31-12-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, जिला प्रशासन

sguna-devIफर्रुखाबाद: समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रत्याशी शगुना देवी के विरोध में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ज्ञानदेवी ने चार पर्चे खरीदे| जिला पंचायत का चुनाव अब रोमांचक की जगह अनिश्चितता की स्थिति में पहुंच गया है| ज्ञान देवी के लिए पर्चे खरीदने का काम कांग्रेसी से सपाई बने अनिल मिश्रा ने किया|

समाजवादी पार्टी की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष के दावेदारों की घोषणा बीते दिनों कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने की थी| जिसमे जिला पंचायत अध्यक्ष पद के सपा प्रत्याशी के रूप में कायमगंज के विधायक अजीत कठेरिया की पत्नी सगुना देवी को टिकट दिया गया है| सगुना देवी नवाबगंज तृतीय से 3808 वोटो पाकर चुनाव में विजय हुई थी| उन्होंने बीते दिन दो पर्चे खरीदे थे| दूसरी तरफ सपा का ही दूसरा खेमा ज्ञान देवी को सपा प्रत्याशी न बनाये जाने पर विद्रोह पर उतरा हुआ है| इसी क्रम में सगुना देवी के विरोध में ज्ञान देवी के लिए पर्चे खरीदे गए|

वही गुरुवार को सपा प्रत्याशी सगुना देवी के विरोध में नवाबगंज द्वितीय से 5018 वोटो से चुनाव जीती ज्ञानवती ने जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर नामांकन करने हेतु चार पर्चे खरीदे| उनके पर्चे लेने के लिये जिला पंचायत कार्यालय में सपा नेता अनिल मिश्रा पंहुचे| फ़िलहाल जबाबी नामांकन होने की स्थित में चुनाव रोचक होने की सम्भावना है| वही सगुना देवी का नामांकन कराने के लिये मंत्री शिवपाल सिंह के आने की अटकलों से प्रशासन व विरोधी खेमे में हलचल जरुर मची है|

पर्चे खरीदने गए सपा नेता अनिल मिश्रा ने जेएनआई को बताया कि 30 में से 23 सदस्य उनके खेमे में है| जीत भी उनके खेमे की पक्की है| पार्टी विरोध में पर्चे खरीदने के सवाल पर अनिल मिश्रा ने कहा कि वे सरकार के खिलाफ नहीं है, पार्टी के खिलाफ के सवाल पर जबाब टाल गए|

उधर सपा प्रवक्ता मंदीप यादव ने बताया कि पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी सगुना देवी ही है| अगर कोई पार्टी प्रत्याशी के विरोध में सपा नेता काम करेगा तो वो अनुशासनहीनता के दायरे में आएगा| इसकी सूचना प्रदेश नेतृत्व को भेज दी जाएगी| ज्ञात हो कि पिछले दिनों सपा नेतृत्व ने प्रदेश पर पार्टी का विरोध करने वाले कई विधायक और सपा नेता किनारे लगा दिए थे|

[bannergarden id="12"]