बूथ कैप्चरिंग हुई आसान- मतपत्रो पर दस्खत करके ही रवाना हुए पीठासीन अधिकारी

0

JNI NEWS : 30-11-2015 | By : पंकज दीक्षित | In : Election 2014, PANCHAYAT ELECTION

फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश में चल रहे पंचायत चुनाव में फर्रुखाबाद में मजाक सा हो रहा है| जिन मतपत्रों पर पीठासीन अधिकारी के हस्ताक्षर मतदाता को मतपत्र देते समय होने चाहिए उन मतपत्रो पर मतदान केंद्र पर रवाना होने से पहले ही हस्ताक्षर हो गए| ये सब काम रिटर्निंग अफसर की मौजूदगी में पोलिंग पार्टियो के रवाना होने से पूर्व ही हुआ| ऐसे में बूथ कैप्चरिंग के रास्ते में लगा एक बैरियर खुद रिटर्निंग अफसर ने खुलवा दिया| मीडिया के द्वारा टोकने के बाद भी रिटर्निंग अफसर ने मामले को बहुत हलके में लिया और महज एक माइक पर घोषणा करा कर नौकरी पूरी कर ली| नियमानुसार मतपत्र पर पीठासीन के हस्ताक्षर मतपत्र मतदाता को देने से पहले किये जाते है ताकि अगर बूथ कैप्चरिंग हो भी जाए तो मतपेटी में मतपत्र बिना हस्ताक्षर के पड़े और मामला पकड़ा जा सके|
BARHPUR-ELECTION2
सोमवार को बढ़पुर स्थित क्रिश्चियन इंटर कॉलेज में पोलिंग पार्टियो को बढ़पुर ब्लाक में ग्राम पंचायत प्रधान और सदस्य के चुनाव के लिए पोलिंग पार्टियो को रवाना किया जा रहा था| रवानगी से पूर्व पीठासीन अधिकारी, प्रथम मतदान कर्मी और द्वितीय मतदान कर्मी को मतदान कराने के लिए मतपत्र एवं अन्य सामग्री दी गयी| मतदान कर्मियों और पीठासीन अधिकारियो में प्रांगण में ही दिए हुए सामान को मिलाया और मतपत्रों पर मुहर लगाने और हस्ताक्षर करने का काम निपटा लिया| मीडिया द्वारा टोकने के बाद जब तक मतपत्रों पर हस्ताक्षर करने का काम रुकता अधिकांश मतपत्र हस्ताक्षरित हो चुके थे| इतना ही नहीं रिटर्निंग अफसर की ड्यूटी पर तैनात अफसर ये सब काम होते देख रहे थे| इस तरह से बूथ कैप्चरिंग में पीठासीन अधिकारी ने एक सुविधा दे दी| अब केवल येन केन प्रकरेण मतदान केंद्र के अंदर घुसने के बाद मतपत्र छीनने और उस पर मुहर लगाने का ही काम बाकी रह गया|
BARHPUR-ELECTION
बात केवल मतपत्रों पर हस्ताक्षर करने तक ही सीमित नहीं रही| पीठासीन अधिकारियो की जगह प्रथम और द्वितीय मतदान कर्मी कई जगह पीठासीन के हस्ताक्षर का काम निपटाते देखे गए| प्रांगण में प्रधान पद के कई प्रत्याशी और उनके समर्थक मतदान कर्मियों से सांठगाठ करते और जुगाड़ बनाने के लिए भी पहुंचे|
BARHPUR-ELECTION1

Comments are closed.