Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

अनपढ़ की प्रधानी चलायी ग्राम सचिव ने, ठगे रह गए गंगाराम

Comments Off on अनपढ़ की प्रधानी चलायी ग्राम सचिव ने, ठगे रह गए गंगाराम

Posted on : 09-11-2015 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION

Nagla Keval Schoolफर्रुखाबाद: पंचायती राज में सत्ता ग्राम पंचायत को सौपने का मतलब गांव के निवासियों द्वारा अपनी पंचायत की सत्ता सम्भालना था| मगर अगर प्रधान पढ़ा लिखा नहीं है या फिर खूब शराबी है तो फिर पंचायत की सत्ता सरकारी मशीनरी ही चलाती है| ग्राम पंचायत अध्यक्ष यानी कि प्रधान को एक सरकारी वेतन वाला सचिव मिलता है जो ग्राम समिति में बहुमत से पारित कामो को अंजाम तक पहुँचाता है| कहने को तो वो एक सेवक होता है मगर यूपी में हालात बहुत इतर है| यहाँ ग्राम पंचायत की पूरी सत्ता ही ग्राम सचिव चलाता है, कुछ दबंग प्रधानो को छोड़कर| ग्राम सचिव की नौकरी के लिए रिश्वत के रेट लेखपाल से ज्यादा हो चले है| यूपी में बिटिया की शादी के लिए तलाशे जाने वाले दूल्हे में राज्य सरकार के बाबू से ज्यादा वरीयता ग्राम सचिव को मिलती है और उसके दहेज़ के रेट भी दो चार लाख ज्यादा लगते है| इसकी बड़ी वजह है विस्तार से समझिए-

यूपी में कई सालो से सरकारी नौकरियों की भर्तियां नहीं हुई है लिहाजा हर विभाग में सरकारी कर्मचारी की भारी कमी है| मगर इन सबके बाबजूद सरकार का काम काज बखूबी चल रहा है| उदहारण के लिए जनपद फर्रुखाबाद में अब तक 515 ग्राम पंचायते थी| इसके लिए प्रति ग्राम पंचायत 515 ग्राम सचिवो की जरुरत थी| मगर ये काम 70-80 सचिवो से चलता रहा और हर साल दो चार उनमे से भी कम हो जाते है| रिटायर जो हो जाते है| कमोवेश यही स्थिति पूरे यूपी की है| कुल जरुरत में से केवल 15 प्रतिशत ही ग्राम सचिव है| ऐसे में एक एक ग्राम सचिव को 5 से 10 ग्राम पंचायतो का सचिव बनाया जाता है| ग्राम पंचायत के कुल बजट खर्च में बटने वाला कमीशन भी उसी अनुपात में बढ़ जाता है| प्रधान से ज्यादा सचिव मालामाल हो रहा है| इन ग्राम सचिवो को कई बार ऐसे प्रधान मिलते है जिन्हे ग्राम पंचायत के कामकाज के बारे कोई ज्ञान नहीं होता या फिर कई शराबी प्रधान पल्ले पड़ जाते है| इन गाँवो में ग्राम सचिव ही सब कुछ हो जाता है| पेंशनों के पात्र तलाशने हो, इंदिरा आवासो का आवंटन हो, पट्टे करने हो, नाली खडन्जा बनाना हो इन सबका फैसला फिर सचिव ही करते है| ऐसे में जनता भी प्रधान को किनारे कर सीधे ग्राम सचिवो को पकड़ती है और अपना काम कराती है| ये कुछ बानगी भर है|
NAGLA KEVAL
Pradhan Gangaram nagla kevalऐसे ही एक फर्रुखाबाद जनपद के राजेपुर ब्लाक के नगला केवल ग्राम पंचायत के प्रधान गंगाराम का भी किस्सा है| वर्ष 2010 में ग्राम पंचायत का आरक्षण पिछड़ा वर्ग के लिए हो गया तो वे चुनाव लड़ बैठे| गंगाराम का कहना है कि वे केवल दस्खत करने भर को पढ़े है| बाकी उन्हें कुछ मालूम नहीं| वर्तमान में हो रहे चुनावो से तौबा कर चुके गंगाराम का कहना है कि उन्हें पंचायत के खातों के बारे में कुछ नहीं मालूम| उनके ग्राम सचिव मनीष यादव ने खूब मनमानी की| अपने सजातीय मजरे में नाली सड़के बनबाई और अन्य 4 मजरे ग्राम पंचायत के विकास के लिए तरसते रहे| बकौल गंगाराम इस बार सीट सामान्य हो गयी है मगर अब वे चुनाव नहीं लड़ेंगे| गंगाराम का कहना है कि वे किस मुह से चुनाव में वोट मांगे| पेंशन से लेकर आवास आवंटन तक ग्राम सचिव मनीष यादव ने अपने मन से दिए| मनरेगा में एक भी जॉब कार्ड नहीं बनाया| जिस का राशन कार्ड खो गया उसे कोटेदार राशन नहीं देता| गाँव की हालात ख़राब है| स्कूल की बॉउंड्री वाल नहीं है| स्कूल की किचन में भैंस बधती है| किचन का काम कक्षा कक्ष में होता है और बच्चे बरामदे में मिड डे मील खा लेते है| पढ़ाई तो जैसे होती है साहब आप जानते ही हो| सामाजिक न्याय दिलाने के लिए आरक्षण में गंगाराम को प्रधान बनने का मौका तो मिला मगर न गंगाराम का कोई अर्थ सुधार हुआ और न ही ग्राम पंचायत का विकास| विश्लेषकों का मानना है कि ऐसे आरक्षण का भी क्या फायदा|

ग्राम प्रधान के आरोपों पर जब ग्राम सचिव मनीष यादव से फोन पर बात की गयी तो उनका जबाब था कि आप लोग गंगाराम के पीछे ही क्यों पड़ जाते हो उन्हें तो वक्श दो| अब ग्राम सचिव के इस जबाब का मतलब क्या है ये जनता खुद लगाये| फिलहाल चुनाव एक बार फिर से है| फैसला गांव की जनता को करना है कि कैसा प्रधान चुनना है| उसे जो ग्राम सचिव के हिसाब से चले या फिर उसे जो ग्राम पंचायत समिति के हिसाब से चले|

नवाबगंज ब्लाक प्रमुख पद पर सपा के अब तक तीन दावेदार

Comments Off on नवाबगंज ब्लाक प्रमुख पद पर सपा के अब तक तीन दावेदार

Posted on : 09-11-2015 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION

फर्रुखाबाद: समाजवादी पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख के प्रत्याशी बनाये जाने के लिए आवेदन माँगना शुरू किया है| जिले में सात ब्लाक प्रमुख और 1 जिला पंचायत अध्यक्ष चुना जाना है| जीते हुए क्षेत्र और जिला पंचायत के सदस्यों ने अपनी अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है| कमालगंज ब्लाक से राशिद जमाल सिद्दीकी एक बार फिर से बड़े दावेदारों के रूप में सामने आ रहे है वहीँ मोहम्दाबाद में विधायक नरेंद्र सिंह यादव के परिवार से ही किसी का ब्लाक प्रमुख पद पर उतारना तय है| नवाबगंज ब्लाक से तो सपा के तीन दावेदारों के नाम सामने आ रहे है|

क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष में नवाबगंज से सपा सबसे प्रबल दावेदारों में डॉ अनीता रंजन, छोटे सिंह यादव की पुत्रबधू उषा यादव और भट्टा मालिक राजीव यादव उर्फ़ नर्वेन्द्र यादव या अनुराग मिश्रा के नाम सामने आ रहे है| राजीव यादव ने खुद अपने सहित तीन समर्थक निर्विरोध निर्वाचित करा लिए है| रामपुर दवीर के प्रधान राजीव यादव भट्टा कारोबारी है और फतनपुर से निर्विरोध क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव जीते है| वहीँ उनके मित्र/समर्थक अनुराग मिश्रा जयसिंहपुर से और प्रतिभा मिश्रा पिलखना से बीडीसी चुनाव जीती है| राजीव यादव का कहना है कि उन्हें कल्लू यादव और सुबोध का समर्थन है| हालाँकि इस मुद्दे पर अभी कल्लू यादव से बात नहीं हो पायी है| कल्लू यादव के पुत्र अमित यादव भी बीडीसी का चुनाव जीते है और ब्लाक प्रमुखी के दावेदार है| राजीव यादव का दावा है कि नवाबगंज में उनके पास 50 से ज्यादा क्षेत्र पंचायत समर्थन को तैयार है|

वहीँ नवाबगंज में बबना से निर्विरोध चुनाव जीती डॉ अनीता रंजन भी ब्लाक प्रमुख पद की प्रबल दावेदार है| डॉ अनीता रंजन डॉ जितेंद्र यादव की पत्नी मेडिकल कॉलेज में निदेशक है और बिहार के बाहुबली सांसद पप्पू यादव की बहन है| उनके पास भी नवाबगंज में भरपूर समर्थन है| कुल मिलकर अब तक जो गणित नवाबगंज में निकलकर आ रहा है उसके हिसाब से अध्यक्षी तो सपा के पास ही रहने की संभावना है दारोमदार पूरा टिकट पर निर्भर है| पुराने सपाई होने के नाते छोटे सिंह यादव भी अपनी बहु को ब्लाक प्रमुख बनाने के लिए टिकट के लिए पूरी ताकत लगाएंगे ही|

बिहार में आठ फीसदी के अंतर से बनी महागठबंधन की सरकार

Comments Off on बिहार में आठ फीसदी के अंतर से बनी महागठबंधन की सरकार

Posted on : 09-11-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-CONG., राष्ट्रीय

GRAND_ALLINCE_91115नई दिल्ली। बिहार चुनाव नतीजों के विश्लेषण के मुताबिक जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन को बीजेपी नीत एनडीए से मिले 7.8 फीसदी ज्यादा वोटों ने उसे 120 सीटें और दिलाईं, जिसके चलते नीतीश कुमार नीत महागठबंधन ने दो तिहाई बहुमत हासिल कर लिया।
महाठबंधन ने 41.9 फीसदी वोटों के साथ 243 सदस्यीय सदन में 178 सीट हासिल कीं, जबकि एनडीए 34.1 फीसदी वोट के साथ सिर्फ 58 सीटें ही पा सका। यह चुनाव आयोग के आखिरी आंकड़ों से जाहिर होता है।बिहार चुनाव नतीजों के विश्लेषण के मुताबिक जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन को बीजेपी नीत एनडीए से मिले 7.8 फीसदी ज्यादा वोटों ने उसे 120 सीटें और दिलाईं

लालू प्रसाद का आरजेडी 18.9 फीसदी वोटों के साथ 80 सीटें जीत कर सबसे बड़े दल के रूप में उभरा जबकि नीतीश कुमार नीत जेडीयू को 16.8 फीसदी वोटों के साथ 71 सीटें मिली। महागठबंधन के तीसरे साझेदार कांग्रेस ने 41 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे जिनमें 27 पर उसे जीत मिली है। इसे 6.7 फीसदी वोट मिले।

157 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली बीजेपी को सर्वाधिक 24.4 फीसदी वोट मिले, लेकिन वह महज 53 सीटें ही जीत सकी। बीजेपी नीत एनडीए गठजोड़ में शामिल एलजेपी को 4. 8 फीसदी के साथ दो सीटें जबकि हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (धर्मनिरपेक्ष) को 2.3 फीसदी के साथ एक सीट मिली। इन दोनों पार्टियों ने क्रमश: 42 और 21 सीटों पर चुनाव लड़ा था।

बीजेपी के एक और सहयोगी दल लोक समता पार्टी ने 23 सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन 2.6 फीसदी वोट के साथ उसे सिर्फ दो सीटें ही हासिल हुईं। गौरतलब है कि 2010 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू को 38.77 फीसदी वोट के साथ 141 में 115 सीटें मिली थीं, जबकि उसकी सहयोगी बीजेपी को सर्वाधिक 39.56 फीसदी वोट के साथ 102 सीटें मिली थी। आरजेडी को 18. 84 फीसदी वोट हिस्सेदारी के साथ 168 में सिर्फ 22 सीटें ही मिल पाई थीं। कांग्रेस 243 सीटों पर चुनाव लड़ी थी। उसे 8.37 वोट प्रतिशत के साथ सिर्फ चार सीटें मिली थी।

महिला व उसके दो देवरों के खिलाफ मुकदमे के आदेश

Comments Off on महिला व उसके दो देवरों के खिलाफ मुकदमे के आदेश

Posted on : 09-11-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

kort orderफर्रुखाबाद: जनपद कन्नौज के ग्राम देवीनटोला सरायमीरा निवासी ज्योति पाल पत्नी अवशेष पाल ने न्यायालय में अपनी ननद व उसके दो देवरों के खिलाफ उसके पति को आत्महत्या के लिये उकसाने के आरोप प्रार्थना पत्र दिया था| जिस पर अदालत में मुकदमा दर्ज कर जाँच के आदेश दिये है|

ज्योति ने कहा हैं कि उसके पति अवशेष की बहन नीलम के उसके देवरों के साथ सम्बन्ध थे| यह बात जब उसके पति को पता चली उन्होंने अपनी बहन से यह सब करने से मना कर दिया| जिसका नीलम सहित दोनों देवर भी विरोध कर रहे थे| ज्योति के अनुसार उसके पति ने नीलम के बर्ताव से परेशान होने की जानकारी भी दी थी| बीते 11 जुलाई को नीलम उसके घर आयी| दोनों में जमकर कहा-सुनी हो गयी थी| बीते 14 जुलाई को उन्होंने अपनी बहन नीलम व उसके दो देवर विनय व बबलू पाल के विषय में ज्योति से कहा की उन लोगो ने मुझे बहुत परेशान कर रखा है| इस लिये उसके सल्फास खा ली है| मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने कोतवाली फतेहगढ़ को मुकदमा दर्ज कर जाँच करने के आदेश दिये है|

अग्नि पीड़ित परिवार की सहायता के लिये गुहार

Comments Off on अग्नि पीड़ित परिवार की सहायता के लिये गुहार

Posted on : 09-11-2015 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

AAG 12फर्रुखाबाद:सिलेंडर फटने से बर्बाद हुये परिवार को आर्थिक सहायता दिलाने के लिये जिलाधिकारी से गुहार लगाई गयी| अमर ज्योति एसोसिएशन बैनर तले डीएम से मिलने गये पीड़ित परिवार को सहायता का भरोसा दिया गया|

बीते 31 अक्टूबर की शाम कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला गंगा नगर कालोनी स्थित नाले वाली गली निवासी सुनील मिश्रा अपने परिवार के साथ रहते है| वह कर्मकांड कर अपने परिवार का भरण पोषण करते है| शनिवार को शाम तकरीबन चार बजे सुशील की पत्नी सुमन गैस पर खाना बना रही थी| उन्होंने भारत गैस का नया सिलेंडर आज ही लगाया था| घर पर उनके अलावा उनकी माँ व बेटी रजनी थी| सुशील अपने पुत्र पवन के साथ घर से बाहर गये थे| तभी अचानक गैस सिलेंडर का पाइप निकल गया| जिससे आग लग गयी|आग लगने से किचिन में रखा सिलेंडर फट गया| सिलेंडर फटने से उसका पूरा मकान तो तहस-नहस हुआ ही साथ ही साथ पड़ोसी राकेश दीक्षित के भी मकान की दीवार गिर गयी| सिलेंडर फटने से पड़ोसी राकेश दीक्षित उनका बेटा हरिओम व जय ओम, बेटी हिमानी व पड़ोसी जगेन्द्र मिश्रा सहित तकरीबन एक दर्जन लोग जख्मी हो गये|

पीडित परिवार को बीते दिनों फर्रुखाबाद विकास मंच नकद राशि के साथ साथ खाने का सामान व कपड़े भी दे चूका है| इसके साथ ही अमर ज्योति एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी से भेट कर पीड़ित परिवार को सरकारी सहायता उपलब्ध कराये जाने के सम्बन्ध में बात की| जिलाधिकारी ने मदद का भरोसा दिया है| इस दौरान विनीत तिवारी, हरिओम, अनिल सक्सेना, प्रमोद तिवारी एडवोकेट, शिव सुन्दर लाल शुक्ला, शिवम दुबे आदि लोग मौजूद रहे|

[bannergarden id="12"]