Featured Posts

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रामाटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर...

Read more

यूपी के पंचायत चुनाव- लोकतंत्र का भद्दा मजाक!

Comments Off on यूपी के पंचायत चुनाव- लोकतंत्र का भद्दा मजाक!

Posted on : 30-11-2015 | By : पंकज दीक्षित | In : EDITORIALS, FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION

उत्तर प्रदेश में पंचायतो का हाल बहुत बुरा है| अवैध कमाई और थाने की दलाली के चंगुल में फस कर रह गयी है देश की सबसे छोटी संसद| कुछ अपवादों को छोड़ दे तो लगभग पूरी यूपी का हाल लगभग एक जैसा ही है| गाँव की जमीदारी आरक्षण के कोहरे से छटी जरूर मगर अड्ड़ा अराजकता का बन गया| वर्ष 2015 के पंचायतो के चुनावो में अब आम जनता का मानना है कि ये चुनाव सत्ता के इशारे पर अपने कार्यकर्ताओ को बिठाने के लिए हो रहे है| चुनावो के शुरू होने से पहले जिलो में सत्ताधारी नेताओ के हुक्मबाज अफसरों की तैनाती से लेकर प्रमाण पत्र वितरण तक नियम, संयम और कानून ताक पर है| अब तो जनता कहने लगी है कि “गारंटी नही है कि आखिरी राउंड तक चुनाव जीतने वाला प्रधानी का प्रमाण पत्र पा जाए”| ऐसी अविश्सनीयता जब जब जनता के दिल में घर करती है सत्ताएं पलटती है|

विकास के नाम का लबादा ओढ़े चुनाव लड़ रहा प्रधान पद का प्रत्याशी लाखो रुपये खर्च कर प्रधान बनना चाहता है| कुछ शान के लिए तो कुछ माल कमाने के लिए| गाँव में जुए में पकडे गए जुम्मन के लौंडे को प्रधान ने थानेदार से पैरवी करके 20 हजार में छुड़वा दिया, शाम को प्रधान जी थाने में चाय के साथ 10 हजार अपना कमीशन ले आये| जुम्मन और उसका लौंडा भी खुश और प्रधान की भी बोहनी हो गयी| ग्राम पंचायत की जमीन का पट्टा करना हो, किसी ग्रामीण को पेंशन मिलनी हो, इंदिरा आवास, लोहिआ आवास आवंटन हो, प्रधान जी का कमीशन है| कुछ बड़े ही बेशर्म होते है पारिवारिक लाभ (परिवार के मुखिया की आकस्मिक मृत्यु पर मिलने वाली सरकारी इमदाद) की चेको में भी कमीशन खा जाते है| कुल मिलाकर प्रधान सब कुछ खाने लगा है| ग्रामीण सामाजिक सांस्कृतिक छवि अब किताबो तक ही है|

केंद्र और राज्य सरकार का ग्रामीण विकास के लिए आने वाला धन ग्राम पंचायत के खातों से आहरित होता है| जिला मुख्यालय से ये पैसा ग्राम पंचायतो के खातों में तब पहुचता है जब जिला पंचायती राज अधिकारी ग्राम पंचायतो के सचिवो और प्रधानो से अग्रिम कमीशन वसूल अपना हिस्सा काटते हुए जिला विकास अधिकारी तक पंहुचा देता है| बड़ा मकड़जाल जैसा है ये पंचायती राज| दरअसल में सत्ता के विकेंद्रीकरण को लक्ष्य रखते हुए पंचायती राज कानून बनाया गया था मगर असल में ये भ्रष्टाचार के विकेंद्रीकरण जैसा साबित हुआ| इनदिनों उसी की बुनियाद खोदी जा रही है| गाँव गाँव शराब बट रही है| चुनाव कराने के लिए मतदान कर्मी स्कूल के अंदर पहुंच चुके है मगर प्रधान पद के प्रत्याशी को नींद कहाँ| आखिरी दांव तक चाले चलना और उस पर निगरानी जरुरी है| वोट डालने से लेकर वोटो की गिनती तक अविश्सनीयता से घिरा हुआ है पंचायत का चुनाव लड़ने वाला| कुछ दिनों पहले ही जिला पंचायत सदस्य के लिए हुए चुनावो में वोटो की गिनती की तस्वीर उसके सामने है| आखरी राउंड तक जीता कोई और था और प्रमाण पत्र मिला किसी और को|

आयोग ने फरमान भेजा था कि जिला पंचायत सदस्य के प्रमाण पत्र उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्तर से ऊपर के अफसर प्रमाण पत्र बाटेंगे| मगर कई को तो चपरासियों के हाथो ये सौभाग्यशाली करोड़पति बनाने वाला जिला पंचायत सदस्य का प्रमाण पत्र मिला| क्या आयोग और क्या जिला निर्वाचन अधिकारी| सब की बस एक ही चिंता है| चुनाव शांतिपूर्वक निपट जाए| तभी खबरों की हेडिंग बनती है- “दूसरे चरण में खूब हुआ शांतिपूर्वक फर्जी मतदान और बूथ कैप्चरिंग”| प्रधानी के चुनाव में पीठासीन अधिकारी में स्वयं या अफसरों के कहने पर (जिम्मेदारी कोई नहीं लेगा) बूथ कैप्चरिंग के लिए राह आसान कर दी है| मतदान शुरू होने से पहले ही हर बैलेट पेपर पर मुहर और हस्ताक्षर पहले ही कर दिए है| ताकि बूथ कैप्चरिंग करते समय गुंडों को कोई परेशानी न हो और गिनती के समय असली नकली की पहचान छुपी रहे| कोई गारंटी नहीं कि इसके लिए मतदान कर्मी न बिका हो| और फिर इतनी बात का हंगामा ही क्यों हो जब जिला पंचायत सदस्य के चुनावो में बिना हस्ताक्षर मुहर के निकले वोट मनचाहे या सरकार की पसंद के प्रत्याशी को जिताने के काम अफसर के काम आये हो| कुल मिलाकर उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के नाम पर एक तरह से मजाक सा हो रहा है|

गुंडई, दबंगई सत्ता पक्ष के लिए जायज है और विपक्ष के लिए नाजायज| इसका तकाजा पंचायत चुनावो में साफ़ तौर पर नजर आता है| लखनऊ की सरकार अधिक से अधिक जिला पंचायत और ब्लाक प्रमुख का चुनाव अपनी पार्टी को जिताना चाहती है| मतलब सिर्फ जीत से है| इसके तरीके की जिम्मेदारी अफसरों की होगी| वैसे भी यूपी में राजनीती की शुरुआत पंचायतघर की जगह थाने से होती है| विरोधियो पर दबाब, हड़काने, पकड़ करना, धमकाना और प्रमाण पत्र खरीद लेने जैसे हथकंडे चलते है| एक एक जिला पंचायत कई कई करोड़ वैध रूप से रिश्वतीकरण के माध्यम से खर्च करने के बाद गठित होती है| जिले और गाँव के प्रथम नागरिक का राज्याभिषेक भ्रष्टाचार की सीढ़ी पर चलने के बाद ही होता है यूपी में| मौसम चुनावी है| कुछ आप भी लुफ्त उठाइये| अगर यूपी से बाहर के है तो नशीली, शराबी और हलकी गुलाबी सर्दी में कुछ दिन गुजारिये यहाँ| जरा देखिये तो सही कि कैसे लोकतंत्र का मजाक उड़ रहा है यूपी में| और उसे उड़ाने वालो के साथ कैसे कन्धा दे रही है देश की सर्वोच्च गौरवशाली नेताभक्त आईएएस और आईपीएस की जमात|

और चलते चलते-
पंचायत चुनावो में चुनावी खर्च बेहिसाब है| जितनी आयोग ने सीमा निर्धारित की है उतने में तो एक दिन की दारु उड़ रही है| फर्जी वोटो के बढ़ाने और असली कटवाने में लाखो रुपये फूके जा चुकें है| पीठासीन अधिकारी से लेकर मतदान कर्मी की जेबे भी गर्म करायी जाती है| दो चार सौ तो मतदान केंद्र की -जेड श्रेणी ड्यूटी में तैनात होमगार्ड को भी बक्शीश मिल जाती है| एक तरह से नोटों की वारिश में गुलजार हो रहा है प्रधानी का चुनाव| साहूकार और जमीन खरीदने वाले पैसा बाट रहे है| हर लड़ने वाले के समीकरण उसके पक्ष में उसे दिखाई पड़ रहे है| ये मुंगेरी सपने 13 दिसम्बर यानि वोटो की गिनती तक बरक़रार रहेंगे| पूरे उत्तर प्रदेश में प्राइमरी के मास्टरों के सबसे ज्यादा परिजन चुनावी मैदान में है| पंचायत सचिवो से लेकर लेखपालो और प्रेरको तक ने वोट बढ़ाने घटाने से लेकर अदेय प्रमाण पत्र जारी करने में खूब माल बनाया है| सरकारी मशीनरी सिर्फ शांति चाहती है| मुसीबत सिर्फ शांति की है|

ब्रेकिंग: नाले में मिले 4000 एसएलआर कारतूस के खोखे

Comments Off on ब्रेकिंग: नाले में मिले 4000 एसएलआर कारतूस के खोखे

Posted on : 30-11-2015 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics

kartusफर्रुखाबाद: कमालगंज थाना पुलिस ने सूचना के आधार पर एसएलआर के खोखे बड़ी मात्रा में बरामद किये है| पुलिस जाँच में जुटी है|

थाना पुलिस को चौकीदार ने सूचना देकर कहा कि उसके गाँव खंदा नाला में एक बोरी में हजारो कारतूस के खोखे है| जिस पर फ़ोर्स मौके पर पंहुची और कारतूस के खोखे बरामद कर लिये| पुलिस का कहना है कि मिले कारतूस एसएलआर और 303 बोर के है| कारतूसो के खोखे की संख्या लगभग चार हजार बताई गयी है| कारतूस के खोखे बरामद होने की खबर पर डीएम, एसपी भी मौके पर पंहुच गये| पुलिस ने कई घरो में दबिश भी दी लेकिन कोई सफलता हासिल नही हुई| एसपी राजेश कृष्णा ने बताया जाँच की जा रही है|

सपा से राजेपुर व्लाक प्रमुख के लिए जीरो आवेदन

Comments Off on सपा से राजेपुर व्लाक प्रमुख के लिए जीरो आवेदन

Posted on : 30-11-2015 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION, POLICE, Politics, Politics- Sapaa

फर्रुखाबाद: समाजवादी पार्टी ने अपनी पार्टी के व्लाक प्रमुख पद का चुनाव लड़ने के लिये आवेदन मांगे थे| अंतिम तिथि समाप्त होने के बाद भी राजेपुर से व्लाक प्रमुख पद पर चुनाव लड़ने के लिये एक भी आवेदन नही आया है|

समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता मंदीप यादव ने बताया कि विकास खंड कमालगंज से विधायक जमालुद्दीन के पुत्र रशीद जमाल का अकेला आवेदन है| इसके आलावा विकास खंड मोहम्दाबाद बाद में अमित दुबे और भोला यादव ने भी पार्टी में अपना आवेदन किया है| वही बढ़पुर में व्लाक प्रमुख के पद के लिये पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत की पुत्रबधू अलका और रोहणी राजपूत ने भी अपना आवेदन किया है| वही वर्तमान व्लाक प्रमुख यशपाल सिंह यादव की पत्नी रीता यादव ने अपना आवेदन सपा कार्यालय में किया है|

विकास खंड नवाबगंज में डॉ० जितेन्द्र यादव की पत्नी अनीता रंजन, पूर्व सांसद छोटे सिंह यादव की पुत्र बधू ऊषा देवी पत्नी मोहन यादव व सपा छात्र सभा के जिला महामंत्री उत्कर्ष यादव ने भी अपना आवेदन सपा से कराया है| शमसाबाद विकास खंड से रानी देवी, कायमगंज से गुड्डी देवी पत्नी राम प्रकाश कल्लू यादव ने अपना अकेला ही आवेदन किया है| वही राजेपुर में सपा के जिला कार्यलय में एक भी आवेदन व्लाक प्रमुख पद के लिये नही आया है|

मंदीप यादव ने बताया कि यह विवरण पार्टी के जिला कार्यालय का है| प्रदेश कार्यालय पर यदि किसी ने अपना आवेदन किया है तो उसकी जानकारी उनके पास उपलब्ध नही है|

सपा समर्थको ने चौकी में की तोड़फोड़

Comments Off on सपा समर्थको ने चौकी में की तोड़फोड़

Posted on : 30-11-2015 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, Politics- Sapaa

spaaफर्रुखाबाद:समाजवादी पार्टी में अराजकता किस कदर हाबी है यह किसी से छुपा नही| सोमबार को भी कुछ सपा के समर्थको ने पुलिस चौकी में घुसकर तोड़फोड़ कर दी| पुलिस ने घटना के सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कर जाँच शुरू भी कर दी है|

बीते रविवार को ग्राम अचरा तकीपुर प्रधान पद के प्रत्याशी इरशाद व् उनके पड़ोसी प्रताप सिंह में छोटी से बात को लेकर विवाद हो गया था| जिसके बाद पंचायत के लिये गाँव के ही पूर्व जिला पंचायत सदस्य जयद्रथ यादव को बुलाया गया| उसके आते ही मौके पर पुन: दोनों पक्ष पक्षो में विवाद हो गया| जिस पर जमकर फायरिंग हुई| बाद में मौके पर पंहुचे और विवाद को खत्म करने का प्रयास किया| लेकिन कई लोग पुलिस पर ही हमलाबर हो गये| उन्होंने सिपाहियों से विवाद करने के साथ ही साथ चौकी पर हमला करके तोड़फोड़ कर दी|

पुलिस ने घटना में जयद्रथ यादव,पप्पू, उनके भाई राजेन्द, भतीजे सुरेन्द्र,आमोद, इरशाद, नौशाद, सत्यवीर, ब्रजेश, रणधीर, प्रताप सिंह, शशिराम, राजेश कुमार, राजीव, रंजीत, अमित व बंटू के साथ ही साथ 40-50 अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है| थानाध्यक्ष कुंबर बहादुर सिंह ने बताया कि सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है|

दो दिन से लापता छात्र के अपहरण की आशंका

Comments Off on दो दिन से लापता छात्र के अपहरण की आशंका

Posted on : 30-11-2015 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

subhashफर्रुखाबाद: कोतवाली फतेहगढ़ क्षेत्र के ग्राम बुढ्नामऊ के मजरा कठेरिया नगला निवासी मजदूर अजीत सिंह का 14 वर्षीय पुत्र सुभाष बीते दो दिन से लापता है| पुलिस जाँच में जुटी है| परिजन अपहरण की आशंका जता रहे है|

गायब हुये छात्र सुभाष के पिता अजीत सिंह ने बताया कि वह 28 नबम्बर को सुबह तकरीबन 11 बजे अपने घर से प्लास्टिक की कट्टी लेकर गाँव बुढ्नामऊ में मिट्टी का तेल लेने गया था| लेकिन वह शाम तक वापस नही लौटा| शाम को जब मजदूरी करके जब वह वापस आया तो सुभाष की दादी कमला देवी ने उसे बताया की सुभाष सुबह से लापता है| जिसके बाद उसने खोजबीन शुरू की| कोटेदार के कार्यकर्ता अमर सिंह ने भी छात्र के कोटे पर आने की बात से इंकार कर दिया|

जिसके बाद उन्होंने उसकी खोजबीन शुरू की लेकिन छात्र का कोई सुराग नही लगा| सोमवार को गाँव के कुछ बच्चे बकरी चराने के लिये कब्रिस्तान में गये| तो ग्राम बुढ्नामऊ रोड पर बने क्रिश्चियन कब्रिस्तान में सुभाष द्वारा घर से मिट्टी का तेल लाने के लिये लायी गई कट्टी दिखाई पड़ी| बच्चो ने मामले की सूचना सुभाष के पिता अजीत को दी| परिजनों ने मौके से कट्टी बरामद कर पुलिस को फोन किया| इसके बाद कोतवाल अजीत सिंह फ़ोर्स के साथ मौके पर पंहुचे और जाँच पड़ताल की|

सुभाष ग्राम विजाधरपुर स्थित पाल नगला में एसडी बालिका विधालय में कक्षा 6 का छात्र है| उसकी माँ की मौत बीते दो वर्ष पूर्व बाइक से गिरने से हुई थी|

[bannergarden id="12"]