Featured Posts

जिला निगरानी समिति का पुनर्गठन- पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय सहित पांच मनोनीतजिला निगरानी समिति का पुनर्गठन- पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय... फर्रुखाबाद: पहली बार केंद्र सरकार की योजनाओ पर निगरानी रखने के लिए पत्रकार को भी जिला निगरानी समिति में शामिल किया गया है| जिलाधिकारी की ओर से जनपद के वरिष्ठ पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय को नवगठित जिला निगरानी समिति में सदस्य बनाया गया है| सांसद मुकेश राजपूत की ओर से नामित...

Read more

सांसद विकास निधि के 2.5 करोड़ पहुंचे, मनपसंद कार्यदायी संस्था के चयन के आसार नहीं  सांसद विकास निधि के 2.5 करोड़ पहुंचे, मनपसंद कार्यदायी संस्था... फर्रुखाबाद: संसदीय क्षेत्र विकास योजना के तहत सांसदों को मिलने वाले 5 करोड़ प्रति वित्तीय वर्ष में पहली 2.5 करोड़ रुपये की क़िस्त जिला मुख्यालय पर पहुंच गयी है| जल्द ही जिला विकास अभिकरण से सांसद मुकेश राजपूत को विकास कार्य कराने के लिए सूची पेश करने का पत्र भेजा जायेगा| दूसरी...

Read more

विशेष: इंतजार की घडि़यां खत्म, दूल्हा दुल्हन पक्का करिये, जल्द गूंजेंगी शहनाइयांविशेष: इंतजार की घडि़यां खत्म, दूल्हा दुल्हन पक्का करिये, जल्द... डेस्क: इंतजार की घड़ियां खत्म। अब जल्द ही करीब चार माह के पावर ब्रेक के बाद शहनाइयां गूंजेगी। इसके लिए अब एक सप्ताह का इंतजार बाकी है। इस साल के दिसंबर माह के साथ-साथ नए साल के फरवरी माह में विवाह के शुभ मुहूर्त सबसे अधिक हैं। ऐसे में हर दूसरे दिन इस बार शादियां होंगी। उधर,...

Read more

यूपी में नौ महीने में 524 आईपीएस के तबादले यूपी में नौ महीने में 524 आईपीएस के तबादले डेस्क: भारत सरकार ने 28 जनवरी 2014 को आईपीएस कैडर संशोधन नियम 2014 पारित कर आईपीएस अफसरों की न्यूनतम तैनाती 2 वर्ष तय कर दी लेकिन यूपी में इस नियम का रोजाना उल्लंघन हो रहा है. आरटीआई कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा प्राप्त सूचना के अनुसार इस नियम के बनने के बाद 30 जनवरी के अमिताभ...

Read more

बुलाया गया था बात करने, पर सुनना पड़ा भाषणबुलाया गया था बात करने, पर सुनना पड़ा भाषण डेस्क: सौतिक विश्वास (बीबीसी): मई में ऐतिहासिक चुनावी जीत के बाद नरेंद्र मोदी की मीडिया से मुलाक़ात कई वजहों से दिलचस्प रही। पहली बात, कुछ चुनिंदा पत्रकारों को शुक्रवार को टेक्स्ट मैसेज मिला, जिसमें कहा गया था कि यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री के साथ एक 'अनौपचारिक बातचीत' रहेगा। बाद...

Read more

कन्या भ्रूण हत्या का सूत्रधार अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज कितने दिन रहेगा?कन्या भ्रूण हत्या का सूत्रधार अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज कितने... सौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली है| अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज हो गया तो स्वास्थ्य अधिकारियो पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने लगे| अफसर बाकई दूध के धुले है ये अलग जाँच का विषय हो सकता है| आज नहीं तो कल सब कुछ सही हो ही जायेगा| मगर बात त्यौहार की है तो बिना इसके जिक्र किये बात अधूरी ही...

Read more

प्रिया वर्मा आनर किलिंग में मृतका के भाई संजय वर्मा सहित 5 को उम्रकैदप्रिया वर्मा आनर किलिंग में मृतका के भाई संजय वर्मा सहित 5... फर्रुखाबाद: चर्चित प्रिया वर्मा ऑनरकिलिंग मामले में अदालत ने मृतका प्रिया वर्मा के भाई संजय वर्मा सहित कुल 5 लोगो को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है| अपर जिला जज प्रथम एसवी सिंह ने संजय वर्मा उनके साले मनोज वर्मा निवासी अशोक नगर, कमालगंज, मनोज के ड्राइवर उमेश यादव, टीटू उर्फ़...

Read more

गांधी जयंती विशेष- वालमार्ट के जमाने में चरखा और गांधी जी का अनुकरण..गांधी जयंती विशेष- वालमार्ट के जमाने में चरखा और गांधी जी का... बापू इस बार आपको जन्मदिन में हम चरखा नहीं, वालमार्ट भेंट कर रहे हैं| गरीबी तो खत्म नहीं कर पा रहे हैं, इसलिये गरीबों को खत्म करने का अचूक नुस्खा हमने इजाद कर लिया है. खुदरा बाजार में हम विदेशी पूंजी निवेश को अनुमति दे दी है. हमें ऐसा लगता है कि समस्या को ही नहीं, जड़ को खत्म कर...

Read more

2 अक्टूबर से पांचाल घाट हो जाएगा घटियाघाट का नाम 2 अक्टूबर से पांचाल घाट हो जाएगा घटियाघाट का नाम फर्रुखाबाद: आगामी 2 अक्टूबर से घटियाघाट का नाम बदलकर पांचाल घाट हो जाएगा| कई सामाजिक और धार्मिक संगठन पिछले लम्बे समय से घटियाघाट  का नाम बदलने की मांग करते आ रहे थे| लेकिन शासन से इसकी मंजूरी नहीं मिल पाने से ऐसा संभव नहीं हो सका| लेकिन अब जिलाधिकारी ने घटियाघाट का नाम परिवर्तित...

Read more

4 बार चिट्ठी लिखने के बाद DM को जबाब नहीं दिया, SDM सहित 19 अफसरों का वेतन रुका 4 बार चिट्ठी लिखने के बाद DM को जबाब नहीं दिया, SDM सहित 19 अफसरों... फर्रुखाबाद: सरकारी सेवाओ के प्रति लोक सेवको की जिम्मेदारी का आलम ये है कि उच्च अधिकारियो की चिट्ठिओ का जबाब तक अधिकारी नहीं देते| प्रशासनिक व्यवस्था में सत्ताधारी नेताओ की दम पर कुर्सियां पाने और बचाने की जो परंपरा अब उत्तर प्रदेश में चल पड़ी है इससे प्रदेश में हालात निकट...

Read more

एसडीएम ने तबादले के बाद रातों रात कर दिये पट्टे स्वीकृत

Comments Off

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

कमालगंज (फर्रुखाबाद) : उपजिलाधिकारी सदर एके लाल जाते जाते एक नया कारनाम कर गये। लगभग दस वर्ष से जांच में फंसे ग्राम पंचायत की भूमि के पट्टे रातोंरात स्वीकृत हो गए। ग्राम प्रधान ने अपात्रों को दिये गये पट्टे निरस्त कराने के लिये जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दिया है।

ग्राम पंचायत भड़ौसा के प्रधान सगीर अहमद ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दिया कि वर्ष 2000 से 2005 तक वसीम उर्फ शफीक गांव के प्रधान रहे थे। उन्होंने बगैर एजेंडा मुनादी आदि कराये 87 अपात्रों को पट्टे कर तत्कालीन तहसीलदार से कुछ आवंटन स्वीकृत करा लिए। आवंटन पत्रावली में अधिकतर पट्टे अपने पारिवारिक व रिश्तेदारों को किये गए थे। जांच में कुछ आवंटन स्वीकृत नहीं किए तथा कुछ निरस्त कर दिये गए। पूर्व प्रधान ने पारिवारिक लोगों व रिश्तेदारों को पट्टे दिलाने के लिए आयुक्त कानपुर के यहां निगरानी प्रस्तुत की। सफलता न मिलने पर राजस्व परिषद इलाहाबाद में निगरानी प्रस्तुत की गई। राजस्व परिषद ने 13 सितंबर 2011 को पुन: तथ्यों की जांच कर पात्रता को दृष्टिगत रखते हुए मामले का समाधान करने के निर्देश उपजिलाधिकारी को दिये। पूर्व प्रधान राजस्व परिषद के आदेश को दबाये रहे तथा 4 अप्रैल 2012 को उपजिलाधिकारी के यहां आदेश प्रस्तुत किया। उपजिलाधिकारी ने पत्रावली तलब की, लेकिन पत्रावली तहसील से नहीं आ सकी। 13 अप्रैल को उपजिलाधिकारी का स्थानांतरण हो गया। इसी दिन उपजिलाधिकारी ने पत्रावली मंगवाकर रातोंरात दस अपात्रों के पट्टे स्वीकृत कर दिए। प्रधान ने पूर्व प्रधान पर एसडीएम से सांठगांठ कर अपात्रों को स्वीकृत किए गये पट्टे निरस्त कराने की मांग की।

प्रधान ने आरोप लगाया कि जिन दस लोगों के पट्टे स्वीकृत किये गए हैं वह पूर्व प्रधान के परिजन व रिश्तेदार हैं। इन लोगों के आलीशान मकान, अहमदाबाद में गाड़ियां चल रही हैं। पुत्र पीएसी में नौकरी करता है। इसके बावजूद ग्राम पंचायत की जमीन के पट्टे कर दिये गये थे।

सत्ता जाते देख शिक्षाधिकारियों ने बीआरसी के खाते किये खाली

Comments Off

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI DESK | In : EDUCATION NEWS, FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत जनपद के सातों ब्लाक संसाधन केन्द्रों पर पदेन बीआरसी समन्वयक का कार्य देख रहे खण्ड शिक्षा अधिकारियों को राज्य परियोजना निदेशक के पत्र पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फर्रुखाबाद डा0 कौशल किशोर द्वारा हटाये जाने पर बीआरसी के खातों में विभाग द्वारा भेजी गयी प्रशिक्षण, यात्रा भत्ता एवं आकस्मिक मदों की धनराशि पर रोक लगने के बाद भी निकाल ली गयी है।

उच्च न्यायालय की लखनऊ खण्ड पीठ द्वारा एक याचिका की सुनवाई पर बीआरसी समन्वयक पद पर शिक्षकों के स्थान पर पदेन बीआरसी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को हटाने के दिये गये निर्देश पर राज्य परियोजना निदेशक पार्थसारथी सेन शर्मा के द्वारा भेजे गये पत्र पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फर्रुखाबाद डा0 कौशल किशोर द्वारा विगत 16 अप्रैल को जनपद के सातों बीआरसी केन्द्रों के पदेन समन्वयक पद से खण्ड शिक्षा अधिकारियों को हटा दिया गया था। बीएसए द्वारा बीआरसी के खातों पर खण्ड शिक्षा अधिकारियों को भुगतान न करने के आदेश बैंकों को दिये थे।

बीआरसी केन्द्रों से खण्ड शिक्षा अधिकारियों की सत्ता जाने एवं खाते पर रोक लगने की सूचना पर बैंक में पत्र पहुंचने से पहले शमशाबाद के खण्ड शिक्षा अधिकारी  ने बीआरसी शमशाबाद के खातों से भुगतान ले लिया है। इसी तरह अन्य खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा भी बीआरसी खातों से धनराशि का भुगतान लेने की संभावना है।

घोटाले में डिप्टी सीएमओ सहित तीन बर्खास्त

Comments Off

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, HEALTH, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: एनआरएचएम घोटाले में जनपद में तैनात एक अपर मुख्य चिकित्साधिकारी सहित तीन के विरुद्व शासन ने बर्खास्तगी की कार्यवाही कर दी है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कमलेश कुमार ने बताया कि एनआरएचएम घोटाले के आरोपी अधिकारियों के तत्कालीन मुख्य चिकित्साधिकारी मोहम्मद हसीन खां, दूसरे आरोपी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 के के सक्सेना जो वर्तमान में निलंबित चल रहे हैं, की बर्खास्तगी का आदेश किया गया है। इनके अतिरिक्त एक वरिष्ठ लिपिक जगदीश कटियार व एक चतुर्थश्रेणी कर्मचारी अजय कटियार की भी बर्खास्तगी का आदेश कर दिया गया है।

सीएमओ ने बताया कि पूर्व में शासन की ओर से मोहम्मद हसीन खां व के के सक्सेना से 11-11 लाख व जगदीश कटियार व अजय कटियार से 7-7 लाख रुपये की वसूली उनके वेतन से किये जाने के आदेश दिये थे। उन्होंने बताया कि अब इस सम्बंध में जिला शासकीय अधिवक्ता व विभागीय वित्त नियंत्रक से मार्ग निर्देश प्राप्त मिलने के बाद ही कोई कार्यवाही की जायेगी कि वसूली व बर्खास्तगी दोनो आदेशों का अनुपालन एक साथ कैसे किया जाये। उन्होंने बताया कि डा0 सक्सेना की बर्खास्तगी से पूर्व लोक सेवा आयोग से भी अनुमति ली जानी है। इसलिए उनके मामले में प्रकरण को लोकसेवा आयोग को भी संदर्भित किया जा रहा है।

शाम होते ही सरकारी खरीद केन्द्र पर आढ़तियों का गेहूं हो जाता है पैक

Comments Off

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS

कमालगंज (फर्रुखाबाद): कमालगंज मण्डी समिति में कल्याण निगम द्वारा गेहूं खरीद केन्द्र खोला गया है। केन्द्र पर आढ़तियों व दलालों का कब्जा है। केन्द्र पर दिन में सन्नाटा पड़ा रहता है। दिन में केन्द्र पर न तो गेहू की तौल होती है और न कोई और काम करता है। वहीं अन्य आढ़ती पूरे मण्डी समिति में दिन भर अपना-अपना गेहूं इकट्ठा करते हैं और शाम ढलते ही गेहूं कल्याण निगम के वारदाना (पैकिटों) में पैक करा दिया जाता है।

केन्द्र प्रभारी विश्वनाथ सिंह से पूछने पर बताया कि उन्हें 10 हजार कुन्टल गेहूं खरीदने का टारगेट दिया गया है। जिसमें अभी तक 496 कुन्तल गेहूं खरीद कर चुके हैं। जब यह पूछा कि अभी तक किस किसान का कितना गेहूं खरीदा है इस बात पर उन्होंने मना कर दिया।

वहीं केन्द्र प्रभारी के पास कुछ जोतवही रवी कुमार दुबे पुत्र सतीशचन्द्र निवासी शेखपुर सात बीघा की जोतवही, रनबीर सिंह पुत्र बद्री सिंह की 30 बीघा की रखी थी। जबकि किसान वहां मौजूद नहीं थे। जोतवही पास रखने के सम्बंध में पूछने पर केन्द्र प्रभारी बोला कि आप सब जानते हैं तो अब क्या बतायें।

केन्द्र पर पूर्ण रूप से आढ़तियों व दलालों का बोलबाला है। बाजार में 11 रुपये 25 पैसे प्रति किलोग्राम की दर से गेहूं खरीदा जा रहा है। जबकि सरकारी खरीद केन्द्र पर 12 रुपये 85 पैसे प्रति किलोग्राम है। आढ़ती और दलाल गांवों में जाकर किसानों से जोतवही ले आते हैं और उनके जरिये सरकारी केन्द्र पर गेहूं तुलवा देते हैं।
किसान जब सीधे गेहूं लेकर इस केन्द्र पर पहुंचता है तो प्रभारी महोदय ने कांटे के पास छटना लगा रखा है। किसानों के लिए तमाम नियम कानून बना दिये जिसके चक्कर में किसान केन्द्र पर सीधे गेहूं नहीं लाता।

बेसिक शिक्षा: सवेतन 4 माह से गायब मैडम ने 127 दिन की हाजिरी एक साथ लगायी

Comments Off

Posted on : 21-04-2012 | By : पंकज दीक्षित | In : EDUCATION NEWS

फर्रुखाबाद: बेसिक शिक्षा में गायब शिक्षको का अम्बार लगा है| मोहम्दाबाद के ग्राम सभा गढ़ी बनकटी के प्राथमिक पाठशाला गढ़ी में गत 20 अप्रैल 2012 को शिक्षिका सुमन लता ने दबंगई और कामचोरी का रिकॉर्ड तोड़ काम कर डाला| मैडम 4 माह बाद स्कूल पहुची और हाजिरी राजिस्टर पर अनुपस्थित काट 127 दिन की उपस्थित होने की हाजिरी एक साथ लगा डाली| मैडम 1 दिसम्बर को प्रोमोशन से हुए तबादले में गढ़ी स्कूल में ज्वाइन करने आई थी उसके बाद कल 20 अप्रैल 2012 को उनकी शक्ल स्कूल में दिखाई पड़ी| इस ४ माह के दौरान मैडम का बाकायदा वेतन भी आहरित हुआ| खबर मीडिया कर्मिओ के हत्थे चड़ी तो खंड शिक्षा अधिकारी को भी जबाब नहीं सूझ रहा है| वेतन तो उन्ही के हस्ताक्षर के बाद निकला| खबर है की मैडम सुमन लता का कोई रिश्तेदार बेसिक शिक्षा कार्यालय फर्रुखाबाद में चपरासी है जिसकी दम पर मैडम ये गोलमाल कर रही थी|

जारी……..