Featured Posts

रिश्तेदारो की पंचायत: सास, स्वसुर, जीजा, साले, साढ़ू, सढ़ुआइन, सहित सभी आएंगे वोट डालनेरिश्तेदारो की पंचायत: सास, स्वसुर, जीजा, साले, साढ़ू, सढ़ुआइन,... फर्रुखाबाद : आमतौर पर हिन्दू समाज में जीजा साले, मामा, साढ़ू सढ़ुआइन जैसे रिश्तेदार एक ही गाँव में नहीं होते| ननिहाल, मायका और ससुराल में दूरिया होती है| जाहिर है ये सब रिश्तेदार एक ही गाव के वोटर नहीं हो सकते| मगर हैरत में मत पढ़िए| अमृतपुर तहसील के गाव बलीपट्टी रानीगाँव और राजेपुर...

Read more

पॉलिटेक्निक का रिश्वतखोर बाबू बच्चो से वसूलता है रिश्वत- देखे वीडियोपॉलिटेक्निक का रिश्वतखोर बाबू बच्चो से वसूलता है रिश्वत-... फर्रुखाबाद: यूपी में शिक्षा की खटिया खड़ी करने में नेता और नौकरशाह दोनों में मुकाबला होता है| बड़ी ही बेशर्मी से दोनों अपने को ईमानदार और शिक्षा विद बताते है और दोनों की प्रजातिया जमकर शिक्षा की ऐसी तैसी करते है| जनपद में इनदिनों स्कॉलरशिप के फार्म भरे जा रहे है| सरकारी से...

Read more

समाजवादी पत्रकार दाह-संस्कार एवं राहत योजना लागू, पढ़े नियम व् शर्तेसमाजवादी पत्रकार दाह-संस्कार एवं राहत योजना लागू, पढ़े नियम... पत्रकारों पर लगातार हो रहे जानलेवा हमलों से हत-आहत लोगों के लिए एक नायाब राहत योजना शुरू की गई है। सूचना विभाग द्वारा लागू की गई इस योजना का नाम "उप्र समाजवादी पत्रकार दाह संस्कार एवं राहत योजना" दिया गया है। इस योजना को उप्र मान्यता पत्रकार समिति के शीर्ष पदाधिकारियों...

Read more

100 दिनों में खुले 1 लाख डिजीटल लॉकर, फर्रुखाबाद में भी सुविधा उपलब्ध100 दिनों में खुले 1 लाख डिजीटल लॉकर, फर्रुखाबाद में भी सुविधा... डेस्क: देश में 100 दिनों के अंदर करीब एक लाख लोगों ने बैंकों में डिजिटल लॉकर खुलवाए हैं। यह जानकारी संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में दी। डिजिटल इंडिया विजन के कई पहलों में से एक डिजिटल लॉकर का उद्देश्य कागजी दस्तावेज का इस्तेमाल बंद करना है।...

Read more

अध्यापक राज्य पुरस्कार के लिए कैसे कैसे मास्टर हुए दीवाने फर्रुखाबाद: बच्चो को स्कूल में पढ़ाने से ज्यादा परिषदीय अध्यापको को खुद को चमकाने और वेतन पाने की इच्छा रहती है| बच्चे पढ़े न पढ़े, इनाम मिल जाए, नाम हो जाए तो कुछ काम बन जाए| फर्रुखाबाद से जिन चार अध्यापको में राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए अपना अपना आवेदन किया है उनमे से किसी...

Read more

सोशल मीडिया पर उद्योग व्यापार संगठन के जिलाध्यक्ष ने दी अश्लील गलियां- जिस माँ. ..चो.. ने निष्कासन .सोशल मीडिया पर उद्योग व्यापार संगठन के जिलाध्यक्ष ने दी अश्लील... फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश में समाजवादी नेताओ द्वारा गालियां देने का दौर चल रहा है| प्रदेश के शिक्षा मंत्री एक मिनट में 76 माँ बहन की गन्दी गन्दी गालियां देकर रिकॉर्ड बना रहे है तो फर्रुखाबाद के नेता भी कमतर नहीं है| कुछ महीनो पहले समाजवादी पार्टी के सानिध्य और संरक्षण में...

Read more

जब जागे तभी सवेरा- छुट्टियों में मिड डे मील बनाने की बाध्यता खत्मजब जागे तभी सवेरा- छुट्टियों में मिड डे मील बनाने की बाध्यता... फर्रुखाबाद: वातानुकूलित कमरो में बैठ चिलचिलाती गर्मी के लिए सपने बुनना काफी कठिन काम है| आमतौर पर इस प्रकार की योजनाये अपने अंजाम तक नहीं पहुचती है| सरकार को खुश रखने और लेखा जोखा की चूल से चूल मिलाने में कवायद तो करनी ही पड़ती है| जेएनआई ने सोमवार 25 जून 2015 को ही लेख प्रकाशित...

Read more

छुट्टियों में मिड डे मील का सच, सरकार से मास्टर साहब तक की अपनी अपनी मजबूरियांछुट्टियों में मिड डे मील का सच, सरकार से मास्टर साहब तक की अपनी... हर वर्ष उत्तर प्रदेश में गर्मियों की छुट्टियों में सरकारी स्कूलों में बाटने वाले मुफ्त के मिड डे मील के जारी रखने का फरमान होता है| ज्यादातर सूखा पद जाने के कारण| हालाँकि इस बार सूखा नहीं पड़ा बल्कि मौसम की खराबी से रबी की फसल (खासकर गेंहू और दलहन) जरूर ख़राब हो गयी| मक्का का...

Read more

अब सिर्फ 48 घंटों में मिल जाएगा पैन कार्ड  नंबर!अब सिर्फ 48 घंटों में मिल जाएगा पैन कार्ड नंबर! डेस्क: जनधन योजना की सफलता के बाद सरकार लोगों तक पैन कार्डों को फटाफट उपलब्ध कराने के लिए जल्द ही मेगा प्रोग्राम लांच करने की तैयारी में है। योजना ने अमलीजामा पहना तो महज 48 घंटों के अंदर आवेदक को स्थायी खाता संख्या यानी पैन कार्ड मिल जाया करेगा। सरकार ने बजट में एलान किया...

Read more

भर्ती होंगी 14 हजार आशा 24 सौ एएनएमभर्ती होंगी 14 हजार आशा 24 सौ एएनएम लखनऊ : ग्रामीण क्षेत्रों की स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी में जुटी राज्य सरकार ने 30 मई तक 14 हजार आशा बहू और संविदा पर 24 सौ एएनएम भर्ती करने का निर्देश दिया है। दूसरी ओर केंद्र सरकार ने डायरिया, निमोनिया से बचाव में इस्तेमाल होने वाली दवाओं में कुछ दवा लिखने का अधिकार आशा बहू...

Read more

एसडीएम ने तबादले के बाद रातों रात कर दिये पट्टे स्वीकृत

Comments Off on एसडीएम ने तबादले के बाद रातों रात कर दिये पट्टे स्वीकृत

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

कमालगंज (फर्रुखाबाद) : उपजिलाधिकारी सदर एके लाल जाते जाते एक नया कारनाम कर गये। लगभग दस वर्ष से जांच में फंसे ग्राम पंचायत की भूमि के पट्टे रातोंरात स्वीकृत हो गए। ग्राम प्रधान ने अपात्रों को दिये गये पट्टे निरस्त कराने के लिये जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दिया है।

ग्राम पंचायत भड़ौसा के प्रधान सगीर अहमद ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दिया कि वर्ष 2000 से 2005 तक वसीम उर्फ शफीक गांव के प्रधान रहे थे। उन्होंने बगैर एजेंडा मुनादी आदि कराये 87 अपात्रों को पट्टे कर तत्कालीन तहसीलदार से कुछ आवंटन स्वीकृत करा लिए। आवंटन पत्रावली में अधिकतर पट्टे अपने पारिवारिक व रिश्तेदारों को किये गए थे। जांच में कुछ आवंटन स्वीकृत नहीं किए तथा कुछ निरस्त कर दिये गए। पूर्व प्रधान ने पारिवारिक लोगों व रिश्तेदारों को पट्टे दिलाने के लिए आयुक्त कानपुर के यहां निगरानी प्रस्तुत की। सफलता न मिलने पर राजस्व परिषद इलाहाबाद में निगरानी प्रस्तुत की गई। राजस्व परिषद ने 13 सितंबर 2011 को पुन: तथ्यों की जांच कर पात्रता को दृष्टिगत रखते हुए मामले का समाधान करने के निर्देश उपजिलाधिकारी को दिये। पूर्व प्रधान राजस्व परिषद के आदेश को दबाये रहे तथा 4 अप्रैल 2012 को उपजिलाधिकारी के यहां आदेश प्रस्तुत किया। उपजिलाधिकारी ने पत्रावली तलब की, लेकिन पत्रावली तहसील से नहीं आ सकी। 13 अप्रैल को उपजिलाधिकारी का स्थानांतरण हो गया। इसी दिन उपजिलाधिकारी ने पत्रावली मंगवाकर रातोंरात दस अपात्रों के पट्टे स्वीकृत कर दिए। प्रधान ने पूर्व प्रधान पर एसडीएम से सांठगांठ कर अपात्रों को स्वीकृत किए गये पट्टे निरस्त कराने की मांग की।

प्रधान ने आरोप लगाया कि जिन दस लोगों के पट्टे स्वीकृत किये गए हैं वह पूर्व प्रधान के परिजन व रिश्तेदार हैं। इन लोगों के आलीशान मकान, अहमदाबाद में गाड़ियां चल रही हैं। पुत्र पीएसी में नौकरी करता है। इसके बावजूद ग्राम पंचायत की जमीन के पट्टे कर दिये गये थे।

सत्ता जाते देख शिक्षाधिकारियों ने बीआरसी के खाते किये खाली

Comments Off on सत्ता जाते देख शिक्षाधिकारियों ने बीआरसी के खाते किये खाली

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI REPORTER | In : EDUCATION NEWS, FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत जनपद के सातों ब्लाक संसाधन केन्द्रों पर पदेन बीआरसी समन्वयक का कार्य देख रहे खण्ड शिक्षा अधिकारियों को राज्य परियोजना निदेशक के पत्र पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फर्रुखाबाद डा0 कौशल किशोर द्वारा हटाये जाने पर बीआरसी के खातों में विभाग द्वारा भेजी गयी प्रशिक्षण, यात्रा भत्ता एवं आकस्मिक मदों की धनराशि पर रोक लगने के बाद भी निकाल ली गयी है।

उच्च न्यायालय की लखनऊ खण्ड पीठ द्वारा एक याचिका की सुनवाई पर बीआरसी समन्वयक पद पर शिक्षकों के स्थान पर पदेन बीआरसी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को हटाने के दिये गये निर्देश पर राज्य परियोजना निदेशक पार्थसारथी सेन शर्मा के द्वारा भेजे गये पत्र पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फर्रुखाबाद डा0 कौशल किशोर द्वारा विगत 16 अप्रैल को जनपद के सातों बीआरसी केन्द्रों के पदेन समन्वयक पद से खण्ड शिक्षा अधिकारियों को हटा दिया गया था। बीएसए द्वारा बीआरसी के खातों पर खण्ड शिक्षा अधिकारियों को भुगतान न करने के आदेश बैंकों को दिये थे।

बीआरसी केन्द्रों से खण्ड शिक्षा अधिकारियों की सत्ता जाने एवं खाते पर रोक लगने की सूचना पर बैंक में पत्र पहुंचने से पहले शमशाबाद के खण्ड शिक्षा अधिकारी  ने बीआरसी शमशाबाद के खातों से भुगतान ले लिया है। इसी तरह अन्य खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा भी बीआरसी खातों से धनराशि का भुगतान लेने की संभावना है।

घोटाले में डिप्टी सीएमओ सहित तीन बर्खास्त

Comments Off on घोटाले में डिप्टी सीएमओ सहित तीन बर्खास्त

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI REPORTER | In : FARRUKHABAD NEWS, HEALTH, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: एनआरएचएम घोटाले में जनपद में तैनात एक अपर मुख्य चिकित्साधिकारी सहित तीन के विरुद्व शासन ने बर्खास्तगी की कार्यवाही कर दी है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 कमलेश कुमार ने बताया कि एनआरएचएम घोटाले के आरोपी अधिकारियों के तत्कालीन मुख्य चिकित्साधिकारी मोहम्मद हसीन खां, दूसरे आरोपी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 के के सक्सेना जो वर्तमान में निलंबित चल रहे हैं, की बर्खास्तगी का आदेश किया गया है। इनके अतिरिक्त एक वरिष्ठ लिपिक जगदीश कटियार व एक चतुर्थश्रेणी कर्मचारी अजय कटियार की भी बर्खास्तगी का आदेश कर दिया गया है।

सीएमओ ने बताया कि पूर्व में शासन की ओर से मोहम्मद हसीन खां व के के सक्सेना से 11-11 लाख व जगदीश कटियार व अजय कटियार से 7-7 लाख रुपये की वसूली उनके वेतन से किये जाने के आदेश दिये थे। उन्होंने बताया कि अब इस सम्बंध में जिला शासकीय अधिवक्ता व विभागीय वित्त नियंत्रक से मार्ग निर्देश प्राप्त मिलने के बाद ही कोई कार्यवाही की जायेगी कि वसूली व बर्खास्तगी दोनो आदेशों का अनुपालन एक साथ कैसे किया जाये। उन्होंने बताया कि डा0 सक्सेना की बर्खास्तगी से पूर्व लोक सेवा आयोग से भी अनुमति ली जानी है। इसलिए उनके मामले में प्रकरण को लोकसेवा आयोग को भी संदर्भित किया जा रहा है।

शाम होते ही सरकारी खरीद केन्द्र पर आढ़तियों का गेहूं हो जाता है पैक

Comments Off on शाम होते ही सरकारी खरीद केन्द्र पर आढ़तियों का गेहूं हो जाता है पैक

Posted on : 21-04-2012 | By : JNI REPORTER | In : FARRUKHABAD NEWS

कमालगंज (फर्रुखाबाद): कमालगंज मण्डी समिति में कल्याण निगम द्वारा गेहूं खरीद केन्द्र खोला गया है। केन्द्र पर आढ़तियों व दलालों का कब्जा है। केन्द्र पर दिन में सन्नाटा पड़ा रहता है। दिन में केन्द्र पर न तो गेहू की तौल होती है और न कोई और काम करता है। वहीं अन्य आढ़ती पूरे मण्डी समिति में दिन भर अपना-अपना गेहूं इकट्ठा करते हैं और शाम ढलते ही गेहूं कल्याण निगम के वारदाना (पैकिटों) में पैक करा दिया जाता है।

केन्द्र प्रभारी विश्वनाथ सिंह से पूछने पर बताया कि उन्हें 10 हजार कुन्टल गेहूं खरीदने का टारगेट दिया गया है। जिसमें अभी तक 496 कुन्तल गेहूं खरीद कर चुके हैं। जब यह पूछा कि अभी तक किस किसान का कितना गेहूं खरीदा है इस बात पर उन्होंने मना कर दिया।

वहीं केन्द्र प्रभारी के पास कुछ जोतवही रवी कुमार दुबे पुत्र सतीशचन्द्र निवासी शेखपुर सात बीघा की जोतवही, रनबीर सिंह पुत्र बद्री सिंह की 30 बीघा की रखी थी। जबकि किसान वहां मौजूद नहीं थे। जोतवही पास रखने के सम्बंध में पूछने पर केन्द्र प्रभारी बोला कि आप सब जानते हैं तो अब क्या बतायें।

केन्द्र पर पूर्ण रूप से आढ़तियों व दलालों का बोलबाला है। बाजार में 11 रुपये 25 पैसे प्रति किलोग्राम की दर से गेहूं खरीदा जा रहा है। जबकि सरकारी खरीद केन्द्र पर 12 रुपये 85 पैसे प्रति किलोग्राम है। आढ़ती और दलाल गांवों में जाकर किसानों से जोतवही ले आते हैं और उनके जरिये सरकारी केन्द्र पर गेहूं तुलवा देते हैं।
किसान जब सीधे गेहूं लेकर इस केन्द्र पर पहुंचता है तो प्रभारी महोदय ने कांटे के पास छटना लगा रखा है। किसानों के लिए तमाम नियम कानून बना दिये जिसके चक्कर में किसान केन्द्र पर सीधे गेहूं नहीं लाता।

बेसिक शिक्षा: सवेतन 4 माह से गायब मैडम ने 127 दिन की हाजिरी एक साथ लगायी

Comments Off on बेसिक शिक्षा: सवेतन 4 माह से गायब मैडम ने 127 दिन की हाजिरी एक साथ लगायी

Posted on : 21-04-2012 | By : पंकज दीक्षित | In : EDUCATION NEWS

फर्रुखाबाद: बेसिक शिक्षा में गायब शिक्षको का अम्बार लगा है| मोहम्दाबाद के ग्राम सभा गढ़ी बनकटी के प्राथमिक पाठशाला गढ़ी में गत 20 अप्रैल 2012 को शिक्षिका सुमन लता ने दबंगई और कामचोरी का रिकॉर्ड तोड़ काम कर डाला| मैडम 4 माह बाद स्कूल पहुची और हाजिरी राजिस्टर पर अनुपस्थित काट 127 दिन की उपस्थित होने की हाजिरी एक साथ लगा डाली| मैडम 1 दिसम्बर को प्रोमोशन से हुए तबादले में गढ़ी स्कूल में ज्वाइन करने आई थी उसके बाद कल 20 अप्रैल 2012 को उनकी शक्ल स्कूल में दिखाई पड़ी| इस ४ माह के दौरान मैडम का बाकायदा वेतन भी आहरित हुआ| खबर मीडिया कर्मिओ के हत्थे चड़ी तो खंड शिक्षा अधिकारी को भी जबाब नहीं सूझ रहा है| वेतन तो उन्ही के हस्ताक्षर के बाद निकला| खबर है की मैडम सुमन लता का कोई रिश्तेदार बेसिक शिक्षा कार्यालय फर्रुखाबाद में चपरासी है जिसकी दम पर मैडम ये गोलमाल कर रही थी|

जारी……..

[bannergarden id="12"]