Featured Posts

चिट्ठी आई है- मुख्यमंत्री की चिट्ठी साहब ने आगे बढ़ा दी, छोटे साहब ने और आगे बढ़ा दीचिट्ठी आई है- मुख्यमंत्री की चिट्ठी साहब ने आगे बढ़ा दी, छोटे... 1 जुलाई से हर साल शिक्षा का नया सत्र शुरू होता है| इस बार भी हुआ कोई नयी बात नहीं है| पिछले साल की चिट्ठियों को निकाल लखनऊ के साहब नए साल की तारीख डाल मंडलों और मुख्यालयों पर विभिन्न प्रकार की चिट्ठियां चलाना शुरू कर देते है| चिट्ठियों के कई प्रकार होते है| मगर इनका मजमून हर...

Read more

बीत गए 2 सप्ताह- ..न किताब, और न कापी, शुरू हो गई सत्र की पढ़ाईबीत गए 2 सप्ताह- ..न किताब, और न कापी, शुरू हो गई सत्र की पढ़ाई फर्रुखाबाद: डीएम साहब बड़े सख्त है| मास्टर स्कूल में टाइम से आने और जाने लगे है| हवा हवाई दावे और वादो का हाल ये है कि 2 सप्ताह बीत जाने के बाद भी सरकार के कंधो पर चल रहे सरकारी स्कूल के बच्चो का बस्ता अभी तक खाली है| मास्टर नेतागीरी में मशगूल है, शिक्षा मित्र प्राथमिक शिक्षक बनने...

Read more

डीएम की बैठक- 72 आरा मशीन सील, एक लेखपाल सस्पेंड और 337 नलकूप किसानो के खेत भर रहे है डीएम की बैठक- 72 आरा मशीन सील, एक लेखपाल सस्पेंड और 337 नलकूप किसानो... फर्रुखाबाद: लघु सिचाई में पिछले साल हुआ 14 करोड़ का घोटाला दफ़न है| 112 बोरिंग जो हुई दर्शायी गयी थी वे भौतिक सत्यापन में पुरानी पायी गयी थी| मगर फिर भी नलकूप विभाग के आंकड़े दुरुस्त है| जिलाधिकारी की बैठक में जानकारी दी गयी कि जिले में कुल 337 नलकूप कार्यरत है| 12 नलकूप मैकेनिकल रूप...

Read more

प्रधानमंत्री कार्यालय की तर्ज पर चल रहा जिलाधिकारी कार्यालय... फर्रुखाबाद: अधीनस्थों पर विश्वास न करके जिलाधिकारी को मजबूरन हर विभाग के कामो में सीधी दखल देनी पद रही है| अपने अपने विभागों के दायित्वों को निभाने में नाकाम होने से सरकार की खराब हो रही छवि को सुधरने की जिम्मेदारी अब मुख्यमंत्री से सीधे सीधे जिलाधिकारियो को दी है| इसमें...

Read more

विशेष- जिलाधिकारी एनकेएस राठौर का जुलाई माह में भ्रमण कार्यक्रम विशेष- जिलाधिकारी एनकेएस राठौर का जुलाई माह में भ्रमण कार्यक्रम... फर्रुखाबाद: वैसे तो जिलाधिकारी एनकेएस राठौर के जिले में होने का एहसास जनता को होने लगा है| बाजार समय से बंद होना और बंदी वाले दिन न खुलना जैसे कुछ नए काम बहुत सालो बाद दिखाई पड़ रहे है| हर दफ्तर और सरकारी अमले पर क्रॉस चेकिंग का फंडा भी कामयाब दिख रहा है| जरुरत गलती पकडे जाने...

Read more

JOBS: पार्ट टाइम/फुल टाइम डाटा एंट्री के लिए ऑपरेटर चाहिए JOBS: पार्ट टाइम/फुल टाइम डाटा एंट्री के लिए ऑपरेटर चाहिए फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश सरकार की कई योजनाओ में काम करने के लिए बड़े पैमाने पर डेटा एंट्री ऑपरेटर को काम मिलने वाला है| फर्रुखाबाद में भी तीन दर्जन डेटा एंट्री की आवश्यकता है| अंग्रेजी हिंदी में डेटा एंट्री करने के लिए आवास विकास कॉलोनी में डेटा एंट्री ऑपरेटर सप्लाई कराने...

Read more

सपा विधायक व व्लाक प्रमुख के लोहिया ग्राम में बजबजा रही सड़के सपा विधायक व व्लाक प्रमुख के लोहिया ग्राम में बजबजा रही सड़के... फर्रुखाबाद:(कमालगंज)यह उन गांव वालो के लिए बहुत ही हर्ष की बात होगी की जिस गांव में वह रह रहे है वह गांव जनपद को कई विधायक के अ लावा जिलापंचायत अध्यक्ष जिले के विकास के लिए भेज चुका है| लेकिन गांव का विकास अभी भी नही हो सका| चाहे बसपा की सरकार रही हो या फिर सपा की| बजबजाती नाली,...

Read more

यूपी पीसीएस-2011 में कैसे छाए यादवयूपी पीसीएस-2011 में कैसे छाए यादव डेस्क: उत्तर प्रदेश पीसीएस-2011 की मुख्य परीक्षा के नतीजे पिछले साल जुलाई में जब आए तो वे अपने साथ एक तूफान भी लेकर आए थे. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की भर्तियों में लगातार धांधली का आरोप लगाते आ रहे छात्रों के सब्र का बांध अचानक टूट गया और इलाहाबाद की सड़कों पर जमकर बवाल हुआ....

Read more

तो फिर क्या सपा में केवल बाप बेटा ही रह जायेंगे? तो फिर क्या सपा में केवल बाप बेटा ही रह जायेंगे? फर्रुखाबाद: लोकसभा फर्रुखाबाद की सीट पर समाजवादी पार्टी को जनपद की चारो विधानसभाओ में से एक भी विधानसभा में इतने भी वोट नहीं मिले जितने कि उनके गृह जनपद और विधायकी वाले अलीगंज से भाजपा का प्रत्याशी बटोर लाया| इस पर भी प्रत्याशी के पुत्र सुबोध का ये तुर्रा कि गद्दार पार्टी...

Read more

देखे बूथवार मिले मत- वोटो को देख कर लगता है कि कायमगंज तक पंहुचा थोडा बहुत समाजवाद देखे बूथवार मिले मत- वोटो को देख कर लगता है कि कायमगंज तक पंहुचा... फर्रुखाबाद: वैसे तो चुनावी समीकरण मोदी की लहर में हवा हो गए है| फिर भी कायमगंज में मिले और मतों के बटवारे से एक तस्वीर तो साफ़ है कि अलीगंज से चला समाजवाद कायमगंज के कुछ बूथों तक जरुर पहुच गया| भ्रष्टाचार में लिप्त कुछ कोटेदारो और प्रधानो के दिलो में अपना बस्ता जमा हो जाने...

Read more

सर्वोच्च न्यायाल के आदेश के बाद अब रैन बसेरों के लिये जगह की तलाश

Comments Off

Posted on : 31-03-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: गरीब व असहाय बेघर व्यक्तियों को रैनबसेरा में जगह मिलेगी। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जिलाधिकारी ने अधिकारियों को रैनबसेरा के लिए प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये हैं।

सुप्रीम कोर्ट से जनहित याचिका में फैसला होने के बाद शासन से आये आदेशों के उपरांत जिलाधिकारी सच्चिदानंद दुबे ने अधिशासी अधिकारियों, परियोजना अधिकारी डूडा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अधिशासी अभियंता विद्युत, जलनिगम व लोक निर्माण विभाग को संयुक्त रूप से स्थाई व अस्थाई रैनबसेरा के लिए 10 अप्रैल तक आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं। संचालित रैनबसेरों में रखे गये लोगों को विभागों द्वारा उपलब्ध करायी गयी सुविधाओं से अवगत कराने को कहा है। उच्चतम न्यायालय ने जनहित याचिका में निकायों में आवासविहीन व्यक्तियों को संविधान के अनुच्छेद 21 के अंतर्गत मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जिन गरीबों के पास रहने व रात्रि विश्राम के लिए आवास उपलब्ध नहीं है उनकी सूची तैयार करने, अस्थाई रूप से रात्रि विश्राम के लिए रैनबसेरा चिह्नित करने तथा सर्दी से सुरक्षित रखने के साथ ही पेयजल, शौचालय, विद्युत व चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।

जिला पंचायत बैठक में नहीं दिखा इस बार बसपाइयों का जलजला

Comments Off

Posted on : 31-03-2012 | By : JNI DESK | In : ZILA PANCHAYAT

अगले वित्तीय वर्ष के लिए 13 करोड़ 18 लाख का बजट पारित
फर्रुखाबादः जिला पंचायत की बैठकों में सत्ता की हनक व बसपाई जिलापंचायत अध्यक्ष होने की धौंस में बसपाइयों का जलजला अधिकारियों के लिए सरदर्द बना रहता था पर इस बार ऐसा कुछ नहीं हुआ। बिन बुलाये बसपाइयों का पहुंचना तो दूर बसपा के एमएलसी तक बैठक में नहीं पहुंचे। औपचारिक बैठक के दौरान आगामी वित्तीय वर्ष के लिए 13 करोड़ 18 लाख 28 हजार 301 रुपये का बजट पारित कर दिया गया है।

शनिवार को विकासभवन सभागार में आयोजित जिला पंचायत की बजट बैठक के दौरान आगामी वित्तीय वर्ष 2012-13 के लिए कुल 13 करोड़, 18 लाख, 28 हजार 301 रुपये का बजट पेश किया गया। 65 लाख रुपये के घाटे का ये बजट विगत वर्ष के 24 करोड़ 86 लाख 72 हजार 735 रुपये के बजट से काफी कम है। इसमें सर्वाधिक कमी प्रकीर्ण, जुर्माना, पंजीकरण, निविदा आदि की मद में लगभग 60 लाख रुपये की कमी का अनुमानित आंकलन प्रस्तुत किया गया है। जबकि सरकारी अनुदान सम्पत्ति कर, लाइसेंस शुल्क, मत्स्य आखेट व नौका घाटों की नीलामी से प्राप्त आय में वृद्वि का आंकलन किया गया है।

वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन सात करोड़ का भुगतान, देर रात तक आये बजट के फैक्स

Comments Off

Posted on : 31-03-2012 | By : JNI DESK | In : जिला प्रशासन

फर्रुखाबादः नई सरकार के गठन के बाद सचिवालय स्तर पर हुए अधिकारियों के बड़े स्तर पर तबादलों के कारण वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन बजट जारी होने की प्रक्रिया इस बार कुछ फीकी रही। इसके बावजूद नाना करते भी लगभग सात करोड़ से अधिक के बिलों के भुगतान जिला कोषागार से किये गये। इसमें शिक्षा विभाग के सर्वाधिक एक करोड़ 20 लाख से अधिक के बिल सम्मलित हैं।

विदित है कि बसपा सरकार के जाने के बाद नव गठित सपा सरकार द्वारा अधिकारियों के बड़े पैमाने पर किये गये तबादलों के कारण जिले से मुख्यालयों का तालमेल अभी लय नहीं पकड़ पाया है। यही कारण है कि इस बार विगत वर्षों की तुलना में वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन बजट जारी होने की प्रक्रिया कुछ फीकी रही। इसके बावजूद अधिकांश विभागों के कर्मचारी देर रात तक कोषागार के चक्कर काटते नजर आये। देर रात तक बजट आवंटन के फैक्स और ईमेल आते रहे।

वरिष्ठ कोषाधिकारी एस एन शुक्ला ने बताया कि सायं लगभग सात बजे तक 311 बिलों के सापेक्ष चार करोड़ 15 लाख 16 हजार 955 रुपये के चेक जारी किये जा चुके हैं। कोषागार में उपलब्ध विवरण के अनुसार इस धनराशि में सर्वाधिक बड़ा हिस्सा शिक्षा विभाग का है। जिनके बिलों के सापेक्ष एक करोड़ 21 लाख 58 हजार 837 रुपये के चेक जारी किये गये हैं। इसके अतिरिक्त जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय के 95 लाख 84 हजार 274, स्वास्थ्य विभाग के 52 लाख 48 हजार 160, कृषि विभाग के 40 लाख 82 हजार 391, परिवार कल्याण विभाग के 23 लाख 70 हजार 701, पुलिस विभाग के 6 लाख 57 हजार 603, जेल प्रशासन के दो लाख 93 हजार 685 व राजस्व विभाग के दो लाख 72 हजार 657 रुपये के बिलों के भुगतान सम्मलित हैं।

श्री शुक्ला ने बताया कि अभी लगभग तीन सैकड़ा बिल और भी कम्प्यूटर फीडिंग की लाइन में हैं। एक मोटे अनुमान के अनुसार वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन का कुल आहरण लगभग सात करोड़ के आस पास रहने की संभावना है।

अधिकारियों के बहकावे में न आयें व्यापारी: ददुआ

Comments Off

Posted on : 31-03-2012 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबादः केन्द्र सरकार द्वारा सर्राफा व्यापारियों पर लगाये गये एक प्रतिशत उत्पाद शुल्क के विरोध में सर्राफा व्यापारियों सहित नगर के उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल के नेताओं ने बैठक कर अधिकारियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। इस दौरान व्यापारियों को संबोधित करते हुए व्यापार मण्डल के प्रदेश मंत्री अरुण प्रकाश तिवारी ददुआ ने कहा कि व्यापारी प्रशासन के किसी बहकावे में न आयें।

ददुआ ने कहा कि व्यापारी अब आर पार की लड़ाई के लिए तैयार हैं। कल व्यापारियों का एक प्रतिनिधि मण्डल उनके साथ असिस्टेंट कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेगा। उन्होंने व्यापारियों से अपील की कि अपने इरादों को पक्का रखते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ मजबूती से खड़े रहें। सरकार को हमारी मांगें माननी ही पड़ेंगीं।

उन्होंने व्यापारियों से कहा कि कल बंदी के बावजूद भी हम लोग रामनवमी का त्यौहार पूरी धूमधाम के साथ मनाकर शोभायात्रा भी निकालेंगे। इसके बाद उन्होंने अनशन पर बैठे व्यापारियों का अनशन तुड़वाया। ददुआ ने इस दौरान रामनवमी के उपलक्ष में राम के जीवन पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि राम हर व्यक्ति के मन मस्तिष्क में विराजमान हैं।

जिले में ही नहीं पूरे देश में व्यापारी पुतला फूंक कर अनशन व आंदोलन कर रहे हैं। इसके बावजूद भी केन्द्र की कुर्सी कहीं से भी झुकती दिखायी नहीं दे रही है। बीते दिन सलमान खुर्शीद द्वारा प्रणव मुखर्जी से मुलाकात के दौरान वयान आये थे कि व्यापारियों की समस्या की तरफ ध्यान दिया जायेगा लेकिन कई दिन गुजर जाने के बाद भी व्यवस्था स्थिर है। जिससे मजदूर वर्ग के कारीगरों के घर आमदनी बंद हो गयी। क्योंकि कारीगर प्रति दिन कमाकर अपने परिवार का पेट पालता है। बंदी से सबसे ज्यादा असर स्वर्णकार के मजदूर वर्ग के लोगों पर पड़ रहा है।

इस दौरान कोषाध्यक्ष दीपक अग्रवाल, महामंत्री गोपाल वर्मा, मनोज रस्तोगी, अतुल रस्तोगी, दीपक सारस्वत, निमिष टन्डन,  लला वर्मा, जीतू वर्मा आदि अनेक व्यापारी मौजूद रहे।

मंत्री के स्कूल में दबोचा गया नकलची

Comments Off

Posted on : 31-03-2012 | By : JNI DESK | In : EDUCATION NEWS, FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबादः उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाओं में धड़ल्ले से नकल करवाई जा रही है। आज अमृतपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक एवं मंत्री सहित सदर क्षेत्र के विधायक समर्थक के स्कूल व पूर्व सांसद के स्कूलों सहित जनपद के कई स्कूलों से नकलची रंगे हाथों पकड़े गये। जनपद में नकल कराने का ठेका बखूबी फल फूल रहा है। शायद इसकी हकीकत सुनने को कोई तैयार नहीं है। यही कारण है कि जिन्हें नकल रोकनी चाहिए उन्हीं के स्कूलों में नकल हो रही है।

मंत्री नरेन्द्र सिंह यादव के संकिसा स्थित पुरुषोत्तम पुण्य देव इंटर कालेज में आज सचल दल के छापे में सुबह की पाली में हाईस्कूल की संस्कृत की परीक्षा में एक नकलची पकड़ा गया। रजलामई स्थित डीएवी इंटर कालेज से चार नकलची छात्रों को पकड़ा गया।
वहीं सदर विधायक के समर्थक के स्कूल चन्द्रकुमारी ज्वालाशंकर इंटर कालेज से एक नकलची नकल करते धरा गया। वहीं जीआईसी फर्रुखाबाद में एक नकलची व भदन्त इंटर कालेज संकिसा, शांति निकेतन इंटर कालेज मोहम्मदाबाद में 2 नकलची रंगे हाथों धरे गये।

अब देखने वाली बात यह है कि समाजवादी पार्टी की सरकार में एक तरफ मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार को खत्म करने व शिक्षा के स्तर को सुधारने की बात कर रहे हैं। वहीं समाजवादी पार्टी की ही सरकार के मंत्री व विधायकों के स्कूल में जमकर नकल करवाई जा रही है। विधायक व मंत्री जी ने शायद यह नहीं सोचा कि नकल से छात्रों का भविष्य खराब होगा या बनेगा। शायद इन्हें भविष्य से लेना देना ही नहीं है यह तो शिक्षण संस्थाओं को मात्र कमाई का जरिया मान रहे है। यही कारण है कि यह नकल का ठेका लेकर छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।

वैसे तो नकल करवाकर हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा पास करवाने धन्धा जनपद में पुराना चल रहा है। फर्रुखाबाद में अन्य जनपदों के ही छात्र नहीं वल्कि अन्य प्रदेशों से भी हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा पास करने के लिए छात्र आते हैं और ये नकल के ठेकेदार मोटी रकम वसूलकर उन्हें प्रमाण पत्र दिलाने में सफल हो जाते हैं।जो भी हो पूरा जनपद ही नकल का अड्डा बन गया है।