दहेज़ में मिली मोटरसाइकिल गुटखा खाने में चली गयी और क्या क्या दर्द दे गयी…

2

JNI NEWS : 05-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: इस खबर का ताल्लुक मोहम्दाबाद थाने में दर्ज प्रथम सूचना प्राथमिकी संख्या 0228/2019 भारतीय दंड संहिता 1860 के अंतर्गत धारा 379 से है| घटना पिंटू की मोटरसाइकिल चोरी की है जो दूकान से गुटखा लेते समय 15 कदमो की दूरी पर हो गयी| पिंटू को इकलौती मोटरसाइकिल की चोरी की रपट लिखाने में पूरे दस दिन लगे और खर्चा आया 400 रुपये| ये सब पिंटू ने ही बताया| अलबत्ता दर्द इतना भर नहीं है|

मोहम्दाबाद के कबीर नगर निवासी अनिल यादव उर्फ़ पिंटू को टीवीएस आपाचे बहुत पसंद थी| शादी के समय पिंटू को अपनी मनपसंद मोटरसाइकिल भी दहेज़ में मिल गयी| वर्ष 2014 से पिंटू ने मोटरसाइकिल को बहुत सम्भाल कर रखा था| उनके मुताबिक उन्होंने मात्र 300000 किलोमीटर ही चला पायी थी और बहुत हिफाजत से रखते थे| आप समझ सकते है कि ऐसे में इतनी कीमती चीज जिसकी चोरी हो जाए उस पर क्या बीती होगी| मगर उत्तर प्रदेश की मित्र पुलिस को किसी के दर्द से क्या| पिंटू ने बताया सफ़ेद रंग की उनकी अपाचे अभी भी बिलकुल नई जैसी ही थी, इंजन चकाचक था| पत्रकार को बताते समय पिंटू का गला भर आया मगर पुलिस वालो को इससे क्या? 25 मई को चोरी हुई मोटरसाइकिल की रपट जब 5 जून यानि 10 दिन बाद लिखी जाएगी तो सवाल तो उठेंगे ही|

पिंटू के मुताबिक वे चोरी होने के तुरंत बाद थाने गए अपनी अपाचे की रपट लिखाने मगर तब दरोगाजी नहीं मिले| वे रोज जाते कभी दरोगा जी मिल जाते तो कभी इंस्पेक्टर नहीं होते| इसी बीच दरोगा जी से कुछ भरोसा मिला कि रपट लिख जाएगी कि उनका तबादला हो गया|जेएनआई ने पिंटू की दुखती नस पर हाथ क्या रखा पिंटू के दिल की बात बाहर आ गयी बोले, 4 बार तहरीर बदलबायीं और रपट लिखने वाले ने चार बार में 100-100 ले लिए सो अलग| अब जनता को तो नहीं मालूम कि रपट लिखने में दरोगा या इंस्पेक्टर का कोई रोल नहीं होता| कानून ये कहता है कि रपट थाने का मुंशी लिखेगा न कि दरोगा या इंस्पेक्टर| खैर जो भी हो 400 खर्च करने के बाद पिंटू को दहेज़ से मिली अपाचे मोटरसाइकिल चोरी की रपट लिख गयी| मोटरसाइकिल तो मिलने से रही कुछ समय पहले बीमा भी ख़तम हुआ था वो भी न करा पाया था| यादो के नाम पर मोहम्दाबाद थाने में 400 रुपये खर्च करके लिखी रपट ही बची है जिस पर मोटरसाइकिल का नंबर लिखा है – UP-74M-1719 किसी को कहीं दिख जाए तो पिंटू को 9628086848 मोबाइल नंबर पर जरुर बता दे| बेचारे पिंटू उस दिन जो सब्जी/ गुटखा लेने के लिए नहीं जाते तो शायद आज अपाचे उनकी आँखों के सामने होती| अब होनी को कौन टाल सकता है…

पाठक की प्रतिक्रिया (2)

सही हो गया

गाड़ी का नम्बर तो सही लिखो 4M कैसे आ गया

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-